Tuesday, May 24, 2022

गार्डनिंग के इन तरीकों को देख लीजिए, कम जमीन में भी अनेकों सब्जियां आसानी से उग जाएंगी

आजकल लोगों की रूचि गार्डनिंग में बढती हीं जा रही है। लोग अपने घर की छत पर गमले में गार्डन का निर्माण कर घर को सुसज्जित कर रहे हैं। वे गार्डनिंग में सिर्फ फूल ही नहीं बल्कि सब्जियां व फल भी लगा रहे हैं। आए दिन गार्डनिंग के क्षेत्र में लोगों के द्वारा की गई कारीगरी को हम देखते रहते हैं। नई-नई तकनीकें, संरचना व तौर-तरीकों के माध्यम से गार्डनिंग का दायरा बढ़ता हीं जा रहा है।

गार्डनिंग से संबंधित आज हम इस खास पेशकश में आपको बताएंगे कि आप अपने बगीचे के अंदर छोटे-छोटे बगीचे कैसे तैयार कर सकते हैं जिसमें आप एक साथ तथा अलग-अलग सब्जियां फल-फूल उत्पादित कर सकते हैं। इन तस्वीरों को देखकर आपके मन में भी गार्डनिंग का उत्साह बढ़ जाएगा और आपके मन मानस में गार्डनिंग के नए-नए तरीके पनपने लगेंगे।

अलग-अलग तरह का क्यारीनुमा गार्डेन

आप अपने गार्डन में छोटी-छोटी क्यारी बनाकर बगीचे के अंदर बगीचे का निर्माण कर सकते हैं। इस तरह के छोटे-छोटे क्यारीनुमा गार्डन बनाकर उसमें फल और सब्जियां उगाना कहीं अधिक सुलभ और लाभकारी भी है। छोटी-छोटी क्यारी में उगने वाले पौधों की देखभाल भी अच्छी तरह होती है। इन क्यारियों में उगने वाले पौधों का विकास भी अधिक होता है और बेहतर उत्पादन भी संभव हो पाता है।

बॉक्सनुमा गार्डेन

इस तरह के गार्डन बनाने के लिए सबसे पहले लकड़ी का एक आयताकार संरचना दी जाती है, जिसकी ऊंचाई लगभग 1 फीट तक होती है। इसके अंदर खेती लायक उपजाऊ मिट्टी भर दिया जाता है। ऊपर से लकड़ी के छड़ी नुमा डंडे से छोटे-छोटे बॉक्स तैयार किए जाते हैं जिसमें आप विभिन्न तरह की सब्जियां लगा सकते हैं। इसमें आप एक साथ कई तरह की सब्जियां उगा सकते हैं

गमले से बना गार्डेन

बगीचे के एक हिस्से को आप गमलों से आच्छादित कर सकते हैं। ऐसा करने से लगेगा मानो आपके बगीचे के अंदर एक गमला गार्डन भी है। हर गमले में एक डंडे लगाकर आप उसमें लगाए हुए फल और सब्जियों को ऊपर की ओर विकसित कर सकते हैं। ऐसा करने से आपके गार्डन में जगह की बचत भी होगी और जब पौधों पर फल आएंगे तो देखने में भी यह खूबसूरत लगेगा।

बहुफसलीय गार्डेन

इस तरह के छोटे गार्डन के निर्माण में लकड़ी के तख्ते का इस्तेमाल किया जाता है लकड़ी के तख्ते को जोड़कर उसमें खेती लायक मिट्टी भर दिया जाता है। अब उसमें एक साथ कई तरह के सब्जियां, फूल व फल लगाए जा सकते हैं। आप इसमें कई क्यारी बना सकते हैं। क्यारी के इस छोर से लेकर उस छोर तक एक सब्जी, फिर दूसरी क्यारी में दूसरी सब्जी। इस तरह आप छोटे-छोटे बहुफसलीय गार्डेन बना सकते हैं।

लताओं वाला गार्डन

इस तरह के गार्डन बनाने में लोहे की मजबूत बड़ी जाली की भी जरूरत पड़ती है। क्यारी में लता वाली सब्जियां लगाकर आप उसके पौधों को इन जालियों पर चढ़ा सकते हैं या लोहे की जाली बांस के दो घूट ऊपर खड़ी होती है। इस तरह के के गार्डन बनाकर आप ना सिर्फ कम जगह में ज्यादा उत्पाद प्राप्त कर सकते हैं बल्कि आप इन पौधों को भी बेहतर देखभाल कर सकते हैं।

पॉलीथिन से बने गार्डन

इस तरह के गार्डन के निर्माण के लिए आपको बांस के बड़े-बड़े टुकड़े और पॉलिथीन के बैग की आवश्यकता पड़ेगी। पॉलीथिन में मिट्टी भरकर उसमें बीज या पौधे लगाकर उसे बांस में घुसा दिया जाता है फिर बांस के टुकड़े के दोनों छोर को किसी ऊंचे खम्भे पर बांध दिया जाता है। लटकते हुए पॉलीथिन में सब्जियां उगाकर आप कम जगह में बेहतर उत्पादन का एक जरिया बना सकते हैं।

प्लास्टिक बैग या बोरे से बने गार्डन

इस तरह के गार्डन में पौधे प्लास्टिक के बैग या प्लास्टिक के बोरे में मिट्टी भरकर लगाया जाता है। इस तरह के बॉक्स में पौधे लगाने का बड़ा लाभ यह है कि आप इसे उठाकर कहीं भी ले जा सकते हैं।