Wednesday, August 4, 2021

40 युवाओं की टीम कोरोना काल में कर रही है लोगों की मदद, पोस्टर द्वारा लोगों तक पहुंचने की होती है कोशिश: प्रयास

कोरोना वायरस के दौरान लोगों ने एक दूसरे की मदद करके एक दूसरे की परेशानियों को कम करने का हर संभव प्रयास किया है, जिसमें से आज एक टीम की कहानी हम आप लोगों के लिए लेकर आए हैं।

यह कहानी लड़कियों के युवा टीम की है, जो इस वैश्विक महामारी में लोगों की मदद करने में लगे हैं।

40 युवाओं की टीम कर रही है मदद

झारखंड (Jharkhand) के रांची (Ranchi) में 40 युवाओं की एक टीम आगे आई है, जो गरीब लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ा रही है। वे उन व्यक्तियों की मदद कर रहे हैं, जो कोरोना वायरस महामारी से परेशान हैं। वे घर का बना खाना और सूखा राशन लेकर हर दिन 200 से अधिक बेसहारा लोगों तक पहुंच रहे हैं।

Group of 40 people is serving cooked food, ration to over 200 poor amid Covid everyday

टीम का नेतृत्व कर रही प्रेरणा

इस टीम का नेतृत्व रांची की रहने वाली प्रेरणा (Prerna Kumari) कुमारी कर रही हैं, जिनकी आयु 23 वर्ष है। जब से राज्य ने COVID-19 की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाया गया है, तब से वे गरीबों की मदद करने का काम कर रही हैं।

विशालाक्षी फाउंडेशन के साथ मिलकर किया कार्य

जब उन्हें सोशल मीडिया के जरिए विशालक्षी फाउंडेशन’ (Vishalakshi Faundation) के बारे में पता चला तब उन्होंने उनके साथ मिलकर काम करना शुरू कर दिया। अब 40 में से 20 लड़कियों की एक टीम सक्रिय रूप से काम कर रही है और लोगों की मदद भी कर रही है।

यह भी पढ़ें :- क्रोएशिया द्वारा रेश्म और जड़ी से बुन रही हैं अपनी पहचान, महिलाओं के लिए आर्टिफिशियल ज्वैलरी बनाकर बनीं आत्मनिर्भर

गरीबों को बांटती हैं खाना

उन्होंने बताया कि शुरुआती दौर में उनके परिवार को छोड़कर कोई भी शुरू में उनका समर्थन करने के लिए आगे नहीं आया था लेकिन जल्द ही उनके प्रयासों को कई लोगों ने सराहा और जरूरतमंदों की मदद के लिए 40 से अधिक लोगों ने हाथ मिलाया। यह टीम घर पर खाना बनाती है और गरीबों में बांटती है।

Group of 40 people is serving cooked food, ration to over 200 poor amid Covid everyday

कुछ मेम्बर करते हैं पढ़ाई तो कुछ जॉब

इसके अलावा वे बेरोजगार लोगों को सूखा राशन भी उपलब्ध कराते हैं, जो लॉक डाउन के कारण घर पर ही रह रहे हैं। इस टीम के सदस्यों में से कई पढ़ाई कर रहे हैं फिर भी वे अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकालना सुनिश्चित करते हैं और जरूरतमंद लोगों की मदद करते हैं। वही हमारी प्रेरणा एक कॉर्पोरेट कंपनी में काम करती है। अब जो भी व्यक्ति इस कार्य में योगदान देना चाहते हैं, वे सोशल मीडिया पर टीम से संपर्क करते हैं। लोगों की मदद से जो धन एकत्रित होता है, उसका उपयोग कच्चे माल की खरीद के लिए किया जाता है।

टीम की सदस्य मानसी गोयल (Mansi goyal) ने मीडिया को बताया कि कैसे टीम पोस्टर लगाकर अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने की कोशिश करती हैं। ‘कोई भी व्यक्ति जो ऐसे किसी व्यक्ति जिसे भोजन या राशन की आवश्यकता होती है, वह हमसे संपर्क कर सकता है। इससे उन्हें लीड हासिल करने और सैकड़ों लोगों को फायदा पहुंचाने में मदद मिलती है।’