Saturday, July 31, 2021

एक छोटे पद से गूगल के सीईओ बनने तक का प्रेरणादायी सफर : प्रेरणा

जब कुछ कर गुजरने का जज्बा और उसके अनुरूप प्रयास हों तो सफलता आपके कदमों में होती है ! आज बात अपनी काबिलियत से सफलता का परचम लहराने वाले सुंदर पिचाई की जिन्होंने दुनिया की बड़ी इंटरनेट सर्च इंजन गूगल का सीईओ बनकर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया ! सफलता हमेशा हीं प्रेरणाप्रद होती है ! सफलता के शिखर पर विराजमान सुन्दर पिचाई आज दुनिया के करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणा हैं ! आईए जानें उनके बारे में…

संघर्षशील शुरूआती जीवन

सुन्दर पिचाई का जन्म 1972 में चेन्नई में हुआ था ! इनका पूरा नाम पिचाई सुंदराजन है ! सुंदर जवाहर नवोदय विद्यालय , चेन्नई से दसवीं और वना वाणी स्कूल, चेन्नई से बारहवीं की पढाई पूरी की ! इसके बाद सुंदर पिचाई ने आईआईटी , खड़गपुर से मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग की पढाई पूरी की ! पिचाई कहते हैं कि उसके बाद वो स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढाई करने हेतु अमेरिका जाना चाहते थे लेकिन उनके सामने उनकी आर्थिक कमजोरी बाधा बनकर सामने खड़ी थी पर उनके पिता ने अपनी एक साल की आमदनी के बराबर पैसे से मेरे अमेरिका जाने का इंतजाम किया ताकि मैं स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढाई कर सकूँ ! वहाँ से एमएस कर मैं पेन्सिलवेनिया यूनिवर्सिटी से एमबीए की डिग्री हासिल की” ! आर्थिक समस्या के कारण सुन्दर पिचाई 1995 में स्टेनफोर्ड में बतौर पेइंग गेस्ट रहते थे ! पैसे बचाने के लिए इन्होंने कई पुरानी चीजों का भी इस्तेमाल किया पर पढाई के प्रति अडिग रहे !

Photo source -Enternet

सफलता की लिखी इबारत

पढाई करने बाद 2004 में इन्होंने गूगल में नौकरी शुरू की ! शुरूआत में सुन्दर पिचाई एक छोटी सी टीम के साथ काम करने लगे और वे गूगल के उत्पाद गूगल क्रोम , क्रोम ओएस आदि को सँभालते रहे ! उसके बाद जीमेल और गूगल मैप्स जैसे प्रयोगों के विकास में योगदान दिया साथ हीं गूगल के कई और उत्पाद पर काम किया ! इन्हें गूगल ड्राइव के कार्य में भी शामिल किया गया ! सुन्दर अपने सभी कार्य बहुत हीं संजीदगी और काबिलियत से निभाते जा रहे थे ! 2009 में क्रोम ओएस और क्रोमबूक का जाँच किया जिसे इन्होंने 2010 में सार्वजनिक किया ! सुंदर पिचाई 13 मार्च 2013 को एंड्रोइड कार्यक्रम से जुड़े ! एंड्रॉइड की बेहतरीन सफलता ने सुन्दर पिचाई को गूगल के शीर्ष पर पहुँचा दिया ! 2011 में पिचाई गूगल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट बने और फिर पिचाई 2015 में गूगल के सीईओ बने ! इसके बाद 2019 में वे अल्फाबेट कम्पनी के भी सीईओ बनाए गए ! वे दुनिया के सभी सीईओ में से सबसे अधिक सैलरी पाने वाले सीईओ हैं ! किसी बड़ी कम्पनी में छोटे पद से शुरूआत कर उसी कम्पनी में सबसे शीर्ष पद पहुँचना उनके अंदर निहित काबिलियत के भंडार को प्रदर्शित करता है !

सुंदर पिचाई की प्रेरक बातें

अपनी सफलता से करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणा बने सुन्दर पिचाई कुछ सकारात्मक व सीख देने वाली बात साझा की है जिसमें वे कहते हैं “अधीरता को कभी खत्म नहीं होने देना चाहिए , इसी से दुनिया में अगली क्रांति आएगी ! इससे आप वह सब कर सकेंगे जिसे हमारी जेनेरेशन सोंच भी नहीं सकती हैं” ! पिचाई कहते हैं “जलवायु परिवर्तन के लेकर हमारी जेनेरेशन के काम-काजों और उठाए कदमों से आप हताश हो सकते हैं इससे आप बेचैन ना होकर काम करते रहें , इससे आप उस स्थिति में पहुँच जाएँगे जिसकी दुनिया को जरूरत है” ! “हमारा इतिहास हमें आशावादी बने रहने की सीख देता है और हमें किसी भी परिस्थिति में संयम कायम रख उम्मीद बनाए रखने को कहता है” !

Logically सुंदर पिचाई जी के जीवन संघर्ष और सफलता को सलाम करता है !