Wednesday, December 2, 2020

ख़ुद की जान गवां दिए लेकिन नदी में डूबते तीन बच्चों को बचा लिए: Manjeet Singh

हम अपने आस-पास अक्सर लोगों को किस्से-कहानियों में एक दूसरे के लिए जान देने की बात कहते सुनते हैं। कुछ लोगों के लिए यह बस कहने की बात हो सकती है.. पर हर किसी के लिए नहीं। कुछ लोग दूसरों की जान बचाने के लिए अपनी जान दाव पर ही नहीं लगाते बल्कि अपनी जान गवां भी देते है। आज के इस मतलबी दुनिया में एक ऐसे ही शक्स थे मंजीत सिंह जो दूसरों के लिए अपनी जान की बाजी लगा दिए और ख़ुद इस दुनिया को अलविदा कह गए।

मंजीत सिंह (Manjeet Singh) फ्रेस्नो (Fresno) के रहने वाले थे जो 5 अगस्त की शाम को अमेरिका के Reedley beach पर 3 बच्चों की जान बचाने में अपनी जिंदगी की जंग से हार गए। बुधवार की शाम को मंजीत किंग्स नदी पर घूमने गए थे। वहां उन्होंने देखा कि 3 बच्चे नदी में डूब रहे। उनको बचाने के लिए मंजीत नदी में कूद पड़े। बच्चों की जान तो बच गई लेकिन मंजीत की नदी में डूबने से मौत हो गई।

Credit-CNN

ABC30 की रिपोर्ट के मुताबिक़ मंजीत (Manjeet Singh) सिंह 2 साल पहले भारत से यूएस (UAS) गए थे। कुछ दिन पहले ही फ्रेस्नो (Fresno) जाकर ट्रक का अपना बिजनेस शुरू किए थे। 5 अगस्त को ही एक स्कूल की शुरुआत भी की थी जहां ट्रक ड्राइविंग की ट्रेनिंग दी जा रही थी।

ट्रेनिंग के बाद वह शाम को किंग्स नदी पर घूमने गए। वहां नदी के किनारे ही 3 बच्चें खेल रहे थें जिनमें दो लड़कियां और 1 लड़का था। लड़के की उम्र 10 साल है, वहीं दोनों लडकियां 8 साल की है। तीनों बच्चों को नदी के किनारे खेलने के दौरान करेंट का झटका लगा। जिसके बाद वे पुल से नीचे पानी में गिर गए। मंजीत वहीं खड़े थे। बच्चों की ऐसी हालत देखकर उन्हें बचाने के लिए वह भी नदी में कूद पड़े। नदी किनारे खड़े लोगों की मदद से तीनों बच्चों की जान बच गई लेकिन दुर्भाग्यवश मंजीत नदी में डूब गए और उनकी मौत हो गई।

29 वर्षीय मंजीत सिंह ऐसे बच्चों की मदद के लिए अपनी जान गवां दिए जिन्हें वह जानते तक नहीं थे। The logically ईश्वर से मंजीत सिंह के आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता है।

Anita Chaudhary
Anita is an academic excellence in the field of education , She loves working on community issues and at the same times , she is trying to explore positivity of the world.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

इंजीनियरिंग के बाद नौकरी के दौरान पढाई जारी रखी, 4 साल के अथक प्रयास के बाद UPSC निकाल IAS बने

आज हमारे देश में कई बच्चे पढ़ाई के दम पर ऊंचे मुकाम हासिल कर रहे हैं। वे यूपीएससी की तैयारी कर लोक सेवा के...

पुलवामा शहीदों के नाम पर उगाये वन, 40 शहीदों के नाम पर 40 हज़ार पेड़ लगा चुके हैं

अक्सर हम सभी पेड़ से पक्षियों के घोंसले को गिरते तथा अंडे को टूटते हुए देखा है। यदि हम बात करें पक्षियों की संख्या...

ईस IAS अफसर ने गांव के उत्थान के लिए खूब कार्य किये, इनके नाम पर ग्रामीण वासियों ने गांव का नाम रख दिया

ऐसे तो यूपीएससी की परीक्षा पास करते ही सभी समाज के लिए प्रेरणा बन जाते है पर ऐसे अफसर बहुत कम है जिन्होंने सच...

गांव के लोगों ने खुद के परिश्रम से खोदे तलाब, लगभग 6 गांवों की पानी की समस्या हुई खत्म

कुछ लोग कहते हैं कि तीसरा विश्वयुद्ध पानी के लिए लड़ा जाएगा। पता नहीं इस बात में सच्चाई है या नहीं, पर एक बात...