Sunday, December 5, 2021

खेतों से जानवरों को डराने के लिए महज़ 300 की लागत से किसान ने बनाई गन, 1 KM तक जाती है इसकी आवाज़

कहते हैं, “आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है।” इसे कुछ यूं भी कह सकते हैं कि हमारे द्वारा किया गया हर निर्माण ही आविष्कार है। चाहे यह किसी भी चीज़ से हो, कचरा, खाली बाल्टी, डब्बा इत्यादि। हमारे देश के किसान खेती तो करते ही हैं, साथ ही साथ ऐसा आविष्कार भी करते हैं जो लाभकारी सिद्ध होता है। आज की यह कहानी भी आविष्कार की है जो एक किसान ने आवश्यकता पड़ने पर की है। इन्होंने ऐसी बंदूक का निर्माण किया है जिसकी कीमत 300 रुपये है और यह तोप के जैसे आवाज़ करती है। यह बन्दूक 1 किमी की दूरी तय करता है। इतना ही नहीं इसकी फायरिंग के लिए मात्र 2 रुपये की लागत है। इनके गन की खूब बिक्री हो रही है।

आइये पढ़ते हैं इस किसान और इनके निर्माण के बारे में।

इस गन को निर्माण करने वाले किसान का नाम आशुतोष सिंह (Aashutosh Singh) है। इन्होंने यह गन पानी की पाईप और लाइटर से बनाई है। इस गन की आवाज बहुत ही तीव्र है जिस कारण इसकी आवाज से जानवर बहुत ही दूर भाग जाते हैं। ये तो हम सभी जानते हैं कि जानवर आय दिन खेतों में आतंक मचाए रहते है। इसी बात को ध्यान में रखकर इन्होंने इस नई और अद्भुत गन का निर्माण किया। जानवरों को भगाने के लिए सांध्यकाल के समय मात्र 2 या 3 गोली छोड़ने की आवश्यकता है फिर जानवर खुद डर से खेतों में नहीं आते है। इससे यहां के किसान चैन की नींद सोते हैं। इस गन की सबसे खास बात यह है कि इसे कोई भी बना सकता है केवल 3 सौ रुपये में। इस गन के लिए गोली भी बहुत ही आसानी से मिल जाती है, यूं कहें तो बस 2 रुपये लगेंगे।

सस्ती और बेहद उपयोगी होने के कारण किसान इसे खुब पसन्द कर रहें हैं। सबसे अच्छी बात यह कि इस गन की मदद से उन्हें पूरी रात खेत की रखवाली नहीं करनी पड़ती। इसलिए भी यह बंदूक सबको ज्यादा पसंद है। एक खासियत यह भी है कि अगर किसान दूर भी है तो वे इस गन को चलाकर जानवरों को भगा सकते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात कि इससे किसी की जान नहीं जाती और ना ही पशु हत्या का पाप लगता है।

यह भी पढ़े :- 20 वर्षीय छात्र ने बनाई लकड़ी की एक अनोखी साइकिल, यह बच्चे के उम्र के साथ बढ़ती है

इस गन में गोली के लिए कार्बाइड जो कि एक मटर के आकार का बनाकर पानी की मदद से उसका उपयोग कर सकते हैं। हम यह जानते हैं कि कार्बाईड में पानी डालने पर वह गैस की तरह हो जाता है। आशुतोष द्वारा बनाए इस गन का तरीका सीखने के लिए गाजीपुर, आजमगढ़, जौनपुर और चन्दौली से किसान आ रहें है और इसका डिमांड भी कर रहें हैं। इस गन को कैसे उपयोग करना है इसके लिए आप विडीयो देख सकतें हैं।

आशुतोष सिंह द्वारा बनाए गए गन उपयोग नीचे वीडियो में देख सकते है –

बग़ैर जानवरों को नुक़सान पहुंचाए किसानों की परेशानी दूर करने और उन्हें भी इस गन के निर्माण का तरीक़ा बताने के लिए The Logically आशुतोष सिंह को सलाम करता है।