English teacher Dattatray Sawant turned auto driver

भारत मे कोरोना की दूसरी लहर ने एक भयावह मंजर खड़ा कर दिया है। इस महामारी में कुछ लोग अपनो से भी दूरी बना रहे है, तो कुछ लोग एक देवदूत के रूप में सामने आ रहे है। ऐसे ही लोगो मे एक नाम सामने आया है, दत्तात्रय सावंत (Dattatray Sawant) का। जो लोगो को ऑटो चलाकर निःशुल्क में अस्पताल पहुंचाने का काम कर रहे है।

 English teacher Dattatray Sawant turned auto driver

परिचय

दत्तात्रय सावंत (Dattatray Sawant), मुम्बई (Mumbai) के घाटकोपर के रहने वाले है। वह विद्या मंदिर स्कूल में अंग्रेजी शिक्षक है लेकिन देशहित के लिए वो कोरोनाकाल में ,पीपीई किट पहन कर और ऑटो में सफाई का ध्यान रखते हुए ऑटो चलाकर लोगों को निःशुल्क अस्पताल पहुंचाने का काम कर रहे है।

अब तक कर चुके 30 से अधिक रोगियों की मदद

दत्तात्रय, अब यक 30 से अधिक मरीजो को सेवा दे चुके है। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि, “मैं अपने ऑटो से रोजाना मरीजों को घर से अस्पताल और अस्पताल से घर निःशुल्क में छोड़ता हूं। देश में जब तक ये कोविड रहेगा, मेरी सेवा तब तक जारी रहेगी ।” उन्होंने आगे बताया कि, एम्बुलेंस की सेवा महंगी होने के कारण गरीब लोग उसका उपयोग नही कर पा रहे है। जिसके वजह से दत्तात्रय 24 घंटे सड़को पर अपना समय दे रहे है ताकि वो किसी भी मरीज को सही समय पर अस्पताल पहुंचा सके। सोशल मीडिया पर लोग इसके काम की खूब तारीफ तथा इनको सैलूट भी कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here