Sunday, June 26, 2022

नर्सरी लगाने की शुरुआत कैसे करें, जान लीजिए नर्सरी शुरू करने से जुड़ी हर एक जानकारी

अगर कोई व्यक्ति मोटी रकम वाली नौकरी कर रहा है तो जाहिर सी बात है कि अगर वह उसे छोड़ नर्सरी या फॉर्मिंग की बात करे तो उसके घर वाले उससे हताश हो ही जाएंगे और कुछ लोग उनकी खिल्ली भी उड़ाएंगे। इसी कड़ी में आज हम आपको ऐसे शख्स से रू-ब-रू कराने वाले हैं जिन्होंने अपने 14 लाख के पैकेज की नौकरी को छोड़ नर्सरी का स्टार्टअप (Nursery Startup) प्रारम्भ किया और इसमें सफलता हासिल कर अन्य लोगों के लिए उदाहरण बने। साथ ही आपने उनके नर्सरी का लुफ्त एक वीडियो को देखते हुए उठाएंगे और अगर पास उसी एरिया में रहते हैं उनके नर्सरी से पौधों को खरीद अपना होम गार्डन भी तैयार करेंगे।

अभिजीत नारायण (Abhijeet Narayan)

अभिजीत नारायण (Abhijeet Narayan) पटना (Patna) से ताल्लुक रखते हैं। वह ग्रीन सेल्टर (Green Shelter) के फाउंडर हैं। उनका ये स्टार्टअप वर्ष 2016 में प्रारंभ हुआ था। उनका ये उद्देश्य था कि वह लोगों को पर्यावरण संरक्षण के विषय में जागरूक करें। साथ ही लोगों के बीच एक अलग व्यक्ति बनकर सामने आए ताकि लोग गार्डेनिंग के लिए उनसे प्रेरणा ले सकें। आज वह बच्चों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के लिए गार्डेनिंग कीट के साथ अन्य प्रकार के प्रोडक्ट का निर्माण करते हैं जिसका मार्केट में अच्छा-खासा डिमांड है। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

उनका ये मानना है कि वैसे तो हमारे बच्चे पौधों के विषय में जानते हैं और किताबों में पढ़ते भी हैं लेकिन वह प्रेक्टिकली उसके विषय में नहीं जानते इसलिए ये आवश्यक है कि वह इस गार्डेनिंग कीट द्वारा इसे उपयोग करें और इसे समझ सकें। इस कीट में आपको बीज, मिट्टी, गार्डेनिंग टूल्स के साथ पौधों को किस तरह लगाएं, ये प्रोसेस स्टेप-बाई-स्टेप बताया गया है। इन प्रोसेस को फॉलो कर बच्चों को स्वयं ऑर्गेनिक विधि द्वारा अपने घर पे पौधा भी लगाने आ जायेगा और वह प्रैक्टिकली हर चीज सीख भी जाएंगे। ये कीट आप ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरीकों से खरीद सकते हैं। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

How to do nursery startup

शुरुआती दौर में करना पड़ा कठिनाईयों का सामना

वह कहते हैं कि हम पहले अपने ग्राहकों से उनकी जरूरतों के विषय में समझते हैं और तब उन्हें पौधा देते है। कुछ लोग जल्दी फल देने वाले पौधे खरीदना चाहते हैं तो कुछ लोगों के पास धूप की समस्या होती है इसलिए हर चीज की जानकारी लेने के बाद ही वह कस्टमर्स को पौधे देते हैं। वह बताते हैं कि जब मैंने ये स्टार्टअप प्रारंभ किया तो ये स्टार्टअप मेरे लिए बिल्कुल ही नया था जिस कारण मुझे जानकारी एकत्रित करने में दिक्कत हुई। हालांकि बहुत से लोगों ने मेरी मदद की लेकिन फील्ड नया होने के कारण मुझे कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। लेकिन आज मैं इसमें सफल हूं और इसे आगे बढ़ाने की चाहत बहुत है। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

