Thursday, August 18, 2022

चंडीगढ़ के राजीव ने बनाया भारत की सबसे ऊंची ‘दो मंजिली’ साइकिल, इससे अनेकों शहर घूम चुके हैं

वर्तमान में डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और सेहत को ध्यान में देखते हुए अधिकांश लोग साइकिल की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। इसके अलावा पर्यावरण संरक्षण के लिए भी साइकिल को बढ़ावा दिया जा रहा है। साइकिल के बढ़ते मांग के कारण मार्केट में कई प्रकार की साइकिल आ चुकी हैं और हर साइकिल को कुछ खास तरीके से डिजाइन किया गया है ताकि लोगों को सहूलियत हो सकें. वहीं चंडीगढ़ के राजीव कुमार ने एक अद्भुत कारनामा कर दिखाया है (Rajeev builds India’s tallest cycle)

लेकिन क्या आपने कभी ऐसी साइकिल देखी है जिसपर बैठने के बाद आसमान को छुने जैसी फीलिंग आती हो? यदि नहीं देखी तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको एक ऐसी साइकिल के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे भारत की सबसे उंची साइकिल होने का खिताब मिल चुका है। साथ ही आप यह भी जानेंगे कि उस साइकिल को किसने बनाया है?

कौन है वह शख्स, जिसने सबसे उंची साइकिल का किया आविष्कार?

चंडीगढ़ (Chandigarh) के रहनेवाले राजीव कुमार (Rajeev Kumar) ने भारत की सबसे ऊंची साइकिल (India’s Tallest Bicycle) का आविष्कार किया है। इसे उन्होंने खुद से ही डिजाइन किया है। वे अपने द्वारा बनाए इसी साइकिल से शहर घूमने जाते हैं तो उन्हें देखकर हर कोई हैरान रह जाता है। अपने हुनर के कारण ही राजीव ने कई खिताब भी अपने नाम किए हैं।

Rajeev with Biggest cycle of india

कैसे आया इस साईकिल को बनाने का ख्याल?

राजीव जब 10वीं कक्षा में थे उसी समय से साइकिल चलाते थे, लेकिन हाईट अधिक होने के कारण उन्हें साइकिल चलाने में काफी दिक्कतें होती थी। ऐसे में उन्होंने अपनी साइकिल के सीट को काफी ऊंचा कर दिया था, लेकिन तब उनका पैर पैडल तक नहीं पहुंच पा रहे थे। उसके बाद उन्होंने पैडल को ऊपर करने के बारे में ख्याल आया और इस तरह उन्होंने एक अलग प्रकार के साइकिल का आविष्कार करने में जुट गए।

यह भी पढ़ें :- देखिए दुनिया के 5 अजीबोगरीब कार, कोई हवा में उड़ता है तो कोई पानी मे भी तैर सकता है

बनाया भारत की सबसे ऊंची साइकिल(India’s tallest cycle)

राजीव ने 10 वीं कक्षा में ही साइकिल अपनी पहली साइकिल के डिजाइन को तैयार कर लिया था। फिर 1995 में उन्होंने अपनी पहली साइकिल का निर्माण कार्य पूरा कर लिया। लेकिन इसके बाद भी वे उम्र बढ़ने के साथ-साथ साइकिल के मॉडल में परिवर्तन करते रहे हैं। वर्ष 2013 में राजीव ने भारत की सबसे ऊंची साइकिल (8 फीट 6 इंच) का निर्माण कार्य पूरा किया।

Biggest cycle of india

साइकिल में लगे हैं तीन चेन (India’s tallest cycle specifications)

भारत की सबसे ऊंची साइकिल बनाने में राजीव को काफी मेहनत करनी पड़ी थी। एक तरफ जहां लोग साइकिल के एक चेन को संभालने में दिक्कतें महसूस करते हैं वहीं इस साइकिल में 3 चेनों को लगाया गया है। वे जब भी इस साइकिल से बाहर निकालते हैं तो लोग उनकी फोटो क्लिक करने लगते हैं। बता दें कि, राजीव ने साल 2013 में जिस साइकिल का निर्माण किया था उसे 10 फीट तक ऊंचा किया जा सकता था।

यह भी पढ़ें :- तम्बुनुमा बेड AC जो केवल आपके बेड को ठंडा करता है साथ ही 65% बिजली की भी बचत होती है: Tupik Air conditioner

साइकिल को चलाने की है अलग ट्रिक

राजीव द्वारा निर्मित इस साइकिल को चलाने की कई लोग कोशिश कर चुके हैं, लेकिन वे असफल रहे हैं क्योंकि इस साइकिल को चलाने की एक अलग ट्रिक है। सड़क पर चलते वक्त ट्रैफिक लाइट में भी इसे चलाने और रोकने की अलग ट्रिक होती है। हालांकि, इस साइकिल के नाम भारत की सबसे उंची साइकिल (India’s Tallest Bicycle) होने का खिताब दर्ज है।

वीडियों देखें:-

कई रिकॉर्ड्स कर चुके हैं अपने नाम (India’s tallest cycle records)

राजीव कुमार (Rajeev Kumar) के बारे में एक खास बात यह है इंजीनियरिंग बैकग्राउंड से नहीं होने के बावजूद भी उन्होंने ऐसी अनोखी साइकिल का आविष्कार किया है। हर कोई उनके इस हुनर की तारिफ कर रहा है। वहीं राजीव ने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड और यूनियन वर्ल्ड रिकॉर्ड का खिताब भी अपने नाम कर चुके हैं।

इस साइकिल से कर चुके हैं कई शहरों की यात्रा

सबसे ऊंची साइकिल से राजीव ने दिल्ली से चंडीगढ़ के सफर को 16 घंटे में तय कर चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने चंडीगढ़ से लुधियाना और कालका से शिमला तक का सफर तय किया है। अब वे चाहते हैं कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड का खिताब अपने नाम कर सकें। वे सबसे ऊंची साइकिल से सबसे लंबी यात्रा का रिकॉर्ड बनाने की चाहत रखते हैं और इसके लिए वे चंडीगढ़ से मुंबई तक का सफर तय करेंगे।