Sunday, October 24, 2021

सोशल मीडिया पर बुजुर्ग बाबा को रोते देख लोगों का बरसा प्यार, मदद की बरसात हो गई: बाबा का ढाबा

पता नहीं क्यों कुछ लोग पढ़े-लिखे और समझदार होने के बावजूद भी अपने घर के बुजुर्गों से काम करवातें हैं या फिर इन्हें घर से बाहर निकाल देतें हैं। जब बच्चे छोटें होतें है तो उन्हें पालने और ऐश-ओ-आराम की ज़िंदगी देने के लिए उनके माता-पिता न जाने कितने संघर्ष करते है। वही बच्चें जब बड़े हों जातें हैं, उनमें से कुछ अपने माता-पिता की क़द्र नहीं करते है, या तो उन्हें रास्ते पर छोड़ देतें हैं या उनके गुजारें के लिए उनसे काम करवाते हैं।

एक ऐसे ही बुज़ुर्ग की संघर्ष भारी कहानी आज कल सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रही है। देखा जा रहा है कि एक 80 वर्ष के बुज़ुर्ग अपने गुजारे के लिए ढाबा चलाते हैं। कोरोना वायरस महामारी के डर से आजकल लोग बाहर के खाने को नजरअंदाज कर रहे हैं। कोई भी घर से बाहर कुछ भी खाने को जल्दी तैयार नहीं हो रहा है, ऐसे में यह बुजुर्ग बहुत मुश्किल में आ गए हैं। क्योंकि इनका गुजारा ढाबे से ही चलता है जिसका नाम है “बाबा का ढाबा“।

baba ka dhaba image

कौन है वह 80 वर्षीय बुज़ुर्ग

80 वर्षीय बुजुर्ग जो कि दिल्ली (Delhi) के मालवीय नगर के रहने वालें हैं, उनका एक विडीयो हमारे बीच आया है। इस वीडियो में यह बुजुर्ग बेहद हताश और रोते हुए नज़र आ रहे हैं। यह बुज़ुर्ग (Malviya Nagar) इलाक़े के हनुमान मंदिर के किनारे एक ढाबा चलाते हैं जिसका नाम “बाबा का ढाबा” है। यह अपना गुजारा इसी ढाबे के सहारे चलाया करते थे। कोरोना के कारण इनके पास कोई खाने के लिए नहीं आ रहा लेकिन लोगों के आने की आस लगाए वह बुजुर्ग अपने ढाबे पर बैठे रहते हैं, फिर भी निराशा ही हाथ लगती है। हालात कुछ ऐसे हो गए है कि वह इंसान रोने को मजबुर हो गए हैं।

देखें वीडियो

वीडियो में देखा जा रहा है कि एक शख़्स बाबा के ढाबे की पनीर की सब्ज़ी की तारीफ कर रहा है, वह कह रहा कि यह पनीर बड़े-बड़े रेस्ट्रा से काफी बेहतर लग रहा है। बाबा इस उम्र में ढाबा चला रहे हैं लेकिन ग्राहक के नहीं आने से वह टूट गए हैं, इतना की वह रोने लगते हैं। उनकी आंखों में आंसू आ जाते हैं, उनके साथ एक बुज़ुर्ग महिला भी निराश हुए बैठी रहती हैं।

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कई लोग मदद के लिए सामने आए हैं। कुछ लोग बाबा के अकाउंट का नंबर मांग रहे तो कुछ मदद पहुंचाने का दावा कर रहे हैं। सच.. हमारे देश में नेकी करने वालों की कोई कमी नहीं है।

भारतीय क्रिकेटर अश्विन अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखे हैं कि अगर वह किसी भी तरीके से इस बुज़ुर्ग की मदद कर सकते है तो करेंगे।

एक्टर सोनम आहूजा भी इस बुज़ुर्ग की मदद करने के लिए कदम बढ़ाई हैं।

जोमैटो ने भी की मदद की पेशकश

साथ ही आम से लेकर ख़ास तक अनेकों लोग बाबा की मदद करने लिए सामने आ रहे है जिसे देख कर ऐसा लग रहा है कि इंसानियत अभी ज़िंदा है।

जो नेक दिल इंसान इस बुज़ुर्ग की मदद करने के लिए हाथ बढ़ाए हैं, उन्हें The Logically दिल से शुक्रिया करता है और अपने पाठकों से जरूरतमंद लोगों के मदद करने की अपील करता है।