Thursday, February 2, 2023

फल विक्रेता के बेटे ने Natural Ice Cream बनाया और खङा किया 300 करोड़ का बिजनेस

कोई भी इंसान सफल यूं ही नहीं होता बल्कि उसे जी-तोड़ मेहनत करनी पड़ती है। तब जाकर वो एक हज़ारों के भीड़ में अपनी पहचान बना पाता है। आज हम आपको एक ऐसे शख़्स के विषय में बताएंगे जिनका जन्म गरीब परिवार में हुआ परन्तु आज वही इंसान अन्य युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत बना है। आज उनका अरबों का साम्राज्य है।

गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले रघुनंदन श्रीनिवासन कामत की कहानी

वह युवा हैं रघुनंदन श्रीनिवास कामत जो एक फल विक्रेता के बेटे हैं। वह कर्नाटक से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता फल तथा लकड़ियों को बेचकर आजीविका चलाया करते थे। उनके घर में 7 बच्चे थे जिस कारण उनके पालन-पोषण में कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था। धीरे-धीरे दिन बदला और वे सभी लोग बड़े होने लगे। सभी भाईयों ने अपनी-अपनी जिम्मेदारी ले ली और काम करने लगे। वह भी 1966 में अपने एक भाई के पास मुंबई गया ताकि जॉब कर सकें। Naturals Ice Cream Mumbai

यह भी पढ़ें:-बनारस से असम तक क्रूज जहाज के सफर का मजा, तैरते हुए घाट के साथ कई तरह के होंगे आकर्षण

मुंबई में उनके भाई गोकुल नामक ढाबा चलाते थे। यहां वह अपने भाई के साथ काम करने लगे। यहां के आइसक्रीम को देखकर उन्होंने ये तय किया कि वह एक ना एक दिन आइसक्रीम का व्यवसाय शुरू करेंगे। अब उनकी शादी हो गई और जीवन में काफी आगे बढ़ गए। अब उन्होंने आइसक्रीम का व्यवसाय प्रारंभ कर दिया हालांकि यह उनके लिए काफी प्रतियोगिता से भरा हुआ था। Naturals Ice Cream Mumbai

Raghunandan Srinivas Kamath made natural ice cream

ऐसे हुआ बिजनेस शुरू

उन्होंने Naturals Ice Cream Mumbai नाम से इसकी शुरुआत की। उन्होंने इसके साथ मसालेदार पावभाजी का भी कार्य प्रारंभ कर दिया ताकि उनके यहां अधिक से अधिक लोग आए। लोग पावभाजी खाने के बाद आइसक्रीम खरीदा करते थे ताकि ठंडक मिले और मिठास रहे। वह आइसक्रीम के निर्माण में फल, दूध एवं चीनी का उपयोग किया करते थे। यह पूरी तरह नेचुरल होता था और उसमें कोई मिलावट नहीं रहती थी। वह है काजूद्राक्ष, स्ट्रावेरी, राम सीताफल तथा चाकलेट आदि के फ्लेवर वाले आइसक्रीम बनाते थे। Naturals Ice Cream Mumbai

बढ़ाया व्यवसाय

अब उन्होंने पावभाजी बनाना छोड़ दिया और सिर्फ आइसक्रीम पर ही फोकस किया। आइसक्रीम को अधिक बढ़ावा देने के लिए उन्होंने अपने ग्राहकों की सहायता में कटहल, कच्चा नारियल, जामुन आदि से भी आइसक्रीम बनाने लगे। अब उनके आइसक्रीम का डिमांड मार्केट में काफी बढ़ गया क्योंकि लोग इससे अधिक पसंद करने लगे। Naturals Ice Cream Mumbai

यह भी पढ़ें:-जिस नाम से लोगों ने ताने दिए उसी को बना दिया ब्रांड, देश के साथ विदेशों में भी होती है सप्लाई

किया करोड़ों का साम्राज्य स्थापित

आज उनके आइसक्रीम का स्वाद सिर्फ मुंबई ही नहीं बल्कि पूरे देश में लोगों के बीच फैला है। देश में उनके लगभग 135 आउटलेट हैं। वे चाहते हैं कि दिल्ली में लगभग 100 स्टोर खोलें। आज उनकी कंपनी में 20 फ्लेवर्स के आइसक्रीम का निर्माण होता है और उनका यह व्यवसाय 300 करोड़ तक पहुंच चुका है। Naturals Ice Cream Mumbai