Friday, July 21, 2023

काले अमरूद की खेती से किसान कर रहे लाखों की आमदनी, जानिए खेती की पूरी विधि

आज दुनिया बहुत आगे बढ़ चुकी है और खेती करने के ऐसे बहुत से तकनीक आ चुके हैं जिनसे किसानों की आय में वृद्धि हो रही है। ऐसे में किसान परंपरागत खेती से दूर हटकर अपने खेतों में नई तकनीक को अपनाकर खेती कर रहे हैं और इनसे उन्हें इजाफा भी हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक गेहूं, धान, दलहन, तिलहन तथा मक्का आदि मोटे फसल पारंपरिक खेती का हिस्सा है। हालांकि किसानों को इसमें भी कोई घाटा नहीं होता परंतु किसान इनसे हटकर खेती करने में अधिक लाभ कमा रहे हैं। अगर आप एक किसान है और किसी भी खेती की शुरुआत करना चाहते हैं तो आपको विशेषज्ञ से सलाह अवश्य लेनी चाहिए या फिर अपने आप अपने आसपास के कृषि विश्वविद्यालय में भी संपर्क कर सकते हैं।

आज के इस लेख द्वारा हम आपको एक ऐसी खेती के विषय में बताएंगे जिससे किसानों लाखों रुपए कमा रहे हैं। यह खेती काला अमरूद की है जो किसानों के लिए आज बंपर उत्पादन का स्रोत बना हुआ।

करें खेती में कुछ हटकर

वैसे तो हम सबको लाल, पीला, उजला तथा हरे अमरूद के विषय में पता था परंतु आज किसान काले अमरूद की खेती कर रहे हैं। इन सारे अमरुद के अतिरिक्त आपको मार्केट में इलाहाबादी किस्म के अमरुद भी मिलते हैं जो कि पारंपरिक खेती के हिस्से हैं। परंतु अगर आप यह चाहते हैं कि अमरूद की खेती में ही आप इन सब से कुछ अलग करें तो आप काले अमरूद की खेती कर सकते हैं। इसका मार्केट में खूब डिमांड होने वाला है हमारे देश की मिट्टी इसके उत्पादन के लिए बेहद उपयोगी भी है। विशेषज्ञों के मुताबिक मार्केट में इसकी कीमत भी अच्छी मिलेगी जिससे किसानों को लाभ ही लाभ होगा। -Black Guava Cultivation

यह भी पढ़ें:-कर्ज लेकर शुरू की सिंघाड़े की खेती, आज अपनी सफलता से दूसरे किसानों को कर रहे प्रेरित

बुआई के लिए उचित मौसम

जानकारी के मुताबिक अगर आप काले अमरूद की बुआई सर्द मौसम में करते हैं तो यह अच्छा होगा, इससे आपको अधिक उत्पादन मिलेगा। इसकी बुआई के लिए दोमट मिट्टी उचित माना जाता है। अगर आपके पास दोमट मिट्टी नहीं है तो आप सामान्य मिट्टी में इसकी बुवाई कर सकते हैं। बुआई से पूर्व आप मिट्टी को अच्छी तरह तैयार कर लें और देख ले कि इसमें कोई फंगीस तो नहीं है। -Black Guava Cultivation

कुछ वर्ष में होगा फल प्राप्त

बुआई के बाद अगर आप इसका अच्छी तरह ध्यान रखते हैं तो इसका ग्रोथ भी अच्छा होगा। आपको समय-समय पर इसकी कटाई एवं छंटाई का ध्यान रखना होगा। मात्र 2 वर्ष के बाद ही आप इसके पौधे से फल प्राप्त कर सकते हैं। अगर पौधों में कोई कीट प्रवेश करें तो आप विशेषज्ञों की सलाह लेकर उस पर कीटनाशक स्प्रे करें और फल लगने के बाद फल पक जाए तो आप उन्हें तोड़ाई कर दें। ताकि अधिक मिठास होने के कारण इस पर मधुमक्खी या फिर अन्य कीट ना लगें। -Black Guava Cultivation

यह भी पढ़ें:-रईस की जिंदगी जीते हैं क्रिकेट स्टार विराट कोहली, भारत के मुंबई समेत विदेशों में भी खरीद रखें हैं घर

यहां के किसान कर रहें हैं इसकी खेती

खेती में अच्छा मुनाफा मिलने के कारण हमारे देश के बिहार, हिमाचल प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश के किसान काले अमरूद की खेती प्रारंभ कर चुके हैं। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य राज्यों में भी इसकी खेती देखी जा रही है। हम आपको यह बता दें कि इसकी गुद्दी लाल रंग के होते हैं तथा यह पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है एवं स्वादिष्ट भी होता है। -Black Guava Cultivation