Wednesday, September 28, 2022

हाइस्कूल से शुरू कर दिए थे UPSC की तैयारी, मात्र 22 साल में बने IFS अफसर: वैभव गोंडाने

“काबिलियत उम्र की मोहताज नहीं होती” इस उक्ति को सच कर दिखाया है एक 22 वर्षीय नौजवान वैभव गोंडाने ने। उन्होंने 22 वर्ष की उम्र में यूपीएससी पास की और IRS बनकर सफलता और काबिलियत का बेहतरीन उदाहरण पेश किया। उन्होंने अपने आईएएस बनने के सफलता के सफर को इंटरव्यू के माध्यम से साझा किया है। आइए जानते हैं…

महाराष्ट्र के पुणे के रहने वाले वैभव गोंडाने अपने कठिन और निरंतर मेहनत व धैर्य से वर्ष 2018 के यूपीएससी परीक्षा में 25वीं रैंक लाकर सफलता प्राप्त की। उस वक्त वैभव जी की उम्र मात्र 22 वर्ष की थी। कम उम्र में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता प्राप्त करना उनकी काबिलियत को दर्शाता है।

 Vaibhav Gondane IFS officer

वैभव ने एक इंटरव्यू में यह बताया था कि, “यूपीएससी की तैयारी करने वाले लोगों के पास मोटिवेशन होना बहुत जरूरी है। सेल्फ मोटिवेशन की बदौलत ही आप यहां सालों तक अपने लक्ष्य की तरफ फोकस कर पाएंगे। यूपीएससी के लिए पूरी मेहनत चाहिए होती है और हल्की-फुल्की पढ़ाई से काम नहीं चलता, बल्कि पूरी तरह समर्पित होकर आपको यूपीएससी की तैयारी करनी पड़ेगी। आपको तैयारी के लिए एक बेहतर रणनीति भी बनानी होगी।”

यह भी पढ़ें :- बिना कोचिंग किए पहले ही प्रयास में UPSC में मारे बाजी, जानिए IAS अरुण राज की प्रेरणादायी कहानी

यूपीएससी की तैयारी के लिए कठिन परिश्रम के साथ योजनाबद्ध तरीके से तैयारी करनी पड़ती है। सिलेबस के हर बिंदू पर फोकस बनाना पड़ता है। कई बार ऐसा होता है कि पूरी तैयारी करने के बावजूद भी चयन नहीं हो पाता है, ऐसे में विद्यार्थियों को अपना धैर्य नहीं खोना चाहिए और अपनी तैयारी जारी रखनी चाहिए। निरंतरता हीं सफलता का मार्ग प्रशस्त करता है।

 Vaibhav Gondane IFS officer

वैभव आगे बताते हैं कि “पहले आप तय कर लें कि आपको यूपीएससी की तैयारी करनी है, तो उसे अपनी प्राथमिकता बनाए। सिलेबस के मुताबिक स्टडी मैटेरियल तैयार करें और शेड्यूल बनाकर पढ़ाई में जुट जाएं। हर चीज को इतनी गहराई से पढ़ें कि उसे दोबारा करने की जरूरत ना पड़े। अगर आप ईमानदारी के साथ धैर्य रखकर परीक्षा की तैयारी करेंगे, आप इस परीक्षा को पहले प्रयास में पास कर सकते हैं।”

 Vaibhav Gondane IFS officer

यूपीएससी की तैयारी के बारे में वैभव अन्य विद्यार्थियों को कहते हैं कि आपको यूपीएससी की तैयारी 50-50 के आधार पर करनी चाहिए। 50% तैयारी रीडिंग व 50% तैयारी राइटिंग, नोट्स मेकिंग, अखबार, मॉक टेस्ट के लिए करनी चाहिए। ऐसा करके आप अपनी तैयारी संतुलित रूप से कर सकते हैं। रस के हर बिंदू पर आपकी नजर रहेगी।

The Logically वैभव गोंडाने जी को उनकी सफलता के लिए उन्हें ढेर सारी बधाईयां देता है।