Saturday, December 3, 2022

झुग्गी-झोपड़ी के इन बच्चों का टैलेंट किसी से कम नही, फ़टाफ़ट अंग्रेजी बोलते हैं और शानदार गीत गाते हैं: Social Warrior Foundation

शिक्षा का महत्व के बारे में जब हम जानते यह समझने की कोशिश करते हैं तो पता चलता है कि पुराने काल से लेकर आज के आधुनिक काल तक शिक्षा का महत्व उतना ही है जितना उस समय था और आगे आने वाली पीढ़ियों तक रहेगा।

पहले गुरुआश्रम में शिक्षा दी जाती थी जहां सभी छात्र को एक जगह बैठाकर बिना भेद-भाव के उन्हें शिक्षा का अर्थ समझाया जाता था। अपने गुरु से शिक्षा पाकर शिष्य सद्गति के मार्ग पर चलते थे। सभी को शिक्षा मिले यह उद्देश्य होता था। आज हम आपको बिहार की राजधानी पटना (Bihar, Patna) में इसी उद्देश्य के साथ काम कर रहे सोशल वारियर फाउंडेशन (Social warrior foundation) के बारे में बताएंगे जो 2019 से लगातार शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। आइये जानते हैं इस फाउंडेशन के काम के बारे में।

सोशल वॉरिअर फाउंडेशन के यह वीडियो देखें

सोशल वारियर फाउंडेशन

बिहार के युवा चंदन कुमार के द्वारा 2019 में एक NGO की शुरुआत की गई जिसका नाम उन्होंने सोशल वारियर फाउंडेशन (Social warrior foundation) रखा। इस फाउंडेशन की नींव उन्होंने इस उद्देश्य से रखी कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे। इसी उद्देश्य के साथ उन्होंने इसकी शुरुआत की थी और आज चंदन के टीम में लगभग 400 सदस्य हैं।

गरीब बच्चों को शिक्षा

चंदन और उनकी टीम के द्वारा बिहार की राजधानी पटना (Patna) में उन बच्चों को शिक्षा दिया जाता है जो आर्थिक रूप से कमजोड़ हैं। झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले परिवार के बच्चों का चयन कर उनकी टीम वहां जाकर गुणवतापूर्ण शिक्षा देती है। सोशल वारियर फाउंडेशन के टीम में जितने भी सदस्य है सभी युवा हैं और टीम के सदस्यों में अधिकतर उच्चतर शिक्षा भी ग्रहण कर रहे हैं पर इन सभी चीजों के बीच वह अपने कीमती समय को निकालकर बच्चों के बीच शिक्षा का ज्योत जलाते हैं।

यह भी पढ़ें:- पटना में MBA बर्गर वाले की धूम, सस्ते में बर्गर खिलाकर लाखों रु की आमदनी करते हैं: MBA Burger Wala

टीम बड़ा बनता गया

The Logically से बात करते हुए चंदन कहते हैं कि 2019 में जब इसकी शुरुआत की थी तो पता नही था कि कुछ ही सालों में उनका समूह इतना बड़ा बन जाएगा। अभी सोशल वारियर फाउंडेशन भारत के कुछ शहरों में भी मुफ्त शिक्षा दे रही है। चंदन का कहना है कि अभी शहर से इसकी शुरुआत की गई है आगे धीरे-धीरे ग्रामीण स्तर पर भी बच्चों को मुफ्त शिक्षा (Free Education) देने की योजना है।

गांव के बच्चों को भी जरूरत

The Logically की टीम जब चंदन और उनकी टीम से बात करने पहुँची तो वह राजधानी पटना में कंकड़बाग टेम्पू स्टैंड के पास बच्चों को पढा रहे थे। उन्होंने कहा कि राजधानी पटना में इसी तरह चार जगहों पर बच्चों को मुफ्त शिक्षा दिया जा रहा है। जिसमें पटना का आर.ब्लॉक (R.block), अनीसाबाद (Anishabaad) बोरिंग रोड (Boring Road) और कंकड़बाग (Kankarbagh) प्रमुख हैं। अब धीरे-धीरे बिहार के उन गांव में भी सोशल वारियर की टीम जाएगी जहां के बच्चों को शिक्षा की जरूरत है।

बच्चों के बीच लोकप्रिय शिक्षक

सोशल वारियर फाउंडेशन के टीम में जो भी शिक्षक हैं वह बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। शिक्षकों के द्वारा बच्चों को खूब प्यार किया जाता है। जिस बच्चे को भी पढ़ाई से जुड़े सामग्री की जरूरत होती है शिक्षक उन्हें वह उपलब्ध कराते हैं। सभी बच्चे भी शिक्षकों (Teacher) के बातों का अनुसरण करते हुए मन लगा के पढ़ाई करते हैं। शिक्षकों में अलीना अहमद, श्रुति साध्वी प्रिया,अजय कुमार को बच्चे खूब पसंद करते हैं। बच्चों के बीच यह सभी लोकप्रिय शिक्षक (Popular Teacher) हैं।

क्या कहते हैं चंदन

सोशल वारियर फाउंडेशन के संस्थापक चंदन कुमार का कहना है कि सभी लोगों को मुफ्त शिक्षा के विषय में जरूर सोचना चाहिए। अपने-अपने स्तर से इसकी शुरुआत हो और बच्चों के बीच शिक्षा का प्रसार हो। चंदन यह भी कहते हैं कि अगर आप बच्चों को तैयार करेंगे तो वो हमारे आने वाली पीढ़ी को तैयार करेंगे यही चक्र चलता रहेगा जो एक स्वस्थ और शिक्षित समाज (Soceity) का निर्माण करेगा।

The Logically भी चंदन और उनके सोशल वारियर फाउंडेशन के सभी सदस्यों के इस नेक कार्य की सराहना करता है।

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।