Sunday, October 24, 2021

पोल हो या पेड़, मात्र 500 रुपये में बनने वाले इस देसी जुगाड़ से सरपट चढ़ सकते हैं: जरूर देखें

जिस तरह से विद्युतीकरण का विस्तार हो रहा है ऐसे में घर व ऑफिस के कामकाज के साथ-साथ कृषि कार्य करना भी कई मायनों में आसान हो गया है। कभी-कभी आंधी-तूफान व अन्य कारणों से कुछ ऐसी समस्याएं आ जाती हैं जिसके कारण हमारे खेतों का विद्युत बाधित हो जाता है। इस परिस्थिति में पोल या बिजली के खंभे पर चढ़ना आवश्यक हो जाता है जो कतई आसान नहीं होता। ऐसे में यदि हमारे पास किसी खास किस्म का उपकरण हो जिसके माध्यम से हम खम्भे पर चढ़ पाए तो बिना किसी देरी के बिजली ठीक की जा सकती है और हमारा कृषि कार्य भी सुचारू रूप से गतिमान हो सकता है।

Best desi jugaad agricultural tools

आमतौर पर बाधित विद्युत को ठीक करने के लिए हमें ऐसे एक्सपर्ट की जरूरत पड़ती है जो खंभे पर चढ़कर बिजली ठीक कर सके। कई बार वैसा आदमी वक़्त पर मिलना मुश्किल हो जाता है जिसके कारण हमारा कृषि कार्य बाधित हो जाता है। ऐसे में यदि बिजली के खंभे पर चढ़ने के लिए एक खास किस्म के उपकरण बना दिए जाएं क्यों हम खुद भी खंभे पर चढ़कर बिजली को ठीक कर सकते हैं। तो आईए जानते हैं कि खम्भे पर चढ़ने के लिए उस खास उपकरण का निर्माण कैसे करें…आपकी सुविधा के लिए हम उपकरण बनाने का एक विडियो भी साझा कर रहे हैं…जिससे आपको इसे बनाने में सहूलियत होगी।

पूरा विडियो यहां देखें –

सबसे पहले हम लोहे का स्व्वायर पाइप लें। 17 इंच लम्बाई और 5 इंच की चौङाई में काटकर वीडियो में जो आकृति दिखाई गई वैसा बना लें। 17 इंच वाले पाइप से सबसे आगे की ओर दो पाइप निकलना होता है। दोनों पाइपों के बीच का गैप लगभग 6 इंच होता है या फिर यह गैप आप बिजली के खंभे व अन्य खंभे की मोटाई के अनुसार बढ़ा या घटा कर बना सकते हैं। आगे की ओर निकले इन दोनों पाइपों के गैप को खम्भे में घुसा दिया जाता है जिससे या खंभे को पकड़े रहता है और आप को गिरने नहीं देता। पीछे की ओर इस पर चप्पल भी सेट किया गया है ताकि आपका संपर्क लोहे से ना हो और आप सुरक्षित रह कर बिजली के काम कर सकें। सबसे ऊपर जो पाइप चौङाई में निकली होती है वो थोङी ऊपर की ओर चढ़ाकर बेल्डिंग करनी होती है ताकि जब आप खम्भे पर चढ़ें तो वह खम्भे को मजबूती से पकड़े रहे और आपको गिरने ना दे।

Best desi jugaad agricultural tools

उपकरण को बनाने में आए खर्च की बात करें तो यह ज्यादा खर्चीला नहीं है। कम सामानों की सहायता और बेहद सरल तरीके से इस उपकरण को बनाया जा सकता है। विगत के रुप में लगभग ₹300 का पाइप, 250-300 तक की चप्पल ली गई, 2 नट-बोल्ट तथा इसके अलावा बेल्डिंग में आने वाला खर्च।

हालांकि इस तरह के खास उपकरण का प्रयोग आम लोग कम करें तो ज्यादा बेहतर है क्योंकि मुद्दा सिर्फ खम्भे पर चढ़ने का नहीं बल्कि बिजली को ठीक करने का भी है। जुगाङ विधि से बनाए गए इस खास उपकरण का प्रयोग सभी विद्युतकर्मी कर सकते हैं। उन्हें इसके प्रयोग से ना सिर्फ खम्भे पर चढ़ने में आसानी होगी बल्कि खम्भे पर चढ़कर काम करने में भी यह मदद करेगा।