Sunday, October 24, 2021

देसी ट्रिक: भींगे कपड़े से पता लगाइये सिलिंडर में कितना गैस बचा है

आजकल के जामाने में मनुष्य सुबह से लेकर शाम तक पूरी व्यवस्थता में अपना जीवन व्यतीत कर रहा है। व्यवस्थता भरी जीवन में काम के साथ हीं साथ हर एक कदम पर सुबह जगने से लेकर रात में सोने तक अपने और अपनो की सुरक्षा बेहद जरूरी है। आज हम बात करेंगे, किचन के सुरक्षा से जुड़ी एक ऐसी चीज के बारे में जिसका गलत तरीका आम मानस पर भारी पर सकता है। इसलिए आज हम बात करेंगे घरेलू गैस सैलेंडर के सुरक्षा से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां ―Your gas cylinder is going to be empty follow this easy tricks.

 know cylinder weight with wet cloth

घरेलू गैस सैलेंडर में कितना गैस है इसे कैसे जाने?

ऐसे तो लोग कितने तरीको के घरेलू नुस्खे अपनाकर सैलेंडर में कितनी गैस है यह पता करते हैं। लेकिन आज हम एक सही तरीका के बारे में चर्चा करेंगे जिससे घरेलू गैस सैलेंडर के मात्रा के बारे में सही जानकारी मिल सके-

इसके लिए सबसे पहले हम एक कपड़े को पानी में भिंगोकर गीला करेंगे। इसके बाद इस गीले कपड़े से सिलेंडर में एक मोटी रेखा खींचगे। रेखा खिंचने के 10 मिनट बाद तक इंतजार करेंगे। तब हम पायेंगे की सिलेंडर का जो भाग खाली होगा वहां का पानी जल्दी सूख जाएगा और जहां तक गैस होगी वहां का पानी देर से सूखेगा।

 know cylinder weight with wet cloth

ऐसे आम तौर पर हमलोगो के यहां चूल्हे में कम आंच आने पर गैस की मात्रा को लोग समझ जाते हैं। आंच सामान्य से हल्की होने पर या उसका रंग बदलने पर मात्रा का अंदाजा लगाया जाता है। लेकिन इस विधि से स्पष्ट वजन मालूम नहीं पड़ता है। ―Your gas cylinder is going to be empty follow this easy tricks.

 know cylinder weight with wet cloth

गैस की मात्रा का पता लगाने की कुछ निम्नलिखित घातक तरीका है जिसे कभी नही आजमाना चाहिए-:

  1. आमतौर पर कई महिलाएं गैस बर्नर को जला कर आग के रंग को देख कर इस बात का अंदाजा लगाने की कोशिश करती हैं कि सिलेंडर में गैस कितनी बची है। यह तरीका सही नहीं है। यह तरीका सुरक्षा के दृष्टि से घातक है। लेकिन ये बात जरुर है कि जब सिलेंडर में कम गैस होती है तो आग का रंग बदलता जरूर है।
  2. कुछ महिलाएं सिलेंडर को हिला कर या उसे उठा कर पता लगाने की कोशिश करती हैं कि सिलेंडर में कितनी गैस बची है। लेकिन यह तरीका भी सिलेंडर में गैस के स्‍तर को नापने में फेल है और औरतो के लिए यह तरीका भी बिल्कुल घातक है, क्‍योंकि सिलेंडर का अपना ही वजन इतना होता है कि गैस के कम होने पर भी वह बहुत अधिक हल्‍का नहीं होता है।
  3. बहुत से लोग बर्नर में गैस की लौ कम होने पर सिलेंडर को उल्‍टा करके रख देते हैं और फिर सिलेंडर में बची गैस का इस्‍तेमाल करते हैं। ऐसा करके हो सकता है कि कुछ मिनटों के लिए आपकी गैस की लौ तेज हो जाए, मगर इससे आपके सिलेंडर को क्षति पहुंचती है और उसके डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है, जो आपके लिए घातक हो सकता है।