Virtual shopping malls

अब तक ई कॉमर्स वेबसाइट से हम घर बैठे ही शॉपिंग कर लेते थे। लेकिन इसमें बाज़ार वाला फील कहां मिल पाता है। कहने का मतलब ये है कि शॉपिंग मॉल में जब आप प्रवेश करते हैं तो तरह – तरह के ब्रांड्स और स्टोर्स में घूम – घूम कर शॉपिंग करने की बात ही अलग होती है। यह सब ई कॉमर्स वेबसाइट (Ecommee websites) पर तो संभव नहीं हो पाता। लेकिन टेक्नोलॉजी ने इतनी तरक्की कर ली है कि घर बैठे अब आपको शॉपिंग मॉल (Virtual shopping malls) में होने का एहसास कराने की तैयारी हो रही है।

उत्तर प्रदेश के एमएसएमई (Micro, small and medium enterprises) और खादी ग्रामोद्योग विभाग ने मिलकर 3 डी तकनीक पर आधारित वर्चुअल एक्जीविशन मॉल को खोलने की योजना तैयार की है। लखनऊ की इस वर्चुअल मॉल को जल्द ही सभी लोगों के लिए खोला जाएगा।

Virtual shopping malls

कैसे बिकेगा सामान?

-मॉल में लगे सभी स्टॉल 3डी तकनीक पर आधारित होंगे। याबिवकी घर बैठे आप इन प्रोडक्ट्स को 3D
में देख पाएंगे।
-सभी प्रोडक्ट खरीदारों को स्पष्ट तरीके से साफ नजर आएंगे।
-हर तरफ से प्रोडक्ट को देखा जा सकेगा, फोटो और वीडियो क्लियर होगा।
-सामान पसंद आने पर ऑनलाइन आर्डर किया जा सकेगा।
-घर बैठकर पीसी, लैपटॉप, मोबाइल एप के जरिए मॉल के ब्रांडेड स्टोर से शॉपिंग किया जाएगा।

क्या होगी वर्चुअल मॉल की खासियत ?

-यह देश का पहला 3 डी तकनीक पर आधारित वर्चुअल मॉल होगा।
-एमएसएमई और खादी ग्रामोद्योग विभाग मिलकर इस मॉल को संचालित करेंगे।
-यह मॉल ऑनलाइन कारोबार का ऐसा प्लेटफार्म होगा जो 24 घंटे खुला रहेगा।

  • किसी भी समय उत्पादों की खरीद और बिक्री कर सकेंगे।
    -प्रदर्शनी में ओडीओपी,एमएसएमई, खादी ग्रामोद्योग और हस्तशिल्प के प्रोडक्ट होंगे।
    -ऑनलाइन प्लेटफार्म पर एक बार में कम से कम 500 स्टॉल होंगे।
    -विदेशी खरीदार मॉल से अपने पसंद प्रोडक्ट ऑर्डर कर सकेंगे
    -घर बैठकर ही शॉपिंग मॉल घूमने का मजा लिया जा सकेगा।

यहां आपको कैसे आवंटित होगा स्टॉल?

-इस वर्चुअल मॉल में किसी एक का कब्जा नहीं होगा। स्टॉलों के आवंटन में चक्रीय व्यवस्था लागू होगी।
-उप्र का कोई भी व्यापारी रजिस्ट्रेशन के बाद मॉल में समान बेच सकेगा।
-स्टॉल शिल्पकार, कारीगर, उत्पादक या निर्यातक तय समय के लिए मिलेगा।
-तय सीमा के बाद दूसरे कारोबारियों को मौका दिया जाएगा।
-मॉल में समय-समय पर कारोबारी एक्टिविटी की जाएगी।
-उत्पादकों, निर्यातकों और कारीगरों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

नोएडा में भी खुला था भारत का पहला वर्चुअल मॉल

दुनिया का पहला वर्चुअल स्टोर टेस्को होमप्लस (Tesco Homeplus) था, जो दक्षिण कोरिया में है। इस स्टोर में 500 से अधिक पापुलर ब्रांड के प्रोडक्ट डिस्प्ले किए गए हैं। बात करें भारत की तो नोएडा में 2019 में खुला डिजिटल मॉल ऑफ एशिया भारत का पहला वर्चुअल डिजिटल मॉल था।