Wednesday, August 4, 2021

कर्ज लेकर डिजिटल मार्केटिंग का स्टार्टअप शुरू किया, और आज एक करोड़ का है टर्नओवर

छोटी सी शुरुआत से बड़ा मुकाम हासिल करने वाले सुधांशु कुमार (Sudhanshu Kumar) का जन्म बिहार (Bihar) के जमुई जिले के एक साधारण से परिवार में हुआ था। उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई अपने गांव से ही पूरी की थी। 12वीं करने के बाद सुधांशु साइबर सिक्योरिटी का कोर्स करने के लिए पटना चले गए फिर वहां से जयपुर (Jaipur) तक का सफर तय किया।

कोर्स पूरा करने पर भी नहीं मिली नौकरी

कोर्स पूरा करने के बावजूद भी उन्हें कहीं नौकरी नहीं मिल रही थी, तो सुधांशु ने एमबीए (MBA) करने का फैसला किया। एमबीए करने के दौरान सुधांशु के एक दोस्त ने उन्हें वेबसाइट बनाने का ऑफर दिया और यही से उनकी पूरी जिंदगी बदल गई। अपनी मेहनत के बदौलत ही आज उन्होंने एक करोड़ टर्नओवर की कंपनी खड़ी कर दी है।

Sudhanshu Kumar startup of Digital Marketing

बचपन से था कंप्यूटर से लगाव

सुधांशु बताते हैं कि उन्हें बचपन से ही कंप्यूटर से कुछ ख़ास लगाव रहा है। उनके गांव में एक भैया के घर कम्प्यूटर था, जहां सुधांशु अक्सर उसे देखने जाया करते थे। आगे चलकर उन्होंने स्कूल में कंप्यूटर सिखा। साल 2011 में 12वीं करने के बाद वह साइबर सिक्योरिटी कोर्स करना चाहते थे परंतु परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी इसलिए उनके पापा ने मना कर दिया। सुधांशु के जिद करने पर उनका दाखिला पटना में हो गया। उसके बाद एडवांस कोर्स करने के लिए वह जयपुर चले गए।

10 हज़ार महीने की सैलरी वाली मिली नौकरी

एडवांस कोर्स पूरा करने के बाद सुधांशु कुमार (Sudhanshu Kumar) एक अच्छी नौकरी की तलाश करने लगे, परंतु अब भी उन्हें नौकरी नहीं मिली। उन्होंने MBA की तैयारी के दौरान कैट सहित कई एग्जाम दिए थे। इसी दौरान साल 2014-15 में एक एग्जाम के लिए सुधांशु मुंबई (Mumbai) गए। वहां वह अपने एक रिश्तेदार के पास ठहरे और वही उन्हें फिल्म सेक्टर में काम करने वाले एक परिचित के जरिए 10 हज़ार महीने की सैलरी पर नौकरी मिल गई। यहां सुधांशु को एक स्टूडियो से दूसरे स्टूडियो तक फिल्म की सीडी और ड्राइव पहुंचाना पड़ता था।

Sudhanshu Kumar startup of Digital Marketing

नौकरी के दौरान करते थे नए-नए बिजनेस प्लान

सुधांशु को पहले एक स्टूडियो से दूसरे स्टूडियो ड्राइव पहुंचाने के लिए खुद जाना पड़ता था लेकिन फिर उन्होंने ऑनलाइन ट्रांसफर करना शुरू कर दिया। इसके जरिए वह बड़ी-बड़ी फाइल को चंद मिंटो में ही ऑनलाइन ट्रांसफर कर देते थे। इसके बाद सुधांशु का प्रमोशन हो गया और उन्हें 30 हज़ार सैलरी मिलने लगी। सुधांशु आपने इस काम से खुश नहीं थे इसलिए वह हमेशा नए-नए बिजनेस प्लान करते रहते थे। इस दौरान वह अपने एक दो आइडिया पर काम भी किया परंतु सफलता नहीं मिली।

यह भी पढ़ें :- माँ बनने के बाद कॉरपोरेट जॉब में परेशानी होने लगी तो खुद की बिज़नेस शुरू कर दीं, आज करोड़ों की कम्पनी बन चुकी है

