Tuesday, April 20, 2021

किसानों की मेहनत और मानसून से हुई खाद्यानों में रिकॉर्ड बढ़त, कृषि मंत्रयालय ने जारी किए आंकड़ें

किसानों की मेहनत और मौसम का बेहतर होना, दोनों का प्रभाव इस बार खाद्यान्न के उत्पादन पर दिखाई दे रहा है। कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार कई चीज़ों में पिछ्ले 5 वर्षों के मुकाबले में इस बार रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है। वर्ष 2020-21 में खाद्यान्न उत्पादन नई ऊंचाई छूने वाला है।

केंद्रीय कृषि मंत्रीं नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने ताज़ा आंकड़े पेश करते हुए कहा कि चालू फसल वर्ष में खाद्यान्न की फसल पैदावार 30.33 करोड़ टन से भी ऊपर जाने की संभावना है। इस तरह से यह अभी तक का सबसे रिकॉर्ड उत्पादन वर्ष सिद्ध होने वाला है। आपको बता दें कि पिछ्ले वर्ष में खाद्यान्न का उत्पादन स्तर 29.75 करोड़ टन था।

खाद्यान्न का उत्पादन इस वर्ष चावल, गेहूं, दाल और मोटे अनाज के रूप में इसका उत्पादन इस वर्ष 2 फीसदी अधिक रहेगा। पैदावार बढ़ोतरी में मानसून अच्छा रहने की बहुत अहम भूमिका रही है। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि उत्पादन वृद्घि में किसानों की कठिन मेहनत के अलावा वैज्ञानिकों के प्रयास और केन्द्र सरकार की अच्छी पहल की भी भूमिका रही है।

National agricultural production

आंकड़ों के अनुसार, चालू फसल वर्ष में चावल का उत्पादन 12 करोड़ टन के स्तर को पार कर जाएगा। पिछ्ले वर्ष इसका उत्पादन 11.88 करोड़ टन था। इसी तरह गेहूं का उत्पादन पिछ्ले वर्ष 10.78 करोड़ टन था जो बढ़कर 10.92 करोड़ टन के ऊपर चला जायेगा। इसके अलावा मोटे अनाज की पैदावार भी 4.93 करोड़ टन से अधिक होगी। इसी के साथ दाल का उत्पादन भी 2.44 करोड़ टन पहूंचने का अनुमान है जबकी पिछ्ले साल इसका कुल पैदावार 2.30 करोड़ टन था।

गैर-खाद्यान्न में तिलहन का उत्पादन इस बार बढ़कर 3.73 करोड़ टन के स्तर पर पहुंच जायेगा। इसी तरह गन्ने का उत्पादन 39.76 करोड़ टन और कपास की पैदावार बढ़कर 3.65 करोड़ बेल्स की हो जायेगी।

National agricultural production

खाद्यान्न एक नजर में :-

खाद्यान्न :- 303.34 मिलियन टन, जो पिछ्ले 5 वर्षों के औसत खाद्यान्न के मुकाबले में 24.47 मिलियन टन अधिक है।

चावल :- 120.32 मिलियन टन (रिकॉर्ड), जो पिछ्ले 5 वर्षों के 112.44 मिलियन टन औसत उतपादन की तुलना में 7.88 मिलियन टन अधिक है।

गेंहू :- 109.24 मिलियन टन (रिकॉर्ड), जो बिते 5 वर्षों के 100.42 मिलियन टन उत्पादन के मुकाबले 8.81 मिलियन टन अधिक है।

मोटा अनाज/पोषक :- 49.36 मिलियन टन, जो वर्ष 2019-20 के दौरान 47.75 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में 1.62 मिलियन टन अधिक है। यह औसत उत्पादन के मुकाबले 5.35 मिलियन टन अधिक है।

मक्का :- 30.16 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

दलहन :- 24.42 मिलियन टन जो पिछ्ले पांच वर्षों के 21.99 मिलियन टन औसत उत्पादन की तुलना में 2.43 मिलियन टन अधिक है।

गन्ना:- 397.66 मिलियन टन, जो वर्ष 2020-21 के दौरान गन्ने का पैदावार औसत गन्ना उत्पादन 362.07 मिलियन टन के मुकाबले 35.59 मिलियन टन ज़्यादा है।

कपास :- 36.54 मिलियन गांठे, यह औसत कपास उत्पादन के मुकाबले 4.65 मिलियन गांठे ज़्यादा है।

पटसन और मेस्टा :- 9.78 मिलियन गांठे।

तूर :- 3.88 मिलियन टन

चना :- 11.62 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

तिलहन :- 37.31 मिलियन टन

मूंगफली :- 10.15 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

सोयाबीन :- 13.71 मिलियन टन

रेपसीड और सरसों :- 10.43 मिलियन टन

Shikha Singh
Shikha is a multi dimensional personality. She is currently pursuing her BCA degree. She wants to bring unheard stories of social heroes in front of the world through her articles.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय