Tuesday, April 20, 2021

अनपढ़ माँ ने बेटे को पढाकर IIT भेजा, दीक्षांत समारोह में बेटे की सफलता देख माँ की आंखे हुई नम

माता-पिता के द्वारा की गई कड़ी मेहनत को देखते हुए अक्सर बच्चे में भी कुछ कर दिखाने की प्रेरणा आती है। बिना चिंता किए माता-पिता भी अपने बच्चे को हर तरह की शिक्षा अर्जित करवाने के लिए प्रायसरत रहते हैं। सिर्फ इतना हीं नहीं वो उनके अच्छे भविष्य के लिए हर मुमकिन प्रयास भी करते हैं। वो अपने इस मेहनत के बदले बस अपने बच्चे का सफल जीवन चाहते हैं।

बहुत से ऐसे माता-पिता हैं जो बहुत ज्यादा पढ़े-लिखे ना होने के बावजूद भी अपने बच्चों की पढ़ाई में दिक्कत नहीं आने देते और ना कभी उन्हें हार मनाने देते हैं। वह हमेशा यही प्रेरणा देते हैं कि हमे हर कठिन प्रयास करना चाहिए। जो हमें हर ऊंचाई प्राप्त करने की हिम्मत देता है। आज हम एक ऐसी ही कहानी के बारे में बात करेंगे जो नेटवर्किंग प्लेटफ़ॉर्म पर बिल्कुल चित्रित की गई है।

Prakash jhadhav

प्रकाश जाधव ( prakash Jaadav)

पोस्टों के माध्यम से ब्राउज के जरिए प्रकाश जाधव नाम के एक व्यक्ति की जानकारी मिली। पोस्ट में प्रकाश की दीक्षांत समारोह में उपाधि प्राप्त करने की छवि थी। उस तस्वीर में प्रकाश स्नातक गाउन में तथा उनकी माँ गुलाबी नौवारी साड़ी में दिखी। इस तस्वीर में साफ देखा जा सकता था कि प्रकाश जो अभी-अभी अपनी डिग्री प्राप्त किए हैं उनकी तुलना में उनकी माँ दस गुना अधिक खुश थीं।

माँ के साथ भावनात्मक पोस्ट

प्रकाश उस दिनों के बारे में बताते हुए कहते हैं कि वह दिन मेरे जीवन के सबसे कीमती दिनों में से एक था। उन्होंने अब्राहम लिंकन के हवाले से कहा “मुझे अपनी माँ की प्रार्थनाएँ याद हैं और उन्होंने हमेशा मेरा अनुसरण किया है। उनके इस भावनात्मक पोस्ट को निश्चित रूप से बहुत प्रशंसा और टिप्पणियां मिलीं।

यह भी पढ़ें :- गरीबी के कारण माँ के साथ घूमकर चूड़ी बेचा करते थे, अथक प्रयास से आज IAS बन चुके हैं: प्रेरणा

प्रकाश की जीवन कथा

देश और दुनिया भर के लोगों ने प्रकाश को न भूलने के लिए उनकी कोशिशों की सराहना करता है। प्रकाश ने बताया कि उनकी माँ ने उन्हें जीवन के इस पड़ाव पर पहुँचाया है। प्रकाश कॉलेज से पास होने के बाद विश्वविद्यालय में रैंक 1 प्राप्त करने के साथ-साथ कॉलेज, बीएससी में भूविज्ञान में विशेषज्ञता हासिल की। उनसे सीख लेते हुआ हर किसी को अपने माता-पिता के लिए कुछ करना चाहिये।

The logically प्रकाश जाधव की कामयाबी पर उन्हें बधाई देता है तथा अन्य युवाओं को उनसे सीख लेने की अपील करता है।

प्रियंका ठाकुर
बिहार के ग्रामीण परिवेश से निकलकर शहर की भागदौड़ के साथ तालमेल बनाने के साथ ही प्रियंका सकारात्मक पत्रकारिता में अपनी हाथ आजमा रही हैं। ह्यूमन स्टोरीज़, पर्यावरण, शिक्षा जैसे अनेकों मुद्दों पर लेख के माध्यम से प्रियंका अपने विचार प्रकट करती हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय