Tuesday, January 19, 2021

देश का एक ऐसा सैलून जहां 1500 किताबों की लाइब्रेरी है, प्रधानमंत्री भी कर चुके हैं तारीफ

हमारा देश एक ऐसा देश है जहां के व्यक्ति हमेशा कुछ ऐसा कार्य करतें हैं जिससे वे लोगों के दिलों पर राज कर सकें। शिक्षा मनुष्य के लिए बहुत ही आवश्यक है। अगर मनुष्य शिक्षित नहीं है तो वह जानवरों की भांति है। लेकिन शिक्षा के लिए माहौल भी वैसा होना चाहिए। आज की यह कहानी भारत के एक ऐसे नाई की है जिसने अपने सैलून में सिर्फ कैंची या मीरर ही नहीं बल्कि 15 सौ किताबों की बेहतरीन खूबसूरत पुस्तकालय भी रखी है।

P Pon Mariappan

भारत (India) के तमिलनाडु (Tamilnadu) में एक ऐसी बेहतरीन खूबसूरत लाइब्रेरी नाई के दुकान में है, जो सबके मन को भाता है। पी पोन मरियप्पन (P Pon Mariappan) तमिलनाडु में नाई की दुकान चलाते हैं। इनके दुकान में सिर्फ औजार ही नहीं बल्कि 1500 किताबों भी हैं।

P Pon Mariappan saloon

वेटिंग कस्टमर को देते हैं डिस्काउंट

39 वर्षीय मरियप्पन अपना जीवन-यापन इस दुकान के माध्यम से कर रहे हैं। न्यूज़ इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार मिलप्पुरम में स्थित इनका सलॉन पिछले नवंबर से चर्चा का विषय बना है। मरियप्पन ने अपने इस लाइब्रेरी की स्थापना 2015 में की। इस लाइब्रेरी में यह अपने वेटिंग कस्टमर को किताबें पढ़ने के लिए डिस्काउंट देते हैं। ताकि वे अपने खाली समय में किताब पढ़कर कुछ जानकारी इकट्ठी करें और इनका समय भी निकल जाए।

PM ने भी की है तारीफ

इनकी तारीफ हर जगह हो रही है। ऐसा नहीं है कि इनकी बातें सिर्फ इनके गली-मोहल्ले तक सीमित है। इनकी तारीफ हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी “मन की बात” कार्यक्रम में कर चुकें हैं। जब इन्हें दूरदर्शन के कर्मचारियों ने बुलाया कि वह रेडियो कार्यक्रम में बोले तब यह नही जानते थे कि यह कार्यक्रम में प्रधानमंत्री से बात करने वाले हैं।

P Pon Mariappan saloon

बढ़ा हौसला

मरियप्पन को इस बात से बहुत खुशी हुई कि हमारे प्रधानमंत्री ने उनकी तारीफ की और उनका हौसला उस दौरान और बढ़ा जब प्रधानमंत्री जी ने उनसे उनके सलॉन में पुस्तकालय के विषय में पूछा। इन्होंने बताया कि गरीबी के दौरान इन्हें अपना स्कूल छोड़ना पड़ा था जिसका इन्हें बहुत ही दुःख हुआ। इसलिए इन्होंने अपने सलॉन में पुस्तकालय का निर्माण किया।

P Pon Mariappan ने जिस तरह शिक्षा के महत्व को समझ अपने सैलून में पुस्तकालय की व्यवस्था की, वह अनुकरणीय है। The Logically Mariappan के कार्यों के लिए इन्हें सैल्युट करता है।

Khusboo Pandey
Khushboo loves to read and write on different issues. She hails from rural Bihar and interacting with different girls on their basic problems. In pursuit of learning stories of mankind , she talks to different people and bring their stories to mainstream.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय