Sunday, October 24, 2021

मंदिर में शादी किये और रिश्तेदारों को ना बुलाकर 500 आवारा कुत्तों को भोजन कराए: अनोखी शादी

लोग अक्सर अपनी शादी के दिन अपने रिशतेदारों, जान-पहचान के लोगों को न्योता देते हैं, उन्हें दावत पर बुलाते हैं। देखा जाए तो यह एक प्रकार की परंपरा है। लोगों को तो सभी भोजन कराते हैं लेकिन वही अगर कोई बेजुबान जानवर आ जाये तो लोग उसे दुत्कारने लगते हैं। कोई भी यह नहीं सोंचता है कि जानवरों को भी भूख लगती है।

मनुष्य अपना पेट भरने के लिये नौकरी करता है, लेकिन बेजुबान जानवर अपना पेट भरने के लिए दुत्कारा हुआ और दूसरे के दरवाजे पर फेंका हुआ बासी खाना या फिर कचड़े में पड़ा हुआ खाना खाते हैं। आज हम आपको एक ऐसी दंपति से मिलवाने जा रहे है जिसने रिशतेदारों को भोजन कराने की परंपरा को बदलते हुए 500 आवारा कुत्ते को भोजन कराया।

यह घटना उड़ीसा की है जहां एक नवविवाहित जोड़े ने दावत पर ऐसे मेहमानों को बुलाया जिसका अनुमान किसी को नहीं था। युरेका आप्टा और जोआना वांग 25 सितंबर को भुवनेश्वर में शादी के बन्धन में बंधे। युरेका आप्टा एक फिल्म मेकर और जोआना वांग एक डेंटिस्ट हैं। अपनी शादी में दोनों दंपति ने अपने दोस्तों और रिशतेदारों को खाना खिलाने के बजाय सड़क पर घुमने वाले लगभग 500 आवारा कुत्ते को खाना खिलाया। उन्होंने 500 आवारा कुत्तों के भोजन के लिये विशेष व्यवस्था किया था।

नवविवाहित जोड़े ने अपने इस अच्छे और अलग कार्य करने से लोगों का दिल जीत लिया है। इनकी शादी करने के अंदाज को लेकर काफी तारीफें हो रही हैं। इसी के साथ लोगों की शादियों को लेकर सोच भी बदल रही है। दंपति ने बताया कि, वे शादी के 3 वर्ष पहले ही निश्चय किया था कि वे बेजुबान जानवरों को भोजन कराएंगे।

यह भी पढ़े :- जिन्हें अपनों ने छोड़ दिया उसे इस आश्रम ने पनाह दे दी, गुरु वृधा आश्रम में 200 से भी अधिक लोग रहते हैं

युरेका आप्टा और जोआना वांग दोनो विवाह के 2 दिन पहले एनिमल शेल्टर होम गये थे और वहां उन्होनें जानवरों के लिये दान भी दिए। दंपति ने बताया कि, कुछ माह पहले वे सड़क दुर्घटना में एक कुत्ते की जान बचाई थी। सड़क दुर्घटना में एक कुत्ता घायल हो गया था। इस जोड़े ने घायल कुत्ते का उपचार कराया और जान बचाई। युरेका आप्टा और जोआना वांग दोनो कुत्ते के लिए एनिमल शेल्टर होम की तलाश कर रहे थे तभी उनको ‘Ekmara NGO’ के बारें में जानकारी मिली। वहां बेजुबान जानवरो की स्थिति को देखकर इन दोनों को बहुत दुख हुआ और उसी समय उन्होंने निश्चय किया कि वे इनके लिए चैरिटी करेंगे। इस निर्णय को पूरा करने के लिए दोनों ने अपना सबसे खास और यादगार दिन का चयन किया। अपने सबसे यादगार दिन उन्होंने बेजुबान को खाना खिलाकर उनकी सहायता की और कहा कि, वे आगे भी ऐसे ही मदद करतें रहेंगे।

मिडिया के रिपोर्ट के अनुसार, नवविवाहित जोड़े ने अपने इस नेक कार्य करने के पीछे का वजह अपने स्वर्गवासी मां को बताया। हाल में कुछ समय पहले उनकी मां की मौत कैंसर बिमारी से हो गई थी। अपनी शादी के दिन इस बेटे ने बहुत ही नेक कार्य करते हुए अपनी मां को श्रद्धांजली अर्पित किया।

The Logically युरेका आप्टा और जोआना वांग को उनके द्वारा जानवरों के लिए किए गए नेक कार्य की सराहना करता है और साथ ऐसी सोंच को सलाम करता है।