इस तरह हुई डिजिटल मार्केटिंग की शुरूआत

सुधांशु को एक दोस्त ने उन्हें वेबसाइट बनाने का ऑफर दिया। सुधांशु ने ऑफर स्वीकार कर लिया और वेबसाइट बनाकर दे दिया, जिसके लिए उन्हें 2 हजार रुपए मिले। 27 वर्षीय सुधांशु कुमार (Sudhanshu Kumar) बताते हैं कि यह ऑफर मेरे लिए टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। कुछ घंटो की मेहनत से घर बैठे जब 2 हज़ार रुपए मिल गए, तो इस काम को आगे बढ़ाने का आइडिया आया। साल 2016 में सुधांशु ने डिजिटल सुकून (sukoon) नाम से एक वेबसाइट तैयार किया और डिजिटल मार्केटिंग का काम शुरू कर दिया।

Sudhanshu Kumar startup of Digital Marketing

अबतक 400 बड़े प्रोजेक्ट पर कर चुके हैं काम

बिजनेस अच्छा चलने लगा तो सुधांशु ने अपनी नौकरी छोड़ दिया। सुधांशु एक दोस्त से 5 लाख रुपए का कर्ज लेकर मुंबई में अपना ऑफिस खोला। धीरे-धीरे उन्हें बड़ी कंपनियों के ऑर्डर्स मिलने लगे। साथ ही कई सेलिब्रेटी ने भी अपना सोशल मीडिया हैंडल करने के लिए सुधांशु से कॉन्टैक्ट किया। केवल एक साल में उन्होंने अपने दोस्त के पैसे ब्याज सहित लौटा दिए। सुधांशु अबतक 400 बड़े प्रोजेक्ट और 40 से ज्यादा सेलिब्रेटी का काम कर चुके हैं। वह 20 लोगों की एक टीम के साथ काम करते है। उन्हें ना केवल भारत से बल्कि विदेशों से भी ऑर्डर मिलता है।

मीडिया से जुड़े सभी प्रोजेक्ट पर करते हैं काम

सुधांशु मानते हैं कि रेफरेंस के जरिए उनके कस्टमर्स बढ़े हैं। शुरुआत में वह केवल वेबसाइट डेवलपमेंट का काम करते थे परंतु अब उनकी टीम डिजिटल मार्केटिंग और सोशल मीडिया से जुड़े सभी प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। जिसमें वेबसाइट डेवलपमेंट के साथ-साथ सोशल मीडियाया प्रमोशन, बड़े बड़े सेलिब्रिटी और नेताओं के अकाउंट मैनेज करना, इंफ्लुएंसर्स के अकाउंट को प्रमोट करना शामिल है। कंपनियों के डिजिटल मार्केटिंग को संभालना, कंटेट राइटिंग, गूगल और SEO ऑप्टिमाइजेशन, ऐप डेवलपमेंट और साइबर सिक्योरिटी जैसे काम कर रहे हैं।

Sudhanshu Kumar startup of Digital Marketing

कोई भी शुरू कर सकता है डिजिटल मार्केटिंग

अभी सोशल मीडिया और इंटरनेट का दौर चल रहा है। यहां लोग प्रोडक्ट और ब्रांड के साथ-साथ पर्सनल लेवल पर खुद को भी प्रमोट कर रहे हैं। सुधांशु कहते हैं कि अब तो हर पॉलिटिकल पार्टी अपने लिए डिजिटल टीम हायर करती है, जिस वजह से इस फील्ड में आगे बढ़ने का स्कोप है। इस फील्ड में करियर बनाने के लिए सबसे जरूरी है सोशल मीडिया की समझ होना तथा डिजिटल मार्केटिंग की जानकारी होना। पूरी जानकारी प्राप्त करने के बाद दो से तीन हजार रुपए की लागत से आप खुद की एक वेबसाइट बनाकर काम की शुरुआत कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि समय के साथ सीखना और अपने काम के प्रति डेडिकेशन बनाए रखना।