Tuesday, September 28, 2021

इंसान और जानवर के बीच अनूठे रिश्ते की कहानी , करोड़ों की जायदाद हाथियों के नाम किया !

इंसानों का जानवर से प्रेम सदियों पुराना है ! लोग अपने घरों में कई तरह के जानवर पालते आ रहे हैं ! इंसान और जानवर के बीच प्रगाढ रिश्ते की बानगी हर तरफ देखी जा सकती है ! पर बिहार के एक शख्स अख्तर इमाम ने अपने हाथियों के प्रति जो समर्पण का भाव दिखाया है वह अनूठा है ! आईए जानते हैं कि अख्तर इमाम ने किस तरह अपने हाथियों के साथ अपने रिश्ते को खूबसूरत आयाम दिया है !

अख्तर इमाम

अख्तर इमाम राजधानी पटना के जानीपुर में रहते हैं ! उनके पास मोती और रानी नाम के दो हाथी हैं ! अख्तर पिछले 12 वर्षों से एक महावत का काम करते आ रहे हैं ! वे कहते हैं कि “मेरे पिताजी और दादाजी भी महावत थे ! अख्तर को अपने दोनों हाथियों से बेहद प्यार है ! दोनों हाथी मेरे परिवार के सदस्य हैं ! इनके बिना मैं नहीं रह सकता” !

हाथियों ने बचाई जान

अख्तर “एशियन एलिफैंट रिहैबिलिटेशन एंड वाइल्ड लाइफ एनिमल ट्रस्ट के प्रमुख हैं ! अख्तर अपने हाथियों की प्रशंसा , उसके गुण और उनसे अपने प्रगाढ रिश्ते के बारे में कहते हैं कि “करीब 8-9 साल पहले मेरी हत्या करने की कोशिश की गई थी ! मैं जब सो रहा था , तो हथियारों से लैस अपराधी मेरे घार में घुस आए थे और उनलोगों ने मुझ पर निशाना साध दिया था लेकिन ऐन वक्त पर मोती और रानी जोर-जोर से चिघाड़ने लगे और मेरी नींद खुल गई ! मैनें जोरों से शोर मचाया जिसे सुनकर वो अपराधी वहाँ से भाग गए ! यदि आज मैं जिंदा हूँ तो अपने दोनों हाथियों की वजह से ! मेरी दुबारा जिंदगी उन्हीं की देन है” !

करोड़ों की जायदाद हाथियों के नाम

अख्तर इमाम ने अपने करोड़ों की जायदाद अपने दोनों हाथियों मोती और रानी के नाम कर दिया है ! उन्होंने बताया कि मैंने अपनी लगभग 6.25 एकड़ जमीन अपने दोनों हाथियों के नाम कर दी है जिससे सह सुनिश्चित हो सके कि मेरे ना रहने पर भी इन हाथियों का देखभाल अच्छी तरह हो सके ! उन्हें भूखे ना रहना पड़े ! अख्तर इमाम अपने हाथियों से बेहद प्यार करते हैं ! उन्होंने 2016 में नालन्दा के एक मोची से दोनों हाथियों के लिए विशेष प्रकार के जूते बनवाए थे ! दरअसल हाथियों को चलते वक्त कई बार उनके पैरों में नुकीली चीजें या नाखून चुभ जाती थी जिससे हाथियों को बहुत दर्द होता था जिससे बचने के लिए उन्होंने हाथियों के लिए जूत्ते बनवाए ! अपने हाथियों के प्रति इस अनूठे रिश्ते के कारण अख्तर इमाम आज लोगों के प्रशंसा के पात्र हैं

जानवरों के प्रति जैसी दरियादिली और प्रेम की जो पराकाष्ठा अख्तर इमाम ने पेश की है वह अन्य लोगों के लिए प्रेरणादायक है !

जानवरों के प्रति इनकी प्रेम पराकाष्ठा को Logically नमन करता है