Sunday, October 24, 2021

अनोखा पेड़ : एक ऐसा पेड़ जिसे छुते ही इंसानों की तरह लगती है गुदगुदी, जानिए लाफिंग ट्री के नाम मशहूर इस पेड़ के बारे में

हम सभी ने इंसानों को गुदगुदी लगते हुए तो अवश्य देखा है और खुद भी महसूस किया हैं, लेकिन हममें से कोई भी यह कल्पना भी नहीं कर सकता है कि पेड़ो को भी गुदगुदी लगती है। हालांकि यह सच है कि एक ऐसा भी पेड़ है जिसे छूने मात्र से ही गुदगुदी लगती है और वह खिलखिला उठता है।

know about laughing tree of kaladhungi forest, Uttarakhand

कहां स्थित है ऐसा पेड़?

हम जिस पेड़ की बात कर रहे हैं वह भारत के उत्तराखंड राज्य के कालाढूंगी में पाया जाता है, जहां इसे “थनेला” नाम से जाना जाता है। इस पेड़ का वानस्पतिक नाम “रंडिया डूमेटोरेम” है। ये रूबीएसी प्रजाति का पेड़ होता है 300 से 1300 मीटर की उंचाई पर पाया जाता है।

know about laughing tree of kaladhungi forest, Uttarakhand

लॉफिंग ट्री के नाम से है मशहूर

इस पेड़ के टहनियों को सहलाने पर यह हिलने लगती है, जिसके वजह से इसे “लाफिंग ट्री” के नाम से भी जाना जाता है।

रिपोर्ट के अनुसार, वन विभाग के पास इसकी कोई अधिकारिक जानकारी नहीं है। हालांकि, वन विभाग के एक अधिकारी ने स्थानीय लोगों की बात इस बात की माना है कि पेड़ को सहलाने पर टहनियां हिलने लगती है, लेकिन उस अधिकारी ने हंसने शब्द का प्रयोग नहीं किया है।

know about laughing tree of kaladhungi forest, Uttarakhand

पर्यटकों की लगती है भीड़

कालाढूंगी में ऐसे दो पेड़ हैं जिन्हें कार्बेट ग्राम विकास समिति ने पर्यटन से जोड़ दिया है। यह पेड़ को देखने के लिए पर्यटकों का तांता लगा रहता है। इसके अलावा वे इसे गुदगुदाना नहीं भूलते हैं।

know about laughing tree of kaladhungi forest, Uttarakhand

शोधकर्ताओं की टीम कर रही है रिसर्च

एक तरफ जहां यह पेड़ पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है, वहीं दूसरी ओर इस पेड़ की अनोखी हरकतों के बारे में वैज्ञानिक रिसर्च कर रहे हैं। वैज्ञानिक इस पेड़ के बारे में यह जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं कि आखिर क्या कारण है कि इस पेड़ को सहलाने पर पेड़ की कहानियां हिलने लगती है। -Laughing tree of kaladhungi forest, Uttarakhand