Friday, February 3, 2023

एक आंख से नहीं देता है दिखाई लेकिन नहीं मानी हार, रिक्शा चालक की बेटी ने Math विषय में Gold Medal हासिल किया

कहते हैं यदि इन्सान के भीतर प्रतिभा हो और इरादा मजबूत हो तो उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है। बुलंद हौसलों के साथ व्यक्ति किसी भी मंजिल को हासिल कर सकता है फिर चाहे उसके राह में कितनी ही मुश्किलें क्यों न आई हो। इस कथन को अभी तक कई होनहार लोगों ने साबित कर दिखाया है और अब एक बार से एक रिक्शा चालक की बेटी ने इस कथन की सत्य साबित किया है।

रिक्शा चालक की बेटी ने लाया गोल्ड मेडल

हम बात कर रहे हैं बुलंदशहर (Bulandshahr) के गुलावटी की रहनेवाली शमा परवीन (Shama Parveen) की, जिसने कठिन परिश्रम के बदौलत मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से B.sc. गणित विषय में गोल्ड मेडल हासिल किया है। उनके पिता युनून खान जो पेशे से एक रिक्शा चालक हैं, अपनी बेटी शमा के साथ हर कदम पर खड़े रहे और उनका मनोबल बढ़ाते रहे। परिणामस्वरूप वह गोल्ड मेडल से नवाजी गई हैं।

एक आंख से नहीं देता है दिखाई

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शमा को एक आंख से दिखाई नहीं देता है इसके बावजूद भी उन्होंने इसे अपनी कमजोरी नहीं बनने दी। उन्होंने अपने सपने को साकार करने के लिए दृढ़ निश्चय और कठिन मेहनत के साथ आगे बढ़ती रहीं। वह कहती हैं कि, वह अपने भाई-बहन में सबसे बड़ी हैं और उनसे परिवार को काफी आशाएं हैं। इसलिए उनके ऊपर एक बहुत जिम्मेदारी है जिसे उन्हें पूरा करना है।

यह भी पढ़ें:- बचपन में चली गई थी आंखों की रोशनी लेकिन नहीं मानी हार, परिवार का पेट भरने के लिए करते हैं खेती

सुनने पड़े समाज के ताने

हमारे समाज में औरतों की बाहरी सुन्दरता को महत्व दिया जाता है। ऐसे में एक आंख से दृष्टिबाधित होने के कारण शमा परवीन को भी उनकी बाहरी सुन्दरता से आंका गया और इस वजह से उन्हें लोगों ने ताना भी दिया। लेकिन शमा ने अपनी बाहरी सुन्दरता को निखारने के बजाय हमेशा अपनी अंदरूनी सुन्दरता को बढ़ाने पर ध्यान दिया। उनका सपना है कि वह आगे चलकर एक IAS अधिकारी बने।

पिता हैं रोल मॉडल

शमा (Shama Parveen) के लिए उनके पिता ही उनके रोल मॉडल हैं। वह कहती हैं कि उनकी इस सफलता के पीछे उनके पिता का हाथ है जिन्होंने हर परिस्थिती में उनका साथ दिया। आर्थिक स्थिति खराब होने के बावजूद भी शमा के पिता ने चीजों को गिरवी रखकर हमेशा उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। शमा के पिता कहते हैं कि, हर मां-बाप को अपने बच्चों को शिक्षा जरुर देनी चाहिए।

The Logically शमा परवीन (Shama Parveen) को इस सफलता के लिए ढेर सारी बधाई देता है।