Tuesday, May 24, 2022

एक छोटे से शहर से निकलकर पाया ऊंचा मुकाम, अपनी कम्पनी के ऐप से आज करोड़ों रूपये का व्यापार कर रहे

अगर आप कोई बड़ा सम्राज्य स्थापित करना चाहते हैं तो आपके पास सूझ-बूझ के साथ अच्छी नॉलेज एवं दृढ़इच्छा होनी चाहिए। कार्य के शुरुआती दौर में आपको बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा तब आगे चलकर आप सफलता को प्राप्त कर पाएंगे।

आज की हमारी यह कहानी एक ऐसे शख़्स की है जिन्होंने अपने सूझ-बूझ और समझदारी के साथ एक ऐसे स्टार्टअप का शुभारंभ किया जो आज उनके लिए हर महीने करोड़ो रुपए ला रहा है। आज वह सफलता की इबादत लिखकर अन्य युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत बने हुए हैं। आईए जानते हैं कि वह शख़्स कौन हैं जिनकी कम्पनी हर माह 8 करोड़ रुपए की लेन-देन कर रही है।

राहुल राज का परिचय

वह शख़्स राहुल राज (Rahul Raj) हैं जो पटना (Patna) से ताल्लुक रखते हैं। उन्होंने अपने शुरुआती शिक्षा संपन्न करने के उपरांत आईआईटी खड़कपुर से इंटीग्रेटेड मास्टर ऑफ साइंस साइड में डिग्री हासिल की। उन्हें कॉलेज से अच्छा प्लेसमेंट हासिल हुआ और भी जॉब करने लगे। परंतु वह अपने जॉब पर फोकस नहीं कर पा रहे थे इसलिए उन्होंने निश्चय किया कि वह स्वयं का बिजनेस प्रारंभ करेंगे। अब उन्होंने कोईनेक्स का शुभारंभ किया। -Rahul Raj of Patna founded the Flowbiz company with a transaction of 8000 crores

Rahul Raj success story earning a lot

एक कार्य में हुए असफल

कोइनेक्स क्रिप्टो में ट्रेड करने का प्लेटफार्म था और उस वक्त लगभग 170000000 रुपए का प्रतिदिन ट्रेड वॉल्यूम पहुंच गया था। परंतु इसे आरबीआई के फ्रेमवर्क के बाद क्लोज करना पड़ गया। परंतु उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी टीम के साथ बेंगलुरु के लिए रवाना हुए वहां जाकर उन्होंने फ्लोबिज का शुभारंभ किया। -Rahul Raj of Patna founded the Flowbiz company with a transaction of 8000 crores

यह भी पढ़ें :- कमाल का आईडिया: 19 साल के दो दोस्तों ने मिलकर 5 महीने में खङी कर दी 4300 करोड़ की कम्पनी

फ्लोबिज के फाउंडर और सीइओ हैं

उन्होंने अपने 6 वर्ष के छोटे कैरियर में 3 स्टार्टअप पर कार्य किया। उनकी प्रथम कंपनी जाइका थी जिसके द्वारा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से रेस्टोरेंट के लिए देसी फूडी और इन्नोवेटिव बिजनेस सॉल्यूशन मिलता था। इसके उपरांत उन्होंने इनशॉर्ट एवं विजागो के साथ भी कार्य किया परंतु उन्होंने बहुत जल्द इसे छोड़ दिया और फिर आगे कोईनेक्स का शुभारंभ किया था। इस प्लेटफार्म के जरिए क्रिप्टोकरेंसी को खरीदा और बेचा जा रहा था। आगे उन्होंने फ्लोबिज का शुभारंभ किया जो चल निकला और आज वह इसके सीईओ और फाउंडर हैं। फ्लोबीज मोबाइल आधारित प्लेटफॉर्म है जिसका निर्माण छोटे व्यपार के आवश्यकताओ को ध्यान में रखकर हुआ है। -Rahul Raj of Patna founded the Flowbiz company with a transaction of 8000 crores

Rahul Raj success story earning a lot

9 यूनिकॉर्न और वाइटबोर्ड कैपिटल ने लिया हिस्सा

फ्लोबिज हमारे देश का प्रथम नियो बिजनेस प्लेटफार्म है जो डिजिटलीकरण के द्वारा छोटे एवं मध्य व्यापार को विकसित करने में सहायता करना चाहता है। राहुल ने इसका शुभारंभ वर्ष 2019 में किया था जिसमें उनका सहयोग आदित्य नाईक और राकेश यादव ने भी की। इसे इन्वेस्टमेंट्स एलिवेशन कैपिटल सीकोईया कैपिटल इंडिया एवं बिनेक्स्ट से फंडिंग प्राप्त हुई है। फॉर्म के हाल के फंडिंग राउंड में अमरीश राव, नितिन गुप्ता, नीरज अरोरा, विजय शेखर शर्मा, कुणाल शाह, नीरज अरोड़ा, सयाली करंजकर, अंकित तोमर एवं कृष्ण मेनन उन 9 यूनिकॉर्न और वाइटबोर्ड कैपिटल ने हिस्सा लिया था। -Rahul Raj of Patna founded the Flowbiz company with a transaction of 8000 crores

Rahul Raj success story earning a lot

माई बिल बुक (My Bill Book) का शुभारंभ किया

हमारे देश में लगभग 64 मिलियन एमएसएमई है जिनमें से 80 फीसदी अभी भी कलम और पेपर पर कार्य करते हैं। राहुल ने अपने साथियों के साथ मिलकर उनके कार्य को सरल बनाने के लिए माई बिल बुक (My Bill Book) का शुभारंभ किया। माय बिल बुक (My Bill Book) से पहले उनके विकास को डिजिटाइज और स्केल करने में सहायता करने के लिए कोई बेहतर सॉफ्टवेयर नहीं था जिससे इसके द्वारा उन्हें अधिक मदद मिली। -Rahul Raj of Patna founded the Flowbiz company with a transaction of 8000 crores

Rahul Raj success story earning a lot

होता है 8000 करोड़ का लेन देन

उसमें उन्हें सफलता हासिल हुई और लॉन्च करने के उपरांत ही इसे लगभग 60 लाख से ज्यादा डाउनलोड किया गया। हम अगर इसके एक्टिव यूजर की बात करें तो वो 1200000 यूजर है। इसके द्वारा लोग एक माह में लगभग 8000 करोड़ से भी अधिक लेनदेन का कार्य करते हैं। इस कंपनी में लगभग 120 से अधिक लोग कार्य कर रहे हैं। -Rahul Raj of Patna founded the Flowbiz company with a transaction of 8000 crores