Thursday, October 28, 2021

21 जून को मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ! नरेन्द्र मोदी जी ने की थी पहल

योग मानव जिंदगी को बेहतर तरीके से जीने का एक माध्यम है ! आज के परिवेश में जब लोग ऐश-ओ-आराम को तरजीह देते हैं वे कई तरह के तनाव और रोग के शिकार हो जाते हैं ! इस स्थिति में योग बेहद कारगर उपाय साबित होता है ! पूरे विश्व में लगभग हर रिश्तों , कार्यक्रमों , उत्सवों को मनाने के लिए एक दिवस तय है ! उसी क्रम में योग की विशेषता और महत्ता से पूरी दुनिया को अवगत कराने और योग को विश्व के लोगों की जिंदगी का हिस्सा बनाने हेतु भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए एक पहल की और पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के रूप में शुरूआत करने पर जोर दिया !

नरेन्द्र मोदी जी ने अपने भाषण में कहा

“योग भारत की पुरातन परंपरा का एक अनमोल उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है , मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है , विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है । यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है । हमारी बदलती जीवन-शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है । तो आयें एक अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं ।”

दुनिया के कई देशों ने किया समर्थन

नरेन्द्र मोदी जी के अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने की पहल को बहुत सारे देशों के राष्ट्राध्यक्षों , नेताओं , विश्लेषकों और योग गुरूओं का भरपूर समर्थन मिला ! सर्वप्रथम इसका समर्थन नेपाल के तत्कालीन प्रधानमंत्री सुशील कोईराला ने किया ! इसके बाद संयुक्त राष्ट्र अमेरिका सहित दुनिया के 175 से भी अधिक देशों ने इस पहल का समर्थन किया ! 11 दिसम्बर 2014 को 193 सदस्यों वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वसम्मति से 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने को मंजूर दे दी ! संयुक्त राष्ट्र की घोषणा के बाद आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर जी ने मोदी जी के इस कोशिश की प्रशंसा करते हुए कहा कि “किसी भी दर्शन, धर्म या संस्कृति के लिए राज्य के संरक्षण के बिना जीवित रहना बहुत मुश्किल है ! योग लगभग एक अनाथ की तरह अब तक अस्तित्व में था ! अब संयुक्त राष्ट्र द्वारा आधिकारिक मान्यता योग के लाभ को विश्वभर में फैलाएगी !”

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने की शुरूआत के बाद पूरी दुनिया में योग के विस्तार को बखूबी देखा जा सकता है ! यह कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी कि पूरी दुनिया में योग दिवस मनाने के पश्चात योग में लोगों की रूची बढी है और लोगों ने इसे बेहद संजीदगी से अपने जीवन का हिस्सा बनाया है !

Logically अपने सभी पाठकों व दर्शकों को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर बहुत बहुत शुभकामनाएँ देता है और योग को अपनी जिंदगी में अपनाने की अपील करता है !