जीविका के लिए कभी बीड़ी बनाने वाली 59 वर्षीय दादी अचानक अपने हुनर से साउथ फिल्मों की स्टार बन गई: प्रेरणा

268

मनुष्य का जीवन बहुत ही संघर्ष भरा होता है। उसके जीवन में बहुत सी कठिनाइयां आती है जिनका सामना उसे अकेले ही करना होता है। हम सभी को पता है आज इस आधुनिक दौर में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। वह अपने परिवार का भरण-पोषण अपने बलबुते पर कर सकती हैं। अगर एक महिला शादीशुदा हैं और उसका पति नशीले पदार्थों का सेवन करता है तो जाहिर सी बात है उसके घर-परिवार में कोई भी सुखी नहीं रहेगा। उसके घर-परिवार का जीवन-यापन बहुत ही कष्टमय हो जायेगा। ऐसी स्थिति में भी हमारे देश की औरतें अपना और अपने परिवार का अच्छे से ख़्याल रख सकती हैं और खुद के अन्दर छिपी प्रतिभा के दम पर एक कामयाब होकर भी दिखा सकती हैं।

आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारें में बताने जा रहें हैं, जिनका पति नशा करता है। ऐसे में घर का खर्च चलाने के लिये खेत में मजदूरी और बीड़ी बनाने वाली महिला अपने प्रतिभा के दम पर आज सुपरस्टार बन गईं हैं। इतना ही नहीं वह अन्य दूसरें प्रतियोगी को कड़ी टक्कर भी दे रही हैं।

आइए जानतें हैं उनके बारें में।

मिल्कूरी गंगव्वा (Milkuri Gangawwa) अपना जीवन बहुत ही कष्टमयता से गुजारी हैं। यह मल्लीयाल मंडल (Malleeyaal Mandal) की रहनें वाली हैं। मिल्कूरी गंगव्वा के पति शराबी हैं। गंगव्वा के 3 बच्चें हैं। इनकी उम्र 59 साल हैं। यह अपने घर-परिवार का गुजारा करने के लिये खेतों में कुली का काम करती थी। खेतों में कुली का कार्य करने से अपना, अपने शराबी पति और 3 बच्चों का जीवन यापन बहुत ही मुश्किल से कर पाती थी। इसलिये खेतों में काम करने के अलावा वह अलग से बीड़ी बनाने का काम भी करती थी।  

कभी-कभी इन्सान को अपनी अंदर छिपी प्रतिभा को जानने व समझने में समय लग जाता है। गंगव्वा को भी अपनी अन्दर की कार्यक्षमता को पहचानने में समय लगा। गंगव्वा के दामाद का नाम नाम श्रीकांत श्रीराम हैं। श्रीकांत श्रीराम और अनिल गीवा दोनों ने मिलकर मल्लीयाल मंडल गांव के बारें में फिल्म बनाने का विचार किया। ग्रामीण जीवन पर बनने वाले फिल्म में मिल्किरी गंगव्वा को भी काम करने का अवसर मिला। श्रीकांत श्रीराम ने साल 2016 में फिल्म की शूटिंग आरंभ की। इस विडियो में गंगव्वा ने भी किरदार निभाया। 

इस फिल्म में ग्रामीण जीवन को एक हास्यापद और व्यंगात्मक दंग से दर्शाया गया है। यह वीडियो YouTube पर बहुत ही ज्यादा मशहूर हो गया। गंगव्वा (Gangawwa) दादी की लोकप्रियता भी बढ़ गईं। लोगों ने फिल्म में उनके अभिनय को बहुत सराहा और वह एक अभिनेत्री के रूप में काम करना शुरु कर दी। उन्होंने तेलंगाना (Telangana) में गांव से शहर की ओर का अपना सफर शुरु किया। उनका यह सफर उन्हें कामयाबी के ऊंचे मुकाम तक पहुंचा दिया। गंगव्वा दादी की लोकप्रियता इतनी बढ़ गई कि उन्हें अलग-अलग टीवी के शो और फिल्मों में काम करने के लिये आमंत्रण भी मिलने लगे। बेजोड़ तेलगु उच्चारण ने गंगव्वा दादी को तेलगु फिल्म इन्डस्ट्री में एक अलग ही लोकप्रियता के मुकाम तक पहुंचा दिया। मिल्कूरी गंगव्वा YouTube पर श्रीकांत श्रीराम द्वारा बनाई गई फिल्म से मशहूर होने के बाद गंगव्वा ने तेलगु फिल्म में अपने करियर की शुरुआत की और तेलगु फिल्मों में वह अभिनेत्री के रूप में काम करना आरंभ कर दी।

मिल्कूरी गंगव्वा ने मलेश्वरम और iSmartShankar के जैसी और भी कई तेलगु फिल्मों में अपने अभिनय से लोगों के दिलों पर छा गईं हैं। मिल्कूरी गंगव्वा के YouTube शो का नाम “माय विलेज शो” है। इस वर्ष के सितम्बर माह में (September, 2020) में “माय विलेज शो” के 1.65 M फॉलोवर्स (Followers) हो गए हैं। मिल्कूरी गंगव्वा का एक इंस्टाग्राम एकाउन्ट भी है जिसमे 48 हज़ार फॉलोवर्स है। मिल्कूरी गंगव्वा को तेलंगाना राज्य के राज्यपाल (Governor) तिमिलिसाई साउंडराजन (Timilisae Saaundrajan) ने वुमन अचीवर अवार्ड (Women Achiever Awards) से सम्मानित किया है। मिल्कूरी गंगव्वा ने यह सिद्ध कर दिखाया कि सफलता पाने के लिये अपने लक्ष्य के प्रति दृढ़ निश्चय होना बहुत ज़रूरी है।

सच्ची निष्ठा से किया गया काम कभी भी बेकार नहीं जाता हैं। The Logically मिल्कूरी गंगव्वा और उनकी प्रतिभा को नमन करता है।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here