Sunday, December 5, 2021

वह महिला IPS जिसने CM तक को गिरफ्तार किया था, 20 साल में 40 बार तबादला हुआ: Ips D Rupa Moudgil

ऐसे तो बहुत से लोग होते हैं जिन्हें पद और मौका दोनों मिलता हैं परंतु उनमें से कुछ ही लोग ऐसे होते हैं जो पद का सही इस्तेमाल कर गलत के खिलाफ आवाज उठाने की हिम्मत रखते हैं। अक्सर हमारे देश में ईमानदार अधिकारी को उनके काम के तरीकों के कारण विभागीय ऐक्शन का सामना करना पड़ता है। ऐसी ही एक कहानी हम पहले भी सुन चुके हैं, हरियाणा के IAS अफसर अशोक खेमका (Ashok Khemka) की जिन्हें अपने काम करने के तरीको को लेकर बहुत से दिक्कतो का सामना करना पड़ा। आज हम एक ऐसे ही IPS अफसर की बात करेंगे जिसे हर 6 महीने पर ट्रांसफर और पोस्टिंग के ऑर्डर मिल जाते हैं।

D.Roopa Moudgil transdffered 40 times in 20 years

रूपा दिवाकर मौदगिल (D.Roopa Moudgil)

रूपा कर्नाटक (Karnataka) कैडर के 2000 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं। वह प्रदेश की पहली महिला होम सेक्रेटरी हैं। रूपा का कुछ ही दिन पहले राज्य के गृह विभाग से हैंडलूप एम्पोरियम में ट्रांसफर किया गया है, क्योंकि उन्होंने एक बड़े अफसर के कथित भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रूपा बताती हैं कि यह उनके लिए नया नहीं है, इससे पहले भी उनके साथ ऐसा हो चुका है। वह जब भी किसी के खिलाफ आवाज उठाती हैं, तो उनका ट्रांसफर कर दिया जाता है। जैसे जेल में बंद AIDMK की नेता शशिकला के खिलाफ हो, या साल 2003-2004 के दौरान एमपी की तत्कालीन सीएम उमा भारती को गिरफ्तार करने का हो, बहुत बार उनके काम के खिलाफ सवाल भी उठाए गए हैं।

यह भी पढ़ें :- साइंटिस्ट से लेकर कई सरकारी नौकरियों को ठुकरा दिया, अल्मोड़ा की तृप्ति ने IPS बनकर ही दम लिया

20 साल के सर्विस में हो चुका हैं 40 बार ट्रांसफर

रूपा बेंगलुरु के सेफ सिटी प्रॉजेक्ट का काम देख रही थी जिसमें उन्होंने एक वरिष्ठ आईपीएस अफसर हेमंत निंबालकर ( Hemant Nimbalkar) पर टेंडर प्रोसेस में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया था जिसकी वजह से उनका वहां से भी ट्रांसफर हो गया। अब वे राज्य के हैंडलूम एम्पोरियम का कामकाज देखें रही हैं। रूपा का यूपीएससी परीक्षा में ऑल इंडिया 43वीं रैंक आया था जिसके बाद उन्हें आईएएस पद पर नियुक्ति मिली पर वह आईपीएस बनना चाहती थी, इसलिए उन्होंने आईएएस छोड़ आईपीएस चुना। जिसमें रूपा का 20 साल के सर्विस में 40 बार ट्रांसफर हो चुका है।

D.Roopa Moudgil transdffered 40 times in 20 years

भरतनाट्यम डांसर, प्लेबैक सिंगर और एक बेहतरीन शार्प शूटर हैं रुपा

रूपा पुलिस सर्विसेज के अलावा एक बेहतरीन ट्रेंड भरतनाट्यम डांसर भी हैं तथा भारतीय संगीत की ट्रेनिंग भी ली हैं। सिर्फ़ इतना ही नहीं बयालाताड़ा भीमअन्ना नामक कन्नड फिल्म में रूपा ने एक प्लेबैक सिंगर के रूप में गीत भी गाया है। साथ ही रूपा एक बेहतरीन शार्प शूटर भी हैं, जिसमें वह बहुत से पुरस्कार से सम्मानित भी हो चुकी हैं। रूपा की शादी आईएएस अफसर मुनीश मुद्गील (Munish Mudgal) से साल 2003 में हुई। रूपा की छोटी बहन रोहिणी दिवाकर (Rohini Diwakar) भी 2008 बैच की आईआरएस ऑफिसर हैं।

रूपा को नहीं पड़ता ट्रांसफर से फ़र्क

रूपा एक इंटरव्यू में कहती हैं कि तबादला होना हर सरकारी नौकरी का हिस्सा है। रूपा ने जितने साल नौकरी की है उसके दुगुने बार उनका ट्रांसफर हुआ है। रूपा जनती हैं कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाना विवाद और जोखिम का काम है। इसके चलते हीं उनका ट्रांसफर भी होता हैं, परंतु वह इससे हिम्मत नहीं हारती और ना ही अपने काम करने के तरीके को बदलती हैं। रूपा के तबादले पर राज्य के अलग-अलग वर्ग में मिलीजुली प्रतिक्रिया हुई थी तथा सोशल मीडिया पर भी बहुत से लोग उनके ट्रांसफर के फैसले के खिलाफ थे।

The Logically रूपा दिवाकर मौदगिल के हिम्मत की तारीफ करता है और उमीद करता है कि वे भ्रष्टाचार को जड़ से ख़त्म करने में सफल हो सकें।