Sunday, September 19, 2021

3250 फीट की ऊंचाई पर स्थित बाबा भोलेनाथ का यह ज्योतिर्लिंग आस्था का केंद्र है !

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग भारत के बारह ज्योतिर्लिंगों में से छठा ज्योतिर्लिंग माना जाता है। भगवान शिव का यह अलौकिक तीर्थ स्थल है। यहाँ भक्ति भाव का बहाव हर ओर स्पष्ट महसूस किया जा सकता है जो श्रद्धालुओं में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है। यह ज्योतर्लिंग महाराष्ट्र के पुणे से लगभग 110 किलोमीटर दूर सधद्री पर्वत पर स्थित है। इस मंदिर की ऊँचाई 3250 फीट है। भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग काफी बड़ा और मोटा भी है जिससे इन्हे मोटेश्वर महादेव के नाम से भी जाना जाता है।

भीमाशंकर मंदिर के पास से ही भीमा नदी बहती है। यहां भगवान शिव की आराधना की जाती है। भीमाशंकर मंदिर के पास ही कमलजा मंदिर है, जो माता पार्वती का ही अवतार है। यहां भगवान शिव के दर्शन पाने के लिए हजारों श्रद्धालु की भीड़ लगी रहती है। और श्रवण मास के दिन ये भीड़ दोगुनी हो जाती है। इस मंदिर में प्रतिदिन सूर्य निकलने के बाद श्रद्धालु सब भगवान शिव की दर्शन करते हैं। भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग के दर्शन पा लेने से समस्त पापों से मुक्ति मिल जाती है। और मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है।

यह भी पढ़े :-

उज्जैन स्थित महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग आस्था का प्रतीक है ! दर्शन मात्र से होती है मोक्ष प्राप्ति !


यूं तो भीमाशंकर मंदिर के दर्शन करने के लिए हर माह में श्रद्धालु आते हैं लेकिन भगवान शिव के महापर्व महाशिवरात्रि के दिन यहां विशेष मेला लगता है। इस मंदिर के आस- पास कई कुंड हैं। जिसमे मोक्ष कुंड, कुषारण्य कुंड, सर्वतिर्थ कुंड, ज्ञान कुंड ज्यादा प्रमुख है। इस मंदिर का निर्माण 18 वीं सदी में नाना फड़नवीस द्वारा करवाया गया था। भीमाशंकर मंदिर के आस- पास हनुमान झील, नागफणी, बांबे प्वाइंट, भीमा नदी, साक्षी विनायक जैसे स्थानों का घूमने का मौका मिलता है। यह सभी रमणीय स्थान पर्यटकों को भूब आकर्षित करते हैं।

भीमाशंकर मंदिर पुणे में बहुत प्रसिद्ध हिन्दुओं का मंदिर है। अपनी महिमा के लिए विश्व विख्यात है यह मंदिर जिससे यहां देश- विदेश से लोग भगवान शिव जी को दर्शन करने के लिए आते हैं।

श्रद्धालु यहाँ सड़क और रेलमार्ग के माध्यम से पहुँच सकते हैं। पुणे से इस मंदिर को जाने में लगभग 5 घंटे का समय लगता है। चूकि यहाँ की महाशिवरात्रि का त्योहार बेहद प्रसिद्ध है इसलिए इस विशेष अवसर पर भक्तों के लिए खास बसों का इंतजाम किया जाता है।