Tuesday, May 24, 2022

यह लड़की महिलाओं को दुनिया घुमाती है, मात्र 5000 रु से शुरू कर आज लाखों का टर्नओवर पार कर चुकी है: Let her travel

घूमना किसे नहीं पसंद होता। चाहे महिला हो या पुरुष, हर कोई चाहता है कि वे दुनिया की सैर करें लेकिन जीवन में आई समस्याओं के कारण हम अपने अरमानों का गला दबा कर रखते है। ज्यादातर अगर महिलाओं की बात की जाएं तो, वे चाहते हुए भी अपने घूमने के सपने को पूरा नहीं कर पातीं, क्यूंकि उन्हे लगता है कि, अकेले ट्रेवलिंग उनके लिए सुरक्षित नहीं है।

आज हम आपको एक ऐसी लड़की से रूबरू कराने वालें हैं , जिन्होंने अपने ‘लेट हर ट्रैवल’ (Let HerTravel) नामक स्टार्टअप के जरिए महिलाओं को पूरी दुनिया का सैर कराने का जिम्मा अपने सिर पर उठाया है।

जी हां, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर की रहने वाली 24 वर्षीय साक्षी बालदे (Sakshi Balde) ने एक ऐसे स्टार्टअप की शुरुआत की है, जिसके जरिए महिलाएं पूरी दुनिया का सैर बहुत सुरक्षित महसूस करके कर सकती हैं।

महज 5000 रुपए से शुरू किया था, इस ट्रेविंग कंपनी की शुरुआत

साक्षी (Sakshi Balde) ने वर्ष 2018 में अपने स्टार्टअप ‘लेट हर ट्रैवल’ की शुरुआत महज 5000 रुपए से की थी। लेकिन आज उनका सालाना टर्न ओवर करीब 25 लाख रुपए है।

वे (Sakshi Balde) बताती हैं कि, “जब मैंने अपनी पहली ट्रिप नवंबर वर्ष 2018 में ऑर्गेनाइज किया था तो हमारे ग्रुप में 15 लड़कियां थी, जिसमे कुछ कॉलेज फ्रेंड्स थे, तो कुछ कस्टमर थे और हम लोग इंदौर से मांडू गए थे। उस समय हमें इस ट्रिप से तो अच्छा रिस्पॉन्स मिला।”

वे (Sakshi Balde) आगे बताते हुए कहती हैं कि, “पहली ट्रिप के दौरान दो बहनें मेरे पास आई और आकर मुझे गले लगा लिया और बताया कि वे दोनो इस ट्रिप से बहुत खुश है। उन्हे इस स्टार्टअप के वजह से पहली बार कहीं ट्रिप पर जाने का मौका मिला। इससे पहले उनके पिता कभी उन्हे ट्रिप पर भेजने के लिए राजी नहीं हुए थे। उन दोनो बहनों की बाते सुनकर मुझे हिम्मत और हौसला दोनों मिला।”

पैसे के वजह से दूसरी ट्रिप हुई फैल

साक्षी (Sakshi Balde) ने बताया कि, “जब हमने 2019 में दूसरे ट्रिप को ऑर्गेनाइज किया तो वे पूरी तरह से फेल हो गया। उस समय मुझे एहसास हुआ कि बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए मेहनत और पैसा दोनो की जरूरत होती है। फिर मैंने पार्ट टाइम जॉब करना शुरू कर दिया और जो भी पैसे मुझे जॉब से मिलते उसे मैं अपने स्टार्टअप में लगा देती।”

परिवार ने बिजनेस के लिए किया मना

साक्षी (Sakshi Balde) ने बताया कि, वे मराठी परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनके यहां बिजनेस कोई नहीं करता लेकिन जब इन्होंने अपने स्टार्टअप के बारे में अपने परिवार को बताया तो सबने एकदम से यह कह कर मना कर दिया कि तुम अभी बहुत छोटी हो। पहले अपनी पढ़ाई पूरी कर लो उसके बाद एक अच्छी से जॉब करना। लेकिन साक्षी ने अपने परिवार को जैसे-तैसे इस स्टार्टअप के लिए मना लिया।

साक्षी (Sakshi Balde) ने अपनी पढ़ाई वर्ष 2020 में पूरा कर लिया था और अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए इन्होंने कोई जॉब करने पर ध्यान नहीं दिया, यहां तक कि इन्होंने अपने कॉलेज में हुए कैम्पस प्लेसमेंट में भी हिस्सा नहीं लिया।

लॉकडाउन के दौरान करना पड़ा कठिनाइयों का सामना

मार्च 2020 में कोरोना महामारी के कारण पूरे देश में लॉकडाउन लग गया, उस दौरान साक्षी का बिजनेस पूरी तरीके से बंद हो गया और उनको बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। इस कठिन काल में उन्हें यह लगने लगा कि, बिजनेस शुरू करने इन्होंने बहुत बड़ी गलती कर दी है, इससे अच्छा जॉब हीं करना चाहिए था।

साक्षी (Sakshi Balde) ने बताया कि, “लॉकडाउन कब खुलेगा इसका पता नहीं चल पा रहा था, इससे मैं पूरी तरह से परेशान हो गई थी और जब मुझे कुछ समझ नहीं आया तो मैं कुछ फ्रीलांस काम करने लगी। लेकिन कुछ समय बाद जैसे-जैसे लॉकडाउन खुला मैने अपने बिजनेस को पुनः फिर से स्टार्ट कर दिया।”

उनका कहना है कि , अब-तक उन्होंने 35 से अधिक ट्रिप को ऑर्गेनाइज कर लिया है और आगे भी ट्रिप के ऑर्गेनाइज करने में लगी हुई हैं।

महिलाओं को देना चाहती हैं बढ़ावा

साक्षी ने इस स्टार्टअप की शुरुआत महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए किया है। वे बताती हैं कि, महिलाओं तथा लड़कियों के पास पैसे होने के बावजूद भी वे ट्रैवल नहीं कर पाती, क्योंकि उन्हें अच्छा ग्रुप नहीं मिलता।

साक्षी (Sakshi Balde) के द्वारा शुरू किया गया ‘लेट हर ट्रैवल’ (Let HerTravel) नामक स्टार्टअप अपने प्रॉफिट मार्जिन को कम रखकर कस्टमर को सस्ता सर्विस प्रदान करता है तथा महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सर्टिफाइड प्रोफेशनल्स को भी रखा गया है। इतना हीं नहीं यदि किसी कस्टमर के परिवार से यात्रा पर जाने की परमिशन नहीं मिल रही होती है, तो ‘लेट हर ट्रैवल’ उनके माता-पिता से बात करता है और उनकी समस्याओं को हल करने की कोशिश करता है।