Monday, January 25, 2021

इस महिला फारेस्ट अधिकारी ने अपनी बहादुरी से सैकड़ों तेंदुए और शेर की जान बचाई: Rasila Wadher

वन संरक्षण सभी प्राणियों के लिए कितना आवश्यक है, यह हम भली भांति जानते हैं। वहां रहने वाले जीव-जन्तुओं का जीवित रहना भी अति आवश्यक है। जैसा कि हम सभी बहुत अच्छे से जानते हैं कि हमारे देश की महिलाएं हर क्षेत्र में कार्यरत हैं, और हर जगह पुरुषों के साथ के कंधे से कंधा मिलाकर चल रहीं हैं। आपको पहले भी इनके हौसले, हुनर और कला से अवगत कराया जा चुका है। आज हम इस कहानी के माध्यम से जिनके बारे में बताने जा रहे हैं, वह महिला अब तक अपनी जान दाव पर लगाकर 1000 से अधिक जानवरों को बचा चुकी हैं।

बहादुर लड़की रसीला

यह बहादुर लड़की गुजरात (Gujrat) के गिर वन में कार्यरत है। इनका नाम रसीला वढेर (Rasila Wadher) है।  रसीला ने 2007 में वनकर्मी परीक्षा मे सफ़लता हासिल कर 2008 से जंगल में कार्य करना प्रारंभ किया था। रसीला ने ‘रेस्क्यू ऑपरेशन’ में भाग लिया और जानवरों की जान बचाने लगी। IFS ऑफिसर परवीन कासवान ने जानवरों के रेस्क्यू ऑपरेशन के बारे में अपने ट्विटर पर जनकारी देते हुए रसीला के बारे में विस्तार से बताया है।

यह कहानी है रसीला की जो गुजरात के गिर फॉरेस्ट में ऑफिसर हैं। वह जानवरों के रेस्क्यू टीम की हिस्सा हैं। इन्होंने अब तक 1000 से अधिक जानवरों का बचाव किया हैं। जिस रेस्क्यू में 500 तेंदुए, 300 शेर, दुर्लभ प्रजाति के सांप और मगरमच्छ शामिल हैं। उन्होंने यह भी बताया कि वह जंगल मे एक दम निडर होकर जंगल के राजा शेर के तरह चल कर जानवरों का देखभाल करती हैं। इस ट्वीट को परवीन ने ‘World Lion Day’ के अवसर पर ट्वीट किया था।

Meet Rasila Vadher of 36, a #Forester at Gir who has been involved in more than 1000 animal rescues including 300 Lions, 500 Leopards, crocodiles & pythons. Rescuing wildlife from wells to controlling them, she walks in jungle more confidently than even lion king. #WorldLionDay pic.twitter.com/YfrOo0gMyG

— Parveen Kaswan, IFS (@ParveenKaswan) August 10, 2020

नरेंद्र मोदी ने किया पहली बार वन विभाग महिला टीम का गठन

महिलाओं को जंगल में तैनात करने वाला गुजरात प्रथम राज्य है। इस वन विभाग महिला टीम का गठन गुजरात के मुख्यमंत्री “नरेंद्र मोदी” के द्वारा 2007 में हुआ है। ये तो हर व्यक्ति जानता है कि वन में भ्रमण कर काम करना कितना जोखिम भरा होता है। लेकिन यह सब वहां के महिलाओं लिए आम खतरा बन गया है। वहां के जानवरों को बचाना उनके लिए बेहद महत्वपूर्ण कार्य हो चुका है।

रसीला का कार्य

रसीला (Rasila) वन संरक्षण के लिए हमेशा तत्पर रहती हैं। अगर ड्यूटी खत्म हो गया और वह घर आ चुकी हैं तो भी उनका ध्यान वन के जीव-जन्तुओं के लिए लगा रहता है। अगर वन विभाग से कोई कॉल करके उनको बता दे कि जानवरों की जान खतरे में है तो वह फ़ौरन दौड़ कर वहां चली जाती हैं। कोई जानवर को चोट लग जाये तो वह ख़ुद उनका मरहम पट्टी और देखभाल करती हैं। जो कार्य वन विभाग के ऑफिसर रसीला ने किया है, वह प्रशंसनीय है। इसके लिए The Logically उन्हें सलाम करता है।

Khusboo Pandey
Khushboo loves to read and write on different issues. She hails from rural Bihar and interacting with different girls on their basic problems. In pursuit of learning stories of mankind , she talks to different people and bring their stories to mainstream.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय