Wednesday, April 21, 2021

इंजीनियरिंग के बाद नौकरी छोड़ शुरू किए खेती, घर पर ही उगा रहे हैं 20 तरह की सब्जियां और औषधीय पौधे

अगर एक जुट होकर कोई कार्य किया जाए तो कार्य बहुत ही आसान हो जाता है और इससे अधिक लाभ भी मिलता है। भारत गांवों का देश है और कृषि यहां का प्रमुख व्यवसाय है। यहां कई लोग तो खानदानी कृषि करते चले आ रहे तो कई नए लोग भी कृषि को अपनी पेशा बना रहे। कुछ तो अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़कर खेती करक्षरहे हैं। उन्हीं में एक हैं ड्यू और एमआई। दोनों इंजीनियरिंग की अच्छी नौकरी को छोड़ खेती को अपनाया है और उसी में सफलता की कहानी लिख रहे हैं। आईए जानते हैं इनकी प्रेरणाप्रद कहानी…

ये कहानी दो दोस्तों की है जो अपनी इंजीनियरिंग की नौकरी त्यागकर खेती की तरफ अग्रसर हुए हैं। पहले तो उन्होंने अपनी खेती के विषय में जानकारी इकट्ठा करी और नई तकनीक के लिए इजरायल भी गए।

Du and Mi

ड्यू और एमआई

वर्ष 2018 में ड्यू और एमआई पहली बार इजरायल में मिले थे। ये दोनों वियतनाम में इंजीनियरिंग के पदों पर अपनी नौकरी छोड़ आधुनिक कृषि के बारे में जानने के लिए इजराइल गए थे। उन्होंने किसानी के लिए एक सामान्य सपना साझा किया जो टिकाऊ कृषि प्रणाली के साथ खेती करना चाहते थे जिससे आसपास दूसरों के लिए ये दोनों एक रोल मॉडल बनें।

यह भी पढ़े :- गाँव वापस लौटकर प्रवासी मजदूरों ने शुरू किया जड़ी बूटी की खेती, लगभग 70 परिवार कमा रहे हैं 40 हज़ार तक महीना

किया खेती की शुरुआत

इजरायल में एक साल रुकने के बाद वे 2019 के अंत में वियतनाम वापस आए। फिर वे उन खेतों की यात्रा करने लगे जिनमें जैविक खेती की जाती है। वे दोनों किसानों से मिले और उनकी प्रथाओं के बारे में बहुत कुछ सीखा भी। फिर उन्होंने यह निष्कर्ष निकाला कि खेती का सबसे अच्छा तरीका है कि हमे खुद खेती अपने जमीन पर करनी चाहिए तब इससे हम बहुत कुछ सीख सकतें हैं। उन्होनें जनवरी 2020 में खुद अपनी खेती की शुरुआत की।

उगातें हैं औषधि और सब्जी

डीयू और एमआई ने अपने खेत का नाम “मेरोन फार्म – मेडिसिनल फार्म – कृषि फॉर हेल्थ” रखा है। उनकी जमीन लगभग 6000 वर्ग मीटर है। वह औषधीय पौधे उगाते हैं, और अब उनके खेतों में 20 प्रकार से भी अधिक पौधे हैं जैसे हिबिस्कस रोसेल, तितली मटर, अदरक, कई प्रकार के टकसाल, दौनी, थाइम, जिनसेंग, ट्यूमरिक आदि। इतना ही नहीं वे अपने भोजन के लिए मौसमी सब्जियां भी उगाते हैं।

Du and Mi in field

वे औषधीय पौधों की कटाई का उत्पाद बेचने के लिए और उत्पाद बनाने के लिए करते हैं। वे अपने खेत को और विकसित करने और अधिक उत्पादों के लिए अनुसंधान करना जारी रखे हुए हैं। वे किसानों को आकांक्षी बनाने के लिए अपने कृषि मॉडल को दिखाते हैं ताकि वे टिकाऊ कृषि का अभ्यास कर सकें। ”

ड्यू और एमआई ने जिस तरह नौकरी छोड़कर कृषि को अपनाया है और सफल कृषि कर रहे हैं वे उन किसानों के लिए प्ररेणा हैं जो कृषि से विमुख हो रहे या जिन्हें लगता है कि कृषि में कुछ नहीं रखा है। The Logically ड्यू और एमआई के प्रयासों की खूब सराहना करता है।

Khusboo Pandey
Khushboo loves to read and write on different issues. She hails from rural Bihar and interacting with different girls on their basic problems. In pursuit of learning stories of mankind , she talks to different people and bring their stories to mainstream.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय