Saturday, May 8, 2021

तीनों दोस्त साथ मिलकर करते थे तैयारी, साथ मे ही बन गए सब इंस्पेक्टर: पूरा गांव इनके दोस्ती की मिशाल देता है

मित्रता हमारे जीवन में एक अजीज रिश्ता है, जिसका चयन हम स्वयं करते है। मित्र एक परिवार की तरह होते हैं। मित्रों का हमारी जिंदगी में होना उतना ही आवश्यक है जितना परिवार का होना। यह वह रिश्ता है जो खूनी रिश्ते से कोई संबंध न रखकर भी हमें अपनेपन का अहसास दिलाता है। सच्ची मित्रता हमें बहुत ताकत देती है, जिसके साथ हम सफलता की हर ऊंचाई को छूने का सामर्थ रखते हैं। आज की हमारी कहानी ऐसे ही तीन मित्रों की है जो एक साथ पढ़ाई कर साथ में ही सब-इंस्पेक्टर बने।

आज भी यदि कोई अपने घर में कहे कि उसे दोस्तों के साथ समूह में पढ़ाई करना है, तो उसकी बातों पर कोई यकीन नहीं करता है। अक्सर यही समझा जाता है कि समूह में सिर्फ मौज़ मस्ती होती है, लेकिन सच यह भी है कि संगत से रंगत भी निखरती है। संगत अच्छी हो तो इंसान निखरता है और बुरी हो तो बिखरता है। राजस्थान के तीन दोस्तों ने इन सभी बातों से परे होकर यह साबित किया कि दोस्ती से अज़ीज़ रिश्ता कोई भी नहीं है। तीनों दोस्तों ने दोस्ती की जो मिसाल कायम की है वह प्रेरणादायक है- तीनों एक साथ पढ़ाई कर बने सब-इंस्पेक्टर।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान के तीन दोस्त- अयान योगी (Ayan Yogi) , विक्रम गुर्जर (Vikram Gurjar) और ज़ुबैर ख़ान (Zubair Khan) सब-इंस्पेक्टर (Sub-Inspector) के पद के लिए तैयारी कर रहे थे, तीनों ने जी तोर मेहनत की और सफल भी हुए। तीनों ने इस पद के लिए एक साथ ही आवेदन किए थे। तीनों अलग-अलग विभाग से ताल्लुक रखते हैं- ज़ुबैर ख़ान शिक्षक है, अयान योगी बीटेक किए है और विक्रम गुर्जर पुलिस विभाग में ही कांस्टेबल के रूप में तैनात हैं।

यह भी पढ़े :-

इस घर की तीनों सगी बहनें IAS अधिकारी हैं , और राज्य के सर्वोच्च पद पर सेवा दे रही हैं ।

अपने अलग-अलग कार्य से समय निकालकर तीनों ने सब- इंस्पेक्टर (Sub-Inspector) के पद के लिए तैयारी करना शुरू किए। उन्हें खुद की पढ़ाई पर पूरा भरोसा था जिसके कारण यह फैसला लिए। आखिरकार अपने सपने को पूरा भी किए। तैयारी के लिए वे कोई कोचिंग सेंटर नहीं ज्वाइन नहीं किए। वे लोग एक साथ समूह में पढ़ाई करने की योजना बनाए, एक दूसरे की मदद कर। जिसकी जिस विषय पर अच्छी पकड़ है, वह बाकी दो की मदद करता। तीनों ने 2018 में परीक्षा दी और 2019 में फ़िज़िकल फ़िटनेस का टेस्ट भी साथ ही दिए और पास भी हुए। आगे उनका इंटरव्यू भी एक साथ ही हुआ और तीनों ने अच्छी रैंक प्राप्त की। अयान योगी को ऑल इंडिया 22वीं जगह मिली वहीं विक्रम को 44वीं और ज़ुबैर को 146वीं।

The Logically अयान, विक्रम और ज़ुबैर की सफ़लता के लिए उन्हें शुभकामनाएं देता है। इन तीनों ने ईमानदारी और सच्ची दोस्ती की जो मिसाल पेश की है, वह प्रशंसनीय है। साथ ही अपने पाठकों से इनके दोस्ती की तरह ही ईमानदारी की मिसाल पेश करने की उम्मीद रखता है।

Anita Chaudhary
Anita is an academic excellence in the field of education , She loves working on community issues and at the same times , she is trying to explore positivity of the world.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय