Sunday, June 26, 2022

अपने घर में कैसे उगाएं शिमला मिर्च, जान लीजिए इन आसान टिप्स को

आजकल अधिकतर लोगों में गार्डेनिंग के प्रति जागरूकता देखने को मिल रही है। लोग अपने टेरेस गार्डन में विभिन्न प्रकार के सब्जी, फल, फूल और मेडिसिनल पौधों को लगा रहे हैं और अन्य लोगों को इसके लिए जागरूक भी कर रहे हैं। हम सभी इस बात से परिचित हैं कि आजकल मार्केट में शिमला मिर्च का कितना अधिक डिमांड है जिस कारण इसकी कीमत भी काफी अधिक है।

हम सभी ये जानते हैं कि किस तरह महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ रखी है इसलिए ये आवश्यक है कि हम अपने गार्डन में शिमला मिर्च लगाएं जिससे हमारे पैसे की बचत भी होगी और शुद्ध व ताजा शिमला मिर्च भी प्राप्त हो सकेगी।

शिमला मिर्च के सेवन के अनेकों फायदे हैं जैसे: अगर आपका वजन बढ़ चुका है तो आप शिमला मिर्च को अपने रूटीन में शामिल करें, ये वेट कंट्रोल में काफी कारगर सिद्ध होगा। इसके अतिरिक्त ये एनीमिया की कमी को दूर करता है और आंखों के लिए भी फायदेमंद होता है। लेकिन इसके फायदे जानने के बावजूद भी कुछ लोग इसे नहीं उगा पातें क्योंकि लोगों के पास इसके विषय में इन्फॉर्मेशन नहीं होता।

अगर आप शिमला को अपने गार्डन में उगाना चाहते हैं तो हमारे साथ बने रहें। इस लेख में आप ये देखेंगे और पढ़ेंगे कि आप किस तरह इसे अपने गार्डन में उगा सकते हैं और इसकी देखभाल कैसे करें..? आगे आप इसकी बुआई से लेकर इसकी हार्वेस्टिंग के विषय में सारी जानकारी एकत्रित कर इसे स्वयं भी लगा सकते हैं। हम आप के समक्ष एक वीडियो शेयर करेंगें जिससे समझने में आप को आसानी होगी

  • पहले करें बीज की बुआई

शिमला मिर्च (capsicum) के पौधे लगाने के लिए आप सबसे पहले इसका बीज खरीद लें। आप ये बीज आप मार्केट में किसी भी स्टोर से खरीद सकते हैं या ये आपको ऑनलाइन भी मिल जाएगा। इसके उपरांत आपको एक ग्रो बैग लेना होगा जिसमें कोकोपीट कॉइन हो। इसमें आप किसी भी उर्वरक से निर्मित मिट्टी का उपयोग कर सकते हैं। कोटोपीट कॉइन्स का निर्माण इस तरह होता है कि आप उसमें जैसे ही पानी डालें वह एक छोटा सा ग्रो बैग का आकार ले लेगा। हलांकि ये कॉइन्स के ऊपर डिपेंड होता है। अब आप इसमें आसानी से बीज की बुआई कर सकते हैं।

हालांकि हर बीज की ऊपज उसके क्वालिटी पर ही निर्भर करती है। आप चाहें तो एक छोटे गमले में कोकोपीट एवं वर्मीकम्पोस्ट को मिश्रित कर उसमें भी बीज डाल सकते हैं। ध्यान रहे दोनों (कोकोपीट तथा वर्मीकम्पोस्ट) की मात्रा बराबर ही होनी चाहिए तब आप उसमें बीज की बुआई करें। अगर ये अंकुरित हो जाए तो आप इसे मिडिल क्लास के गमलें में लगा सकते हैं। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

वीडियो यहाँ देखें:-👇👇

  • कब करें बीज की बुआई

शिमला मिर्च की बुआई आप 10° सेल्सियस ये लेकर 29° सेल्सियस के बीच में करें। क्योंकि ये टेम्परेचर इसके लिए सही माना जाता है। आप फरवरी से इसके बीच की बुआई प्रारम्भ कर दें क्योंकि इसे पौधा का रूप लेने में भी 1 माह का वक्त लग जाता है। अगर आप इसके बीज की बुआई कर रहे हैं तो आप कंटेनर में बीज डालकर उसे कोकोपीट से ढ़क दें। फिर आप इसकी हल्की सिंचाई कर दें ताकि बीज वहीं जम जाए। हालांकि अगर आपने शिल्डिंग ट्रे या फिर कोकोपिट कॉइन में बीज लगाई है तो उसे अच्छी तरह भींगा दे और छोड़ दें। अगली बार की सिंचाई के लिए आपको ये देखना है कि आपका शिल्डिंग ट्रे में लगा हुआ कोकोपीट कॉइन सुख गया है या नहीं ये सुख जाए तब ही आप इसमें पानी डालें। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

