Wednesday, August 4, 2021

पेशे से इंजीनियर अपनी पार्किंग शेड में उंगाती है मशरूम, 10×10 के कमरे से 2 लाख तक का मुनाफा हो रहा है

आज खेती की तरफ युवाओं का रुझान बढ़ा है। वह अपने पेशे के साथ ही खेती को भी अपना रहे हैं। इनमें कुछ महिलाएं भी आगे आई हैं जो अपने घर पर ही मशरूम की खेती कर रही हैं। आज की कहानी ऐसी ही एक महिला की है जो कि पेशे से तो सिविल इंजीनियर हैं पर वह अपने घर पर मशरूम की खेती कर आज लाखों रुपये कमा रही हैं। गुजरात की तापी जिले की रहने वाली अंजना गामित( Anjana Gamit) अपने घर में पिछले 3 साल से मशरूम की खेती कर रही है। उन्होंने मशरूम की खेती की शुरुआत अपने घर के ही पार्किंग शेड की 10×10 फुट की जगह को बांस और ग्रीन शेड नेट से घेरकर की। पहले 2 महीने में उन्होंने 40 किलो मशरूम का उत्पादन कर 30000 रुपये तक मुनाफा कमाया।

मशरूम की खेती की शुरुआत

अंजना गामित एक अपनी छोटी सी कंस्ट्रक्शन कंपनी भी संभालती हैं। उनकी मशरूम की खेती की शुरुआत तब हुई जब उन्होंने कृषि विज्ञान केंद्र(KYC) के द्वारा आयोजित चार दिवसीय कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। उस कार्यक्रम का विषय था मशरूम खेती के माध्यम से उद्यमिता विकास। कार्यक्रम से वापसी के दौरान अंजना को केंद्र के द्वारा मशरूम के बीज और पॉलिथीन बैग प्रदान किया गया था। कृषि विज्ञान केंद्र ने अंजना को मशरूम की खेती के लिए तकनीकी मार्गदर्शन दिया और साथ ही उन्हें खेती के लिए सेटअप तैयार करने में भी मदद की।

place of mushroom farming
अंजना द्वारा मशरूम उगाने का स्थान

मशरूम की खेती के लिए सलाह

अंजना गामित बताती है कि मशरूम की खेती में 1 किलो मशरूम के लिए पीली भूसी और 50 ग्राम बीज की जरूरत होती हैं। आपको हर रोज उसमें 5 लीटर पानी देना होता है। इसके अलावा वह मशरूम की खेती करने की जो लोग सोच रहे है उन्हें बताती है कि:-

  1. अगर आप मशरूम की खेती घर पर करने की सोच रहे हैं तो ऑर्गेनिक ओयस्टर मशरूम(सिप) का विकल्प चुने क्योंकि यह कम निवेश में ही ज्यादा मुनाफ़ा देता है।
  2. अगर आप घर पर मशरूम की खेती करने की सोच रहे हैं तो आपके घर पर कम10×10 फुट जगह होनी चाहिए और शुरू में 400 रुपये निवेश इसमें आप कर सकते।
  3. सबसे पहले आपको गेहूं या धान की पीले भूसे की जरूरत होगी । भूसे को 5 घंटा तक पानी में भिगोकर रखें
  4. फिर उसे 100 डिग्री तापमान पर गर्म करें ताकि उसके कीटाणु मर जाए।
  5. उसे ठंडा होने को छोड़ दे। उसे कंबल या थर्माकोल से ढक कर रख सकते हैं।
  6. भूसे को रात भर सुखाएं ।उसके बाद मशरूम के बीज और भूसे को मिक्स करके एक पॉलिथीन बैग में भरकर रख दे। उसे 18 दिन तक ऐसे ही छोड़ दे।
  7. जब मशरूम अंकुरित होने लगे तो बैग हटा दें और उसे जड़ समेत उखाड़े।
place of mushroom farming

पिछले दो साल दो लाख का मुनाफा

आज अंजना 25×45 फ़ीट के अपने पूरे पार्किंग शेड में मशरूम उगती हैं। उनके पास 350 थैलियां हैं। पिछले साल उन्हें लगभग 2 लाख रुपये का मुनाफा हुआ था।

यह भी पढ़ें :- अपनी नौकरी छोड़ शुरू किए ओएस्टर मशरूम की खेती, अब हर महीने 2 लाख से भी अधिक रुपया कमा रहे हैं

खेती के साथ इसका बाज़ार भी तैयार किया

अंजना ने ना सिर्फ मशरूम की खेती की बल्कि मशरूम के लिए एक अपना बाजार भी तैयार किया। उन्होंने मशरूम के मार्केटिंग के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और स्थानीय खुदरा दुकानदारों से संपर्क किया। अंजना ने ना सिर्फ इन लोगों से अपनी मशरूम की मार्केटिंग की बल्कि इन लोगों को मशरूम के फायदों की जानकारी भी दी।

मशरूम के उत्पाद बनाने की योजना

अंजना बताती है कि भविष्य में वह मशरूम की खेती के अलावा मशरूम की चिप्स, आचार, पाउडर जैसे उत्पादों को बनाने की योजना बना रही हैं ताकि वह इस क्षेत्र में आगे बढ़ सके। आज अंजना गामित (Anjana Gamit) एक सिविल इंजीनियर होने के साथ ही मशरूम की खेती में भी सफल हैं और आत्मनिर्भर महिला भी हैं।