चन्दना हिरन: वह लड़की जिसकी प्रयास से कम्पनी को Fair & Lovely का नाम बदलना पड़ा

86

हिन्दुस्तान यूनिलीवर कंपनी के ब्रैंड फेयर एंड लवली (fair & lovely) के बारे में हम सभी जानते हैं। हम सभी अलग-अलग समय पर इस प्रोडक्ट के कई प्रचार देखे हैं। अपने हर वीडियो में इस प्रोडक्ट ने सिर्फ़ और सिर्फ़ फेयर शेड को ही ख़ूबसूरत बताया है। पर फेयर ही अच्छा डार्क क्यों नहीं??? यह सवाल अब तक किसी ने नहीं पूछा। आज इतने सालों बाद यह सवाल उठाया मुंबई में रहने वाली 22 साल की चंदना हीरन ने।

फेयर ही अच्छा डार्क क्यों नहीं

चंदना चार्टेड अकाउंटेंसी के अंतिम वर्ष की छात्रा हैं। इन्होंने ‘हिन्दुस्तान यूनिलीवर कंपनी’ के ख़िलाफ़ एक ऑनलाइन याचिका दायर की। Change.org पर दायर यह याचिका बहुत कारगर साबित हुई। इस याचिका को लगभग 15,000 लोगों ने हस्ताक्षर कर अपनी स्वीकृति प्रदान की। अपनी इस याचिका में कॉस्मेटिक कंपनियों को इस तरह से अपने प्रोडक्ट्स की ब्रांडिंग न करने की मांग की थी जो केवल एक शेड ‘फेयर’ को प्रमोट करने का काम करते हैं। इन्होंने अपनी याचिका में सभी कंपनियों से एक सवाल भी किया था कि आख़िर फेयर ही अच्छा डार्क क्यों नहीं?

चंदना का कहना है, “मेरा रंग भी सांवला है पर मुझे इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता लेकिन मैं अक्सर देखती हूं कि मेरे रंग की दिखने वाली कई लड़कियां अपने रंग को लेकर बहुत परेशान रहती हैं। फिल्म जगत में भी मेरी स्किन के रंग की कोई टॉप अभिनेत्री नहीं है। मैगज़ीन में भी सांवले रंग की स्किन वालों को एंडोर्स नहीं किया जाता। यहां तक कि सोशल मीडिया भी ब्यूटी फ़िलटर्स और फ़ोटो एडिटिंग टूल्स से भरे पड़े हैं जो ठीक नहीं हैं।”

फेयर एंड लवली से ग्लो एंड लवली

परिणामस्वरूप देश की जानी मानी कम्पनी हिंदुस्तान यूनीलीवर ने अपने ब्रैंड फेयर एंड लवली से फेयर शब्द हटाने का फैसला लिया है। कंपनी ने अपने एक बयान में कहा कि उस पर कई सालों से ऐसे आरोप लग रहे हैं कि वह स्किन टोन के आधार पर भेदभाव को बढ़ावा देती है। अंततः कंपनी ने अब अपने ब्रैंड फेयर एंड लवली से फेयर शब्द हटा दिया है और अपने इस प्रोडक्ट का नाम बदलकर ग्लो एंड लवली कर दिया है। पुरुषों के लिए आने वाले प्रोडक्ट्स अब ग्लो एंड हैंडसम के नाम से मिलेंगे। अपनी इस बात की जानकारी कंपनी ने अपने ट्वीट के जरिए दिया।

चंदना आगे कहती हैं, मेरी इस मुहिम में अमेरिका में चल रहे आंदोलन ‘Black Lives Matter‘ ने भी अहम भूमिका निभाई। इस आंदोलन ने ही ‘हिंदुस्तान यूनिलीवर’ को ये फ़ैसला लेने पर मजबूर किया। चंदना ने कंपनी के द्वारा अपने प्रोडक्ट फेयर एंड लवली से फेयर शब्द हटाने के इस फ़ैसले को साहसिक बताया। साथ ही अपने एक ट्वीट के जरिए उन सभी लोगों को धन्यवाद किया जिन्होंने उनके याचिका पर हस्ताक्षर किए थें और उनके इस अभियान में उनके साथ खड़े थें। The Logically चंदना के इस खूबसूरत सोच और ये अभियान के लिए उन्हें धन्यवाद करता है।

Archana is a post graduate. She loves to paint and write. She believes, good stories have brighter impact on human kind. Thus, she pens down stories of social change by talking to different super heroes who are struggling to make our planet better.