वह कहते हैं कि आप ऑर्गेनिक फार्मिंग या नर्सरी के क्षेत्र में अच्छा कार्य कर सकते हैं। इसमें आपको लाभ छोड़ हानि बहुत कम होगा क्योंकि इसका डिमांड बहुत अधिक है बल्कि सप्लायर के कारण इसमें दिक्कत आती है। लोग चाहते तो हैं कि वह ऑर्गेनिक फूड खरीदें लेकिन वो चीजें लोगों के पास जा नहीं पाती। उन्होंने बहुत से नर्सरी के साथ टाई-अप भी किया है। आगे उनका उद्देश्य कि वह मुजफ्फपुर और रांची में अपना नर्सरी लगाएं। हालांकि ऑनलाइन उनके प्रोडक्ट की मार्केटिंग अच्छी है लेकिन वह इसे और बढ़ाना चाहते हैं। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

यह भी पढ़ें :- मां से प्रेरणा लेकर आज संवार रही जरूरतमंदों की जिंदगी, खाना के साथ पोशाक का भी करती हैं इंतजाम

लोगों के लिए सुझाव

उनका ये मानना है कि अगर आप किसी स्टार्टअप को प्रारंभ करने के विषय में सोंच रहे हैं तो इसके विषय में अच्छी तरह अध्ययन करके जानकारी एकत्रित कर ही उसे प्रारम्भ करें। साथ ही आप मार्केटिंग के विषय में भी हर जानकारी इकट्ठा करें कि किस तरह इसकी मार्केटिंग की जाए ताकि इसे खरीदना लोगों को सहज लगे। आप अपने कस्टमर्स का भी ध्यान रखें कि उन्हें क्या पसन्द है क्या नहीं इसके अनुसार प्रोडक्ट का निर्माण करें। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

वीडियों देखें :-

आईए डलाते हैं उनकी नर्सरी पर एक नजर

जैसे ही आप यहां उनके ग्रीन शेल्टर नर्सरी में इंटर करेंगे आपको सामने ब्रीफ का बैनर दिखेगा कि आखिर पौधे हमारे लिए क्यों आवश्यक है। यहां उन्होंने बहुत से पौधों को लगाया है जिसका डिमांड भी मार्केट में खूब है। यहां कस्टमर्स के लिए हमेशा खरीददारी पर कुछ ना कुछ ऑफर मिलता रहता है। जिसके कारण कस्टमर्स काफी एक्साइटेड भी रहते हैं।

इंडोर प्लांट्स में उनके नर्सरी में एरिका पाम, स्पाइडर, सॉन्ग ऑफ इंडिया, सिग्नोमियम, स्नेक प्लांट आदि। ये पौधे कम धूप में खिल उठते हैं साथ ही ये 24 घण्टे ऑक्सीजन भी देते हैं। उन्होंने यहां किचन गार्डन प्लांट भी लगाया है जो ऑनलाइन सबसे ज्यादा बिकता है। इसका नाम अल्सपाई है, इसे आप खाने में भी उपयोग कर सकते हैं। इसका टेस्ट गरम मसाला की तरह होगा और सुंगध भी लगभग वैसा ही होगा।-Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

यहां आपको तेजपत्ते का पौधा भी मिलेगा जिसे आप किसी भी पॉट में लगा सकते हैं। साथ ही यहां लेमनग्रास और अन्य मेडिसिनल प्लांट्स भी हैं। उनके नर्सरी में आपको सेल्फ वाटरिंग सिस्टम प्रोडक्ट भी मिलेगा। जिसका उपयोग आप पौधों की सिंचाई के लिए कर सकते हैं। हम सभी अगर कहीं जाते हैं तो हमारे पौधे पानी के कमी के कारण मुरझा जाते हैं या सुख जाते हैं इसलिए ये आवश्यक है कि आप सेल्फ वाटरिंग सिस्टम का उपयोग करें जिससे आपके पौधे जीवित रहेंगे। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna

The Logically ये आशा करता है कि हमारे द्वारा लिखा गया ये लेख हमारे पाठकों को पसन्द आएगा और भी अपने घर में उन पौधों को लगाएंगे जिनकी उन्हें जरूरत हैं। साथ ही हमारे पाठक अन्य व्यक्तियों से भी अपना अनुभव साझा करते हुए उन्हें भी गार्डेनिंग के लिए जागरूक करते हुए गार्डेनिंग से जोड़ेंगे। -Abhijeet Narayan CEO Of Green Shelter Patna