Monday, November 30, 2020

15 राज्यों में साइकिल से यात्रा कर पर्यावरण संरक्षण का अलख जगाते रहे और साथ ही लगाए 87 हज़ार पौधे

दुनिया मे अगर कोई आपके लिए कुछ करता है तो वह आपसे भी उसके बदले कुछ पाने की उम्मीद रखता है। लेकिन बात अगर पेड़ कि हो, आप कोई पेड़ लगाते हैं तो एक पेड़ ही है जो बिना निःस्वार्थ और निश्चल भाव से आपको आजीवन फल, छाया, और ऑक्सीजन प्रदान करता है। एक बार अगर कोई ठान ले कि हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए आगे बढ़ना है तो उसके द्वारा उठाये इस अनुकरणीय पहल विश्व के हर प्राणी को लाभ मिलता है।

35 वर्षीय नरपतसिंह राजपुरोहित जो राजस्थान के बाड़मेर से संबंध रखते हैं, इन्होंने पर्यावरण संरक्षण के  बारे मे सबको जागरूक करने के लिए अलग-अलग देशों मे साइकिल यात्रा किया है। इनका सबके लिए एक ही संदेश है “अधिक-से-अधिक मात्रा में पेड़ लगाओ और पूरे देश को हरियाली की चुनर ओढ़ाओ”।

यह भी पढ़े :-

साईकिल से घूम-घूम कर लगाए करोड़ों पेड़, मिल चुका है पद्मश्री सम्मान।


400 दिनों तक किया साइकिल यात्रा

Narpat Singh Rajpurohit प्रतिदिन सबको 2 पौधे लगाने की सलाह देते हैं। इन्होंने 2019 मे जम्मू-कश्मीर से पर्यावरण संरक्षण के लिए साईकिल यात्रा से संपूर्ण देश को अपना संदेश पहुंचाया। Narpat Singh Rajpurohit 400 दिनों मे लगभग 22000 किमी साईकिल यात्रा कर पौधे लगाते रहें। इस कारण इन्होंने कठिन डगर को आसानी से पार कर पर्यावरण संरक्षण की श्रेणि मे अपना नाम दर्ज करा लिया है।

पैर ग़ंभीर रूप से घायल हुआ फिर भी अपने रास्ते पर अडिग रहें

नरपत ने पर्यावरण संरक्षण मुहिम की शुरुआत 2005 मे किया। युवा वस्था मे पढ़ाई के दौरान ये वनस्पति विज्ञान मे खूब रुचि रखते थे। अक्सर वह पेड़-पौधों के बारे मे अपने कक्षा मे दोस्तों से चर्चा किया करते थे। कुछ दिनों बाद एक हादसे में इनके पैर में चोट लगी, इसके बावजूद भी इन्होंने खुद को संभाला और साईकिल यात्रा के दौरान 20 से अधिक राज्यों मे भ्रमण कर वृक्षारोपन कर पर्यावरण के प्रति सबको जागरूक किये हैं।

बहन की शादी हुई जिसमे वर पक्ष को 25 पौधे भेंट स्वरूप में दिये

Narpat Singh Rajpurohit लगभग 6 वर्षों मे 83 हजार से अधिक पौधा लगा चुकें हैं। जब इनकी बहन की शादी तब इन्होंने दहेज प्रथा के खिलाफ जाकर 251 पौधें बहन के ससुराल वालों को भेंट स्वरूप दिये है। नरपत का नाम “गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड” में नामांकित है। इन्हे ” वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ़ लंदन” लंदन का पुरस्कार भी मिला है।

नरपत सिंह ने पर्यावरण संरक्षण के लिए जो कार्य किया है वह काबिले तारीफ़ है। इसके लिए The Logically इन्हें सलाम करता है।

Logically is bringing positive stories of social heroes working for betterment of the society. It aims to create a positive world through positive stories.

Khusboo Pandey
Khushboo loves to read and write on different issues. She hails from rural Bihar and interacting with different girls on their basic problems. In pursuit of learning stories of mankind , she talks to different people and bring their stories to mainstream.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय

500 गमले और 40 तरह के पौधे, इस तरह यह परिवार अपने छत को फार्म में बदल दिया: आप भी सीखें

आजकल बहुत सारे लोग किचन गार्डनिंग, गार्डनिंग और टेरेस गार्डनिंग को अपना शौक बना रहे हैं। सभी की कोशिश हो रही है कि वह...

MS Dhoni क्रिकेट के बाद अब फार्मिंग पर दे रहे हैं ध्यान, दूध और टमाटर का कर रहे हैं बिज़नेस

आजकल सभी व्यक्ति खेती की तरफ अग्रसर हो रहें हैं। चाहे वह बड़ी नौकरी करने वाला इंसान हो, कोई उद्योगपति या फिर महिलाएं। आज...

इस दसवीं पास ने ट्रैक्टर से लेकर पावर ग्लाइडर तक बना डाले, पिछले 2 दशक में 10 अविष्कार कर चुके हैं

अगर आपमे कुछ करने की चाहत हो तो फिर आपको किसी डिग्री की ज़रूरत नही होती। डिग्री आपको सिर्फ किताबी ज्ञान दे सकती है...

थाईलैंड अमरूद, ड्रैगन फ्रूट जैसे दुर्लभ फलों की प्रजाति को ब्रम्हदेव अपने छत पर ही उगाते हैं: आप भी जानें तरीका

आज के समय मे सबकी जीवनशैली इतनी व्यस्त हैं कि हम चाह के भी अपना मनपसंद का काम नही कर पा रहे हैं या...