Sunday, October 24, 2021

720 में 720 अंक लाकर शोएब ने NEET AIR रैंक 1 हासिल किया, इस तरह बने ओड़िसा के पहले ऐसे छात्र

हम मेहनत करें और उसका फल ना मिले तो बहुत बुरा महसूस होता है। उस दौरान यह लगता है कि मुझ में ही कमी होगी तब ही हम असफल हुयें…..। अगर बात परीक्षा की हो तो प्रत्येक व्यक्ति की चाहत होती है कि वह सफलता का परचम लहराए ताकि वह सभी के लिए प्रेरणा बनें और आगे पढ़ने के लिए उसका मनोबल भी बढ़ें। साथ ही उसके माता-पिता को भी उसपर फक्र महसूस हो। परिणामों की धोषणा के बाद कुछ बच्चे दुखी तो कुछ खुशी के मारे झूम उठतें हैं। इस कहानी में हम आपको एक ऐसे लड़के के बारे में जानकारी देंगे जिसने 100% मार्क्स लाकर सभी का दिल जीत लिया है।

NEET टॉपर शोएब आफताब

16 अक्टूबर 2020 को NEET (National Eligibility cum Entrance Test) परीक्षा का परिणाम घोषित हुआ है। इस वर्ष इस परीक्षा के टॉप पर शोएब आफताब (Shoyeb Aftab) हैं। इन्होंने 720 में से 720 नंबर लाकर इतिहास रचा है। साथ ही यह उड़ीसा (Odisha) के भी प्रथम बार नीट परीक्षा में टॉप आने वाले विद्यार्थी बन चुके हैं। संपूर्ण अंक प्राप्त करने वाले लड़के शोएब और उनकी पूरी फैमिली इनके लगन और मेहनत से बहुत प्रसन्न है। फिलहाल तो अभी इस रिजल्ट को एनटीए (NTA) की तरफ से औपचारिक तौर पर जारी नहीं किया गया है।

कोरोना के कारण हुई छात्रों को दिक्कत

जानकारी के अनुसार नीट 2020 की परीक्षा इस कोविड-19 महामारी के दौरान में, 13 सितंबर को आयोजित की गई थी। इसके अतिरिक्त नीट यूजी उत्तर भी 26 सितंबर को जारी हुआ। यह परीक्षा कोविड-19 महामारी के दौरान हुआ। इस कारण जो बच्चे कोरोना पोजेटिव थे वह इस परीक्षा में भाग नहीं लियें। इसके लिए उन विद्यार्थियों ने सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दायर किया था। इस वर्ष इस परीक्षा के लिए स्टेट गवर्नमेंट ने निःशुल्क आवास और परिवहन की घोषणा की थी।

परीक्षा पास करने के उपरांत ही मिलता है मेडिकल कॉलेज में एडमिशन

नीट परीक्षा के माध्यम से ही विद्यार्थियों को मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस के नामांकन लिए स्थान प्राप्त होता है। जिस तरह आपका नंबर होगा उसी अनुसार आपको संस्थानों में स्थान मिलता है। 2020 में कोरोना के दौरान इस बार कंटेनमेंट जोन में आये परीक्षा केंद्र निरस्त हुए थे। इस बार हेल्थ मिनिस्टर के नियमों को पालन करते हुए इस परीक्षा का आयोजन हुआ था। नीट की परीक्षा के लिए पूरे देश के लगभग 15 लाख से भी अधिक छात्र आवेदन किए थे। जिसमें 90% ही उम्मीदवार उपस्थित रहें थे।

अपनी लगन से 100% अंक प्राप्त कर इतिहास रचने वाले शोएब को The Logically शुभकामनाएं देते हुए इनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है।