Sunday, November 29, 2020

राजनीति के पुरुषवादी सत्तारूढ़ को तोड़ते हुए विदेश से पढ़ कर आई पुष्पम प्रिया चौधरी महिलाओं के लिए पथप्रदर्शक साबित हो रही हैं

बिहार में विधान सभा का चुनाव बहुत ही नजदीक है। समय भी तय हो चुका है। सभी उम्मीदवार अपने-अपने स्तर से पूरे जोर-शोर से चुनाव की तैयारी में लगे हुए हैं। आज कल बिहार की नई युवा महिला प्रत्याशी पुष्पम प्रिया चौधरी की चर्चा हर किसी के ज़ुबान पर है। पुष्पम प्रिया चौधरी भी अपने प्लूरल्स पार्टी के साथ मैदान में उतर चुकी हैं, बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लालू यादव तक को चुनौती दे चुकी हैं।

आजकल जगह-जगह और सोशल मीडिया पर एक ब्लैक ड्रेस वाली लड़की खूब सुर्खियों में है, जिनका नाम है, पुष्पम प्रिया चौधरी। पुष्पम अपने दम पर बिना किसी दल में शामिल हुए प्लुरलस पार्टी का गठन कर चुनावी दौर में उतर चुकी हैं।

क्या है पुष्पम प्रिया चौधरी की चुनौती ?

पुष्पम प्रिया चौधरी (Pushpam Priya Choudhary) ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है –
वह राजधानी पटना के बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र (182) से चुनाव लड़ रही हैं। वह प्लुरलस पार्टी (Plurals Party) की ओर से बिहार की मुख्यमंत्री उम्मीदवार है। वह सत्ताधारी दल जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) जी और मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) जी से गुजारिश करने के साथ आदर पूर्वक चुनौती दी है कि वे अपने मुख्यमंत्री उम्मीदवार को पटना के इस ऐतिहासिक सीट और और उनकी 45 वर्षों की राजनीति के केंद्र से चुनाव लड़ाएं और अपने-अपने 15 वर्षों के शासन पर जनमत-संग्रह प्राप्त करें क्योंकि यह चुनाव उनके तीस साल के तथाकथित सामाजिक न्याय और सुशासन के दावों और बिहार के बीच है। पुष्पम ने यह भी कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी, अपने 15 वर्षों के शासन काल में एक भी चुनाव नहीं लड़े है। वह अपनी इस ऐतिहासिक राजधानी से चुनाव लड़ें क्योंकि बिहार की जनता को जबाव चाहिए और पुष्पम उन्हें जवाब दिए बिना नहीं जाने देंगी।

ब्लैक ड्रेस में नजर आने वाली पुष्पम प्रिया चौधरी की सियासत किस ओर जाएगी… किसकी जीत होगी… किसकी हार… यह वक्त ही बताएगा, लेकिन एक लड़की का इतने बड़े नेताओं को चुनौती देना बहुत बड़ी बात है।

कौन है पुष्पम प्रिया चौधरी ?

बिहार की पुष्पम प्रिया चौधरी ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से मास्टर्स की पढ़ाई पूरी की है। वह पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन विषय में अपनी डिग्री हासिल की है। पुष्पम का राजनीति से कोई नया जुड़ाव नहीं है, पहले भी उनके पिता विनोद चौधरी जनता दल यूनाइटेड से विधान परिषद के सदस्य रह चुके हैं। हालांकि पिता के राजनीति से पुष्पम का कोई खास लगाव नहीं है वह अपनी अलग पार्टी का गठन कर उम्मीदवार बनी हैं।

पुष्पम प्रिया चौधरी (Pushpam Priya Choudhary) एक युवा महिला नेता होते हुए भी अपने बल बूते पर बेख़ौफ़ राजनीति में जो माहौल बनाया है वह प्रेरणादायक है, उम्मीद है बिहार की जनता उन्हें सपोर्ट करेगी और अपना नेता चुनेगी।

Anita Chaudhary
Anita is an academic excellence in the field of education , She loves working on community issues and at the same times , she is trying to explore positivity of the world.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

30 साल पहले माँ ने शुरू किया था मशरूम की खेती, बेटों ने उसे बना दिया बड़ा ब्रांड: खूब होती है कमाई

आज की कहानी एक ऐसी मां और बेटो की जोड़ी की है, जिन्होंने मशरूम की खेती को एक ब्रांड के रूप में स्थापित किया...

भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन ‘तेजस’ बन्द होने के कगार पर पहुंच चुकी है: जानिए कैसे

तकनीक के इस दौर में पहले की अपेक्षा अब हर कार्य करना सम्भव हो चुका है। बात अगर सफर की हो तो लोग पहले...

आम, अनार से लेकर इलायची तक, कुल 300 तरीकों के पौधे दिल्ली का यह युवा अपने घर पर लगा रखा है

बागबानी बहुत से लोग एक शौक़ के तौर पर करते हैं और कुछ ऐसे भी है जो तनावमुक्त रहने के लिए करते हैं। आज...

डॉक्टरी की पढ़ाई के बाद मात्र 24 की उम्र में बनी सरपंच, ग्रामीण विकास है मुख्य उद्देश्य

आज के दौर में महिलाएं पुरुषों के कदम में कदम मिलाकर चल रही हैं। समाज की दशा और दिशा दोनों को सुधारने में महिलाएं...