Saturday, December 3, 2022

बिहार का वो लड़का जिसे पढ़ते हुए आया आईडिया, दोस्त के साथ मिलकर खङी कर दी कम्पनी

हमारे देश के युवा अपनी परिश्रम के बदौलत हर कठिनाइयों से लड़ते हुए सफलता प्राप्त कर अन्य युवाओं का मनोबल बढ़ा रहे हैं। आज की हमारी यह कहानी एक ऐसे युवा की है जिन्होंने मात्र 21 वर्ष की उम्र में पढ़ाई करते ही कम्पनी की स्थापना कर दी जिससे वह कई लोगो को रोजगार दे रहे हैं।

बिहार के अंकित की कहानी

वह युवा हैं अंकित देव अर्पण (Ankit Dev Arpan) जिनका जन्म 13 सितंबर 1999 को बिहार (Bihar) के चंपारण में हुआ। उनके पिता का नाम संजीव दुबे और माता विमल देवी हैं। वह बचपन से ही पढ़ने में तेज-तर्रार थे उनकी प्रारंभिक शिक्षा गांव से सम्पन्न हुई। आगे जवाहर नवोदय विद्यालय में चयनित हुएं। जहां से उनकी 12वीं तक कि शिक्षा सम्पन्न की और आगे आई.एम.एस नोयडा से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। -21 Year Old Ankit Dev Arpan

किया फ्रीलांस राइटिंग शुरू

वह चाहते थे कि पढ़ाई के साथ-साथ आत्मनिर्भर बने जिसके लिए उन्होंने फ्रीलांस राइटिंग का कार्य प्रारंभ किया परंतु वह इस कार्य में सफल तो हुए परंतु वह इससे कुछ अच्छा अनुभव नहीं पा सके। क्योंकि यहां काम के बदले पैसे नहीं मिल रहे थे तब उन्होंने इस पर जांच करना प्रारंभ किया कि आखिर इसके लिए अच्छा पैसा क्यों नहीं मिलता। तब उन्होंने देखा कि फ्रीलांस के नाम पर युवाओं को ठगा जा रहा है इस क्षेत्र में जितने भी युवा देश में काम कर रहे हैं उनकी स्थिति मेरे जैसे ही हैं। -21 Year Old Ankit Dev Arpan

यह भी पढ़ें:-टैक्सी ड्राइवर की बेटी ने दिव्यान्गता को मात देकर NEET की परीक्षा में हासिल की सफलता, अब बनेगी डॉक्टर: प्रेरणा

खड़ी की कम्पनी

अब अपने दोस्त शान्या दास से इस विषय पर चर्चा करने लगे और उन दोनों ने मिलकर कंपनी खड़ी की जिसका नाम “दि राइटर्स कम्युनिटी” है। जब करोना काल के कारण लॉकडाउन लगा तो उन्होंने राइटर्स कम्युनिटी के तहत बहुत से लोगों को जोड़ा। काफी मुसीबतों का सामना करते हुए उन्हें सफलता मिली और आज दि राइटर्स कम्युनिटी फ्रीलांसरों के तहत युवाओं को फ्री में ट्रेनिंग तथा लेखक से संबंधित कार्य सिखाया जाता है। -21 Year Old Ankit Dev Arpan

युवाओं को मिला रोजगार का अवसर

अंकित ने यह दावा किया कि वह 400 से अधिक युवाओं को रोजगार से जुड़ चुके हैं। जिसके तहत रिव्यू राइटिंग, वीडियो एडिटिंग, फ्रीलांसर्स को स्क्रिप्ट राइटिंग आदि जैसे कई काम मिला। आज विभिन्न कॉलेज के स्टूडेंट्स इंटर्न के तौर पर उनसे जुड़ रहे हैं। अगर अंकित फ्रीलांस राइटिंग से नहीं जुड़ते तो वह इसके विषय में नहीं जानते और आज उनसे इतने लोग नहीं जुड़ते। -21 Year Old Ankit Dev Arpan

यह भी पढ़ें:-UPSC में 4 बार हुए असफल हुए लेकिन नहीं मानी हार, पांचवे प्रयास में ऑल इंडिया तीसरी रैंक लाकर बने IAS अधिकारी

मिला है सम्मान

अपने बेहतर पर्दशन और कम उम्र में सफलता प्राप्त करने के लिए उन्हें “ग्लोबी अवार्ड्स” के छठे वार्षिक व्यापार उत्कृष्टता अवार्ड में “सिल्वर ग्लोबी अवार्ड” से नवाजा गया है। अंकित अपनी सफलता से बेहद खुश हैं। वह बताते हैं कि मुझे खुशी है कि मैंने ऐसा कार्य किया है जिससे युवाओं को आत्मनिर्भर बनने का अवसर मिला। एक वक्त था जब मुझे बहुत कम लोग जानते थे परंतु आज मैं सभी युवाओं के लिए उदाहरण बना हुआ हूं। –21 Year Old Ankit Dev Arpan