Tuesday, September 28, 2021

3 लाख से करोड़ों तक का सफर, जानिए एक देसी स्टार्टअप ने कैसे यह छलांग पाया

कहते है न, कोई भी काम मेहनत और लगन के साथ किया जाए तो उसमें सफलता जरूर मिलती है। आज- कल के शिक्षित युवा नौकरी करने के बजाय ज्यादातर बिजनेस करना पसंद कर रहे है। आज की कहानी एक ऐसी लड़की के बारे में है, जिन्होंने अपने मेहनत और लगन के बदौलत अपने साड़ी की बिजनेस “कारागिरी” की शुरुआत की और 3 साल में ही उनके स्टार्टअप का टर्नओवर करोड़ो में पहुंच गया। ―The Karagiri sarees startup started from a small scale by Pallavi has a turnover of crores today.

तो आइए जानते है, उस होनहार लड़की की कामयाबी की कहानी:-

Success story of karigiri startup

कौन है वह लड़की?

हम बात कर रहे है, पल्लवी मोहादिकर पटवारी (Pallavi Mohadikar Patwari) की। जिन्होंने अपनी नौकरी छोड़ खुद की साड़ी की बिजनेस “कारागिरी” की शुरुआत की। पल्लवी की पुणे के मशहूर साड़ी शॉप कारागिरी आज पूरे दुनिया मे अपनी अच्छी क्वालिटी के वजह से प्रसिद्ध है। आज उनकी स्टार्टअप का टर्नओवर करोड़ो में है।

कैसे की शुरुआत?

आपको बता दें कि, पल्लवी (Pallavi Mohadikar Patwari) ने अपनी पढ़ाई आईआईएम लखनऊ से पूरी की है। बिजनेस के पहले वो चिकनकारी की साड़ियां EBAY के जरिए बेचा करती थी, जिससे उनकी थोड़ी बहुत कमाई हो जाती थी। फिर कुछ सालों बाद ही उनके दिमाग मे खुद की बिजनेस शुरू करने का विचार आया और उन्होंने अपने पति डॉक्टर अमोल पटवारी के साथ मिलकर इस बिजनेस की शुरुआत की, जिसमे उन्होंने 3 लाख रुपये ही इन्वेस्ट किए थे। बता दें कि, कारागिरी खूबसूरत और हाई क्वालिटी साड़ी के लिए पुणे की नही बल्कि पूरे भारत मे प्रसिद्ध है। ―The Karagiri sarees startup started from a small scale by Pallavi has a turnover of crores today.

उन्होंने अपने बिजनेस कारागिरी साड़ी की शुरुआत काफी छोटे स्तर से किया था, लेकिन आज कारागिरी एक सुपर ब्रांड बन गया है। इसकी डिमांड दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

Success story of karigiri startup

बिजनेस में कारागिरी साड़ियों की दिन-प्रतिदिन बढ़ती डिमांड

पल्लवी के द्वारा एक छोटे स्तर से शुरू की गई स्टार्टअप का टर्नओवर आज करोड़ो में है। जब इस बिजनेस की शुरुआत की गई थी तो इसमे उनके साथ मात्र 5 बुनकर काम किया करते थे, लेकिन जैसे-जैसे साड़ियों का डिमांड बढ़ने लगा वैसे-वैसे बुनकरों की संख्या भी बढ़ा दी गई और आज उनके साथ करीबन 1500 बुनकर काम करते है।

11 देशों में की जाती है, कारागिरी साड़ियां पसंद

जानकारी के मुताबिक, 11 देशों में सबसे ज्यादा लोग इन (कारागिरी) साड़ियों को पसंद कर रहे है। करीबन 50 हज़ार से ज्यादा साड़ियां (कारागिरी) विदेशों में बेची जा रही है। पल्लवी का मानना है कि, जल्द ही उनके स्टार्टअप का टर्नओवर 50 करोड़ हो जाएगा और 2022 तक उनके स्टार्टअप का टर्नओवर 150 करोड़ तक पहुंच सकता है।

Success story of karigiri startup

स्टार्टअप का टर्नओवर पहुंचा करोड़ो में

कारागिरी साड़ियां अपने हाई क्वालिटी साड़ियों के लिए काफी फेमस है, जिसके कारण इन साड़ियों की डिमांड देश मे ही नही बल्कि विदेशों में भी है। आपको बता दें कि, वर्ष 2017 में कारागिरी स्टार्टअप का टर्नओवर 30 लाख रुपये थे। वहीं 2018 तक इसका टर्नओवर 75 लाख तक पहुंच गया और धीरे-धीरे यह साड़ियां अपने हाई क्वालिटी के वजह से लोगों के दिल मे अपनी जगह स्थापित कर ली और इसका डिमांड देश तथा विदेशों में बढ़ने लगा। जिसके बाद लोग इसको ऑनलाइन माध्यम से भी व्यापार करने लगे। अब केवल 15 फीसदी का व्यापार रिटेल शोरूम से हो रहा है और ज्यादातर ऑनलाइन ही बिक्री हो रही है।