यह भी पढ़ें:-घर के अन्दर पौधों की अच्छी ग्रोथ और केयर के लिए अपनाएं ये महत्वपूर्ण टिप्स: हरा-भरा घर

अब इसे छोड़ दें और समय-समय पर पानी देते रहें और इसे हल्के धूप में भी रखें। 7-10 दिनों के अंतराल के बाद आप ये देखेंगे कि आपके बीज अंकुरित होकर एक छोटे पौधे का रूप ले चुका है। हालांकि ये सारी चीजें एरिया के टेम्परेचर पर ही निर्भर करता है। अब आप कोकोपीट काईन्स को उठाएं और उसे छोटे गमले में ट्रांसप्लांट कर दें। जब ये थोड़ा और बड़ा हो जाए तो आप इसे बड़े ग्रो बैग में लगाएं ताकि फल अधिक मिल सके। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

  • ऐसे कैसे करें मिट्टी का निर्माण

अब आगे आपको एक 12/12 का ग्रो बैग लेना और इसमें मिट्टी डालनी है। आपकी मिट्टी में 30% कोकोपीट, 30% नॉर्मल मिट्टी, 30% उर्वरक तथा 10% अन्य न्यूट्रिशन जैसे नीम खल्ली आदि मिली हुई हो। अब आपको अपना कोकोपीट कॉइन लेना है और इसे ग्रो बैग में लगाना है। अगर आप अन्य कन्टेनर में पौधे को लगाएं हैं तो आप इसे बाहर निकालकर आसानी से ट्रांसप्लांट कर लें बस कुछ बातों को ध्यान में रखकर। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

  • 3 माह के बाद हो चुका पौधा फल के लिए तैयार

अब आप इसमें पानी डाल दें और छोड़ दें। आपको इसमें 25 दिनों तक कोई उर्वरक नहीं डालना होगा क्योंकि आपने मिट्टी में ही कम्पोस्ट डाल रखा है वहीं काम आएगा। फिर आगे आप ऑर्गेनिक उर्वरक जैसे गाय का गोबर आदि दें। इसमें लगभग 30 दिनों बाद आपको फूल देखने को मिलेंगे और वहीं 3 माह के बाद आप इससे फल यानी शिमला मिर्च प्राप्त कर सकते हैं। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

capsicum farming
  • पौधे में होने वाले रोग

शिमला मिर्च के पौधे में लीफ कल (पत्तियों का सिकुड़ना) की समस्या अधिक होती है। जो पानी के रुकाव के कारण होता है। साथ हीं ये कैल्शियम की कमी और लीफ कल वायरस के अटैक के कारण भी होता है। इसके लिए आप इसपर नीम से बनी स्प्रे का छिड़काव करते रहें हैं और कैल्शियम देते रहें। आप चुने के पानी का भी उपयोग कर सकते हैं ध्यान रहे चुने की मात्रा अधिक नहीं होनी चाहिए वरना मिट्टी का ph मान कम हो जाएगा। आप जिप्सम का भी उपयोग पौधों में कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए कर सकते हैं। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

यह भी पढ़ें:-नर्सरी लगाने की शुरुआत कैसे करें, जान लीजिए नर्सरी शुरू करने से जुड़ी हर एक जानकारी

अब जब आपका शिमला मिर्च तैयार हो जाए तो आप इसे आसानी से तोड़ लें। फिर आपका ये शिमला मिर्च और ग्रोथ करेगा। आप एक पौधे से 3 बार फल प्राप्त कर सकते हैं और इसका एक पौधा 4-6 माह तक फल देता है। आगे आप इसे हटाकर दूसरा पौधा लगा लें और उसकी देखभाल से फिर से प्राप्त कर लें। -How to prepare such a plants from the seeds of capsicum

The Logically द्वारा शिमला मिर्च (Capsicum) के बीज बुआई से लेकर उसे ट्रांसप्लांट करने तथा उससे फल प्राप्त करने की सारी विधि इस लेख द्वारा उसके पाठकों को बताई जा चुकी है। हमारे जो पाठक अपने होम गार्डन में शिमला मिर्च (Capsicum) लगाना चाहते हैं वह आसानी से इसे लगा सकते हैं। साथ जो पाठक इसके विषय में नहीं जानते हैं वह भी इसे अपने गार्डंन मे लगाकर इसका लाभ उठा सकते हैं। –How to prepare such a plants from the seeds of capsicum