Friday, February 3, 2023

संरक्षित खेती कर राजस्थान का यह किसान लाखों कमा रहे हैं, आप भी जानें संरक्षित खेती के बारे में…

हमारा देश कृषि प्रधान देश है और यहां के किसानों के आय का स्रोत भी कृषि ही है। हालांकि पहले के जमाने में किसान पारम्परिक खेती कर आजीविका चलाया करते थें परन्तु आज महंगाई बढ़ चुकी है। इसलिए किसान अपने खेतों में विभिन्न प्रकार के पद्धति को अपनाकर अनाज का उत्पादन कर रहें हैं ताकि खेती से अधिक उत्पादन हो एवं अधिक लाभ अर्जित किया जा सके।

आज की हमारी यह कहानी एक ऐसे शख्स की है जो घर चलाने के लिए कभी एक पैसे के लिए परेशान हुआ करते थे और आज खेती से करोड़ों रुपए कमा रहे हैं।

किया खेती का श्रीगणेश

राजस्थान (Rajasthan) से ताल्लुक रखने वाले किसान खेमाराम चौधरी (Khemaram Chaudhary) आज खेती से करोड़ों रुपए कमा रहे हैं। उन्होंने इजरायल की तर्ज पर आज से कुछ वर्ष पूर्व संरक्षित खेती का श्री गणेश किया। वही आज अपने क्षेत्र में बेहतर किसान बने हुए हैं और आज लोग उन्हें अपना उदाहरण मानकर खेती प्रारम्भ कर रहें हैं। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

This Farmer farming with the help of Israel agriculture technology earning crore

दीवारों पर उगातें हैं फसल

वह खेती में इतनी सफलता हासिल कर चुके हैं कि दूर-दूर के लोग उनकी खेती को देखने के लिए आते हैं। वह अपने खेतों में फसलों की सिंचाई ओस की बूंदों से करते हैं दीवारों पर गेहूं एवं धान को उगाते हैं। इसी के लिए उनके पास लोगों की भीड़ उमड़ी हुई रहती है। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

यह भी पढ़ें :- आठवीं कक्षा पास पृथ्वीलाल सिरके के व्यापार से कमा रहे हैं लाखों रूपए: गन्ना किसानों के लिए प्रेरणा

मिनी इजरायल के नाम से है प्रसिद्ध

खेमाराम की आयु 45 वर्ष है। वह जिस पद्धति को अपनाकर खेती करते हैं उस कारण उनकी खेती का क्षेत्र मिनी इजरायल के नाम से प्रसिद्ध है। उन्होंने आज से लगभग 4 वर्ष पूर्व संक्षिप्त खेती यानी “पोली हाउस” प्रारंभ किया था। वर्तमान में उसकी संख्या लगभग 200 तक पहुंच गई है। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

This Farmer farming with the help of Israel agriculture technology earning crore

सब्सिडी मिलने पर शुरू की पॉलीहाउस

वर्ष 2012 में उन्हें एक बार इजरायल जाने का अवसर सरकार की तरफ से मिला। वहां जाकर उन्होंने कृषि की तकनीक सीखी की एवं यह निश्चय किया कि वह वापस लौट कर इसे अपनाएंगे। जब वापस लौटे तो उनके पास पैसे नहीं थे अब उन्हें सरकार की तरफ से सब्सिडी मिली। फिर उन्होंने लगभग 4000 वर्ग मीटर में पॉलीहाउस प्रारंभ किया। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

यह भी पढ़ें :- चेन्नई के इस शख्स से जानिए हाइड्रोपोनिक खेती, मात्र 80 स्क्वायर फीट में लग रखें हैं 6000 पौधे

4 माह में कमाया 12 लाख रुपए

खेमाराम यह बताते हैं कि एक पॉलीहाउस लगाने में लगभग 35 लाख का खर्च आता है जिसमें उन्होंने लगभग 9 लाख रुपए बैंक से लोन लिए थे और बाकी सब्सिडी मिली थी। उन्होंने पहली बार खेतों में खीरा बोया जिससे उन्हें लगभग डेढ़ लाख रुपए की लागत आई। हालांकि 4 महीने में ही अपनी खेती से 12 लाख रुपए कमा लिए जिससे उनका मनोबल बढ़ा। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

This Farmer farming with the help of Israel agriculture technology earning crore

खेती से कर्ज चुकाकर तरक्की की

वह अपनी खेती से लाभ कमाए जिससे उनका कर्ज चुकता हो गया। वर्तमान में वह 30 हजार वर्ग मीटर में पॉलीहाउस किए हुए हैं। इसके अतिरिक्त उनके पास स्वयं का 7 पॉलीहाउस 4000 पर मीटर की फैन पैड और 2 तालाब के साथ 40 किलो वाट का सोलर पैनल भी है। उनकी खेती में सफलता को देखकर अन्य किसान भी इसे अपना रहे हैं। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

मिला है सम्मान

आज खेमाराम खेती से ही अपनी किस्मत लिख चुके हैं। उन्हें अपनी खेती में सफलता हासिल करने के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है। वर्ष 2015 में उन्हें महिंद्रा की ओर से खरबूजा की बेहतर उत्पादन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। -Khemaram Chaudhary from Rajasthan by polyhouse and earning crores rupees

सकारात्मक कहानियों को Youtube पर देखने के लिए हमारे चैनल को यहाँ सब्सक्राइब करें।