कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद रहे तो इस लड़के ने जुगाड़ से बना दिया रूम हीटर, मात्र 200 की लागत में हुआ तैयार

239

कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन में हम सभी कुछ-न-कुछ अलग करने की कोशिश कर रहें थे। अभी तक हम सब ने घर पर पड़े बेकार पड़ी चीजों से सजावट के सामान और गार्डेनिंग करने की बात सुनी और देखी है। लेकिन शायद कभी किसी ने नहीं सोचा होगा की मात्र 14 वर्ष का एक लड़का कबाड़ की चीजों से रुम हीटर भी बना सकता है।

कोरोना के वजह से सभी स्कूल, कॉलेज बंद पड़े हुयें हैं। ऐसे में सभी छात्रों की पढ़ाई ऑनलाइन ही हो रही है। घर पर पढ़ाई के साथ-साथ बच्चे अपना हुनर भी दिखा रहें हैं। यह कहानी ऐसे ही एक हुनरबाज बच्चे की है जो 14 वर्ष के उम्र में ही रुम हीटर बना कर अपने प्रतिभा का बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। 

भास्कर पौडीयाल (Bhaskar Paudiyaal) नैनीताल के धारी ब्लॉक के अंतर्गत आने वाला सरना (Sarana) गांव के निवासी हैं। भास्कार पौडियाल के पिताजी का नाम तेज प्रकाश (Tej Prakash) हैं। भास्कर कक्षा नौ के छात्र हैं। भास्कर का मानना है कि कोई भी सामान बेकार नहीं होता है। बस हमें खराब सामान का सही से उपयोग करना आना चाहिए।

भास्कर एक किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं। कोरोना बिमारी से लॉकडाउन में सब बाजार बंद था। ऐसे में समय का सही उपयोग करने का इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा। तब समय का सदुपयोग करते हुए भास्कर ने घर के सामान से ही रुम हीटर बनाने के बारे में सोचा। भास्कर अपने घर के जिन सामानों का प्रयोग किया है उसकी कुल लागत 200 रुपये है। रुम हीटर बिजली का काम था और बिजली से डर तो सबको लगता है ऐसे में भास्कर पौडियाल को अपने पिताजी से इस काम के लिये कई दफा डांट भी सुनने को मिली। लेकिन इन सब के बावजूद भी भास्कर ने अपनी मेहनत से रुम हीटर बना ही दिया।

भास्कर पौडियाल (Bhaskar Paudiyaal) ने रुम हीटर बनाने के लिये जिस सामानों का उपयोग किया है, वह इस प्रकार है:-
गत्ता, 100 वाट के 2 बल्ब, एक डीसी मोटर, छोटा पंखा, 2 मीटर तार, विद्युत रोकने वाला टेप, 2 होल्डर और 2 स्विच आदि इन सब चीजों का उपयोग कर रुम हीटर का निर्माण किया। भास्कर पौडियाल का कहना है कि इसे प्लास्टिक टिन के फ्रेम से बनाने पर अधिक टिकाऊ होगा।

भास्कर के इस काम में राजकीय इंटर कॉलेज गुनियालेख के प्रधानाचार्य गौरी शंकर कांडपाल (Gauri Shankar Kandpaal) तथा इस स्कूल के साइंस विषय पढ़ाने वाले शिक्षक राजेश बोरा (Rajesh Bora) ने हमेशा भास्कर को प्रोत्साहित किया। इन शिक्षकों का कहना हैं कि भास्कर बहुत ही होनहार प्रतिभावान छात्र है।

The Logically भास्कर पौडियाल के प्रतिभा को नमन करता है और भास्कर के अच्छे भविष्य की कामना करता है।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here