भारत और चीन में हुई समझौता, बोर्ड’र पर नही भेजे जाएंगे और सैनिक: अमन की पहल

498

भारत और चीन के बीच तनातनी के बारें में सभी जानतें हैं। इन दोनों देशों के बीच L A C को लेकर विवाद चल रहा है। चीनी सैनिकों के चालबाजी के कारण गलवान घाटी में जुन माह में India और China के बीच हिंसक झड़प हुईं थी जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हुयें थे। अलग-अलग रिपोर्ट से जानने को मिला कि चीन के 40 सैनिक मारे गयें हैं लेकिन चीन ने अभी तक अपने शहीद हुयें सैनिकों के बारें में कोई पुष्टि नहीं की है। हालांकि दोनों देशो के बीच हुईं हिंसक झड़प के बाद भारत ने सीमा पर हथियारों के प्रयोग नहीं करने की नीति में बदलाव किया है।

विवादों के बीच भारतीय सेना ने L A C की 20 चोटियों पर अपना कब्जा किया।

आपकों बताते चलें कि चीन और भारत के साथ विवादों के बीच भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में 20 से अधिक चोटियों पर भारत का झंडा लहराया हैं और इसके साथ इन सभी चोटियों पर अपना कब्जा कर लिया है। सुत्रों के अनुसार 29 अगस्त से सितम्बर के दूसरे सप्ताह के बीच में भारतीय जवानों ने मागर हिल गुरुंग हिल, रेचन ला, रेजांग ला, मुखपरी और फिंगर 4 के समीप एक ऊंची चोटी पर अपना क_ब्जा कर लिया है। यह सभी चोटियां LAC पर भारतीय सीमा पर है। इन सभी चोटियों पर कब्जा कर लेने के बाद चीनी सैनिकों पर नज़र रखने में आसानी होगी। भारत के कब्जे के बाद चीन ने भी रेजांग ला और रेचन ला के समीप अपनी सेना की तैनाती को बढ़ा दिया है। चीन के आक्रामकता के बाद भारत ने भी अपनी सक्रियता को बढ़ा दी है। इन जगहों पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval), चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat), और सेना प्रमुख एमएम नरवाने (Manoj Mukund Naravane) की देखरेख में क्रिया-क्लापों को नतीजा दिया जा रहा है। 

इंडिया और चाइना के बीच कोर क_मांडर स्तर की बैठक खत्म, हुआ ये अहम फैसला।

दोनों देशों के बीच होने वाली 6ठें दौर की कोर कमांडर स्तर के बातचीत मंगलवार को समाप्त हुईं। इस वार्ता के दौरान दोनों देशों ने महत्वपूर्ण सहमति जताई। कोर कमांडर लेबल के वार्ता के दौरान भारत (India) और चीन (China) अग्रिम मोर्चे पर और अधिक सैनिकों को नहीं भेजेंगे इस बात पर अपनी सहमति जताई है। दोनों देशों ने इस बात पर भी अपनी-अपनी सहमति दी है कि दोनों पक्ष आपस की समस्याओं को नियमानुकूल तरीके से सुलझाने, संयुक्त रूप से सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति स्थापित करने के लिये व्यवहारिक कदम उठायेंगे। अनुमान लगाया जा रहा है कि आनेवाले दिनों में सी_मा पर बढ़े हुयें तनावों में गिरावट होगी।

Source-Indian Express

भारत और चीन के कोर कमांडरों के बीच हुए 6ठें बैठक में भारतीय और चीनी सेना ने मंगलवार को एक संयुक्त बयान में कहा कि LAC (Line of Actual Control) पर हालतों को स्थिर बनाने के मुद्दे पर दोनों देशों ने विचारों का लेन-देन किया। इसके बाद दोनों पक्षों ने अपने नेताओं के साथ हुईं महत्वपूर्ण स्वीकृति पर काम करने के लिये  इमानदारी से राजी हुयें।

पूर्वी लद्दाख में गतिरोध को खत्म करने के प्रयोजन से दोनों देशों भारत और चीन के बीच सैन्य कमांडरों के बीच दिन सोमवार को 14 घंटे तक वार्ता चली थी। दोनों देशों ने सीमा पर स्थिति को जटिल बनाने वाली किसी भी तरह की कारवाई से परहेज के लिये स्वीकृति जताई है।

7वें दौर की बैठक शीघ्र।

इसके अलावा दोनों देशों ने शीघ्र ही 7वें कोर क_मांडर स्तर की वार्ता करने के किये भी अपनी स्वीकृति व्यक्त की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here