Monday, November 30, 2020

60 दिनों में 76 लापता बच्चों को इस महिला पुलिसकर्मी ने उनके परिवार से मिलवाया, पुलिस विभाग से प्रोमोशन मिला

भारत में पुलिस वालों की छवि के बारे में अगर सामाजिक तौर पर राय ली जाए तो यह बिल्कुल साफ दिखेगा की, लोगों की नजर में पुलिस वालों की प्रति नकारात्मक छवि अत्यंत अधिक है। लेकिन इन सबके बीच कुछ ऐसे भी पुलिसकर्मी हैं, जो अपनी जान का बाजी लगाकर मानवता की रक्षा कर रहे हैं जो सराहनीय और वंदनीय है।

हेड कांस्टेबल सीमा ढाका(Seema Dhaka) ऐसी पहली पुलिसकर्मी बन चुकी हैं, जिनके लिए पुलिस विभाग ने आउट ऑफ टर्न जाकर पदोन्नति का सिफारिश किया है। मिली ख़बर के अनुसार सीमा ढाका ने 60 दिनों के अंदर ही लगभग 76 लापता बच्चों को उनके परिवार से मिलाने का नेक कार्य किया है।

Seema Dhaka gets promotion for finding 76 lost kids

एनडीटीवी के रिपोर्ट के अनुसार सीमा ढाका नॉर्थ वेस्ट दिल्ली के समयपुर बादली पुलिस थाने में कार्यरत हैं, और इन्होंने अपनी ड्यूटी के दौरान पिछले 60 दिनों में 76 लापता बच्चों को उनके परिवार से मिलाने का अनोखा कार्य किया है।

एक अधिकारिक बयान के अंतर्गत यह बताया गया कि दिल्ली पुलिस ने एक नई स्कीम का अनावरण किया है, जिसके अंतर्गत अगर कोई पुलिसकर्मी 1 साल के अंदर 50 लापता बच्चों को उनके परिवार से मिलाने का कार्य करता है तो उन्हें प्रमोशन के साथ ही सम्मानित भी किया जाएगा।

अपने प्रमोशन की खबर पाते ही सीमा ढाका(Seema Dhaka) ने न्यूज़ 18 को बताया कि वह इस पदोन्नति से काफी खुश हैं और उन्हें यह प्रेरणा मिल रही है कि आगे भी वह इस तरह के कार्य करती रहेंगी! इसके साथ ही उन्होंने अपने सहकर्मियों से यह अपील किया कि वह लोग भी लापता बच्चों को ढूंढने में यथासंभव प्रयास करें और उनके घर वालों से मिलाएं जिससे प्रशासन की छवि सुधारने के साथ ही मानवता का मिसाल कायम हो।

The Logically के तरफ से हम हेड कांस्टेबल सीमा ढाका को इस नेक कार्य के लिए तहे दिल से शुक्रिया अदा करते हैं और साथ ही उनके पदोन्नति के लिए उन्हें शुभकामनाएं देते हैं।

News Desk
तमाम नकारात्मकताओं से दूर, हम भारत की सकारात्मक तस्वीर दिखाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

एक डेलिवरी बॉय के 200 रुपये की नौकरी से खड़ी किये खुद की कम्पनी, आज पूरे भारत मे इनके 15 आउटलेट्स हैं

किसी ने सही कहा है ,आपके सपने हमेशा बड़े होने चाहिए। और यह भी बिल्कुल सही कहा गया है कि सपने देखना ही है...

पैसे के अभाव मे 12 साल से ब्रेन सर्ज़री नही हो पा रही थी, सोनू सूद मसीहा बन करा दिए सर्जरी

इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं होता। कोरो'ना की वजह से हुए लॉकडाउन में बहुत सारे लोगों ने एक दूसरे की मदद कर के...

500 गमले और 40 तरह के पौधे, इस तरह यह परिवार अपने छत को फार्म में बदल दिया: आप भी सीखें

आजकल बहुत सारे लोग किचन गार्डनिंग, गार्डनिंग और टेरेस गार्डनिंग को अपना शौक बना रहे हैं। सभी की कोशिश हो रही है कि वह...

MS Dhoni क्रिकेट के बाद अब फार्मिंग पर दे रहे हैं ध्यान, दूध और टमाटर का कर रहे हैं बिज़नेस

आजकल सभी व्यक्ति खेती की तरफ अग्रसर हो रहें हैं। चाहे वह बड़ी नौकरी करने वाला इंसान हो, कोई उद्योगपति या फिर महिलाएं। आज...