Sunday, October 24, 2021

किसान की बेटी ने पिता का नाम किया रोशन, बनी भारत की सबसे कम उम्र की कमर्शियल पायलट : Maitri Patel

आजकल एक किसान की बेटी काफी चर्चा में है और इसकी वजह यह है कि एक किसान की बेटी देश की सबसे कम उम्र की कमर्शियल पायलट (Youngest Commercial Pilot) बनी है। इस कारनामे से पूरा देश उसपर गर्व की अनुभूति कर रहा है।

कौन है वह बेटी जिसने देश का नाम रोशन किया?

सूरत, गुजरात (Gujarat) के शेरडी गांव के किसान कान्तिलाल पटेल की 19 वर्षीय बेटी मैत्री पटेल (Maitri Patel) ने आसमान तक उड़ान भर ली है। मैत्री भारत की सबसे कम उम्र की कमर्शियल पायलट (Youngest Commercial Pilot) बनी है।

Matri patel becomes youngest commercial pilot of india

बचपन से ही चाहती थी पायलट बनना

एक रिपोर्ट के अनुसार, मैत्री ने हवाईजहाज उड़ाने का प्रशिक्षण अमेरिका मे लिया। मैत्री का बचपन का ही सपना था कि वह पायलट बने और हवाईजहाज उड़ाए। मैत्री ने Metas Adventists School से इण्टरमीडिएट की शिक्षा पूरी करने के बाद पायलट बनने की ट्रेनिंग ली।

मैत्री के पिता एक किसान होने के साथ ही सूरत म्युनिसिपल कॉरपोरेशन में भी काम करते हैं। वे लोगों को मुम्बई एयरपोर्ट तक ले जाते थे, जहां उन्होंने कई हवाईजहाज को टेक ऑफ और लैंड होते देखा। उसी समय उन्होंने यह फैसला किया कि उनकी बेटी भी हवाईजहाज (Aeroplane) उड़ाएगी और विश्व का भ्रमण करेगी।

Matri patel becomes youngest commercial pilot of india

बेटी का प्रशिक्षण हो सके इसके लिए बेच दी पैतृक जमीन

मैत्री के पिता ने उन्हें अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा दिलाया। यहां तक कि उन्होंने अपनी बेटी की फ्लाइट ट्रेनिंग कोर्स की फीस के लिए पैतृक भूमि भी बेच दिया।

Matri patel becomes youngest commercial pilot of india

सिर्फ 12 माह मे ही पूरी कर ली ट्रेनिंग

सामान्य तौर पर पायलट की ट्रेनिंग 18 महिनों में पूरी होती है लेकिन मैत्री ने इसे 12 माह मे ही पूरा कर लिया। मैत्री पटेल (Maitri Patel) कहती हैं कि प्रशिक्षण पूरा होने के बाद मैंने कॉल करके अपने पिता को अमेरिका बुलाया और 3500 फुट की उंचाई पर उड़ान भरी। वह आगे कहती हैं कि जिंदगी का यह फल किसी सपने के पूरा होने जैसा था।

मैत्री Boeing हवाईजहाज उड़ाना चाहती है और इसके लिए वह शीघ्र ही ट्रेनिंग शुरु करेंगी।