Saturday, December 3, 2022

प्रेमी जोड़ियों की हर मुराद यहां होती है पूरी, जानिए भगवान गणपति को समर्पित इस मंदिर के बारें में-

भारत विविधताओं का देश है इसलिए यहां के हर राज्य और हर शहर की परंपरा और संस्कृति की चर्चा पूरे देश समेत विश्व में भी है। इसके अलावा हमारे देश में ऐसे कई रहस्यमयी और चमत्कारी मंदिर मौजूद हैं जिनकी अपनी अलग-अलग विशेषताएं हैं और उन सभी के बारें में आप सभी पढ़ते-सुनते हैं।

मौजूदा समय में देशभर में गणेशोत्सव का आयोजन बहुत ही धूम-धाम से हो रहा है। सभी अपने-अपने कष्ट निवारण हेतु गणपति की पूजा-अर्चना कर रहे हैं। इसी बीच भगवान गणपति के एक प्राचीन मंदिर की चर्चा काफी जोर पकड़ रही हैं। इस प्राचीन मंदिर के बारें में यह माना जाता है कि, जो भी प्रेमी जोड़ा इश्वर का दर्शन करने के लिए इस चमत्कारी मंदिर में जाता है इश्वर उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी करता है। तो चलिए जानते हैं इस चमत्कारी मंदिर के बारें में-

कहां स्थित है यह चमत्कारी मंदिर?

भारत के लोग इश्वर में असीम श्रद्धा और विश्वास रखते हैं इसलिए यहां लाखों की सन्ख्या में मंदिर मौजूद हैं। लेकिन हम जिस मंदिर की बात कर रहे हैं उसका नाम “इश्किया गणेश मंदिर” (Ishkiyan Ganesh Temple) है जो राजस्थान (Rajasthan) के जोधपुर (Jodhpur) में स्थित है। इस मंदिर को प्रेमी जोड़ों के लिए बहुत ही खास माना जाता है। यह मंदिर देवो के देव महादेव के पुत्र भगवान श्री गणेश को समर्पित है।

क्या है इश्किया गणेश मंदिर का इतिहास?

हमारे देश में बहुत सारी जगहें ऐसी हैं जो अपने भीतर एक रोचक इतिहास समेटे हुए है और सबकी एक अलग कहानी है। उसी प्रकार इश्किया मंदिर की भी अपनी रोचक कहानी है। इस मंदिर के बारें में कहा जाता है कि, इसकी स्थापना 100 वर्ष पूर्व हुई थी वहीं कुछ लोगों का मत है कि भगवान गणपति के इस मंदिर का निर्माण शहर की सुरक्षा की दृष्टि से किया गया था।

यह भी पढ़ें:- जानिए भारत के अनोखे गांव के बारें में, जहां लोगों को नाम से नहीं बल्कि सीटी बजाकर पुकारा जाता है।

गणपति के इस मंदिर का नाम कैसे पड़ा इश्किया गणेश मंदिर?

लोगों के अनुसार, इश्किया गणेश मंदिर (Ishkiyan Ganesh Temple) की बनावट इस प्रकार हुई है कि यहां से कोई भी इन्सान दूर से किसी अन्य इन्सान को देखने में समर्थता नहीं है। मंदिर निमार्ण की इसी विशेषता की वजह से कई प्रेमी जोड़ें लोगों की नजरों से बचकर यहां मिलने के आते थे। इस प्रकार धीरे-धीरे यह मंदिर प्रेमी जोड़ों के लिए काफी मशहूर हो गया।

बता दें कि, यहां आनेवाले श्रद्धालु भक्त भगवान गणपति का दर्शन करते हैं और शादी की मनोकामना करते हैं। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि प्रेमी जोड़ें शादी के बाद पुन: भगवान के दर्शन करने और उनका आशीर्वाद लेने के लिए यहां आते हैं। साथ ही उनका धन्यवाद भी करते हैं। इस प्रकार इस भगवान गणेश को समर्पित यह मंदिर इश्किया गणेश मंदिर के नाम से मशहूर हो गया।

राजस्थान के अलग-अलग शहरों से आते हैं लोग

इश्किया गणेश मंदिर (Ishkiya Ganesh Temple) में अब सिर्फ प्रेमी युगल ही नहीं बल्कि विवाहित परिजन भी मंगलवार और शनिवार के दिन अपनी-अपनी कामना लेकर इश्वर का दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर इतना मशहूर है कि यहां राजस्थान के अन्य कई शहरों के प्रेमी अपनी मुराद लेकर यहां पहुंचते हैं और इश्वर का दर्शन करते हैं।

धूम-धाम से आयोजित होता है गणेश उत्सव

अन्य गणेश मंदिरों की तरह यहां भी गणेश उत्सव (Ganesh Utsav) का आयोजन बहुत ही धूम-धाम से होता है और कई सारे कार्यक्रम का भी आयोजन होता है जिसे देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ लगती है। लोग अपनी कामना की पूर्ति हेतु यहां भक्तिपूर्वक पूजा-अर्चना करते हैं।

उम्मीद करते हैं भगवान गणेश के इस चमत्कारी मंदिर के बारें में जानकर अच्छा लगा होगा। ऐसे ही अन्य रोचक जानकारियों के लिए The Logically के साथ बने रहें।