Friday, February 3, 2023

बनारस से असम तक क्रूज जहाज के सफर का मजा, तैरते हुए घाट के साथ कई तरह के होंगे आकर्षण

आपको जानकर ये खुशी होगी कि बनारस से असम तक क्रूज की यात्रा बहुत जल्द पूरी होगी। क्योंकि गर्वमेंट की तरफ से देश का सर्वलम्बी वाटरवेज का निर्माण होने वाला है। इसके द्वारा 4 हज़ार किलोमीटर से ज्यादा का सफर पूरा होगा। केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल कहते हैं कि इस प्रोजेक्ट पर कार्य जारी है और ये जल्द पूरा भी होगा। अगले वर्ष फरवरी माह तक ये सम्पन्न हो जाएगा क्योंकि कार्य काफी रफ़्तार में है।

सर्वश्रेष्ठ जलमार्ग जो है यातायात में सहयोगी

ये जलमार्ग गंगा तथा ब्रह्मपुत्र नदियों के संयोग से भारत-बांग्लादेश प्रोटोकॉल रूट से होते हुए जाएगा। ये प्रोजेक्ट टूरिज्म, व्यवसाय तथा कार्गो ट्रांसपोर्ट को सरल बनाने हेतु बनारस से असम बोगीबिल की यात्रा सम्पन्न होगी। इसी के लिए बोगीबिल ब्रिज के इर्द-ग्रीद बहुत से प्रोजेक्ट लॉन्च होंगे।

यह भी पढ़ें:-ग्रामीण युवक ने जुगाड़ से बना दिया 6 सीटर इलेक्ट्रिक बाइक, आनंद महिंद्रा ने शेयर किया वीडियों

तैरते घाट का होगा निर्माण

जानकारी के मुताबिक गुइझन पर तैरते घाटों की आधारशिला हो चुका है एवं ब्रिज के पास रिवरफ्रंट पैसेंजर घाट का निर्माण होगा ताकि ये आकर्षक लगे। इस घाट का निर्माण नॉर्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे द्वारा होगा। ऐसे जलमार्गों द्वारा किसी भी समान को ले जाने और लाने में कम लागत आएगी। जो हर किसी के लिए काफी उपयोगी और सहज भी होगा।

यह भी पढ़ें:-भारत में स्थित है दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रेलवे प्लेटफॉर्म, एक पटरी पर एक साथ रुक सकती है दो ट्रेन

आएगी इतनी लागत

इस प्रोजेक्ट के निर्माण में 8.25 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इसके अतिरिक्त यहां प्लेटफॉर्म, बायो टॉयलेट, रेस्टोरेंट 6 टीन शेड का निर्माण होगा। ये सारे निर्माण बागोबील के निकट होंगे ताकि यात्री हर चीज का लुफ्त उठा सकें।