ट्वीट कर गरीब छात्र ने मांगी मदद, सोनू सूद ने इंजीनियरिंग कॉलेज में कराया एडमिशन: पेश किया मानवता का मिशाल

563
Sonu sood helps poor students to get in engineering

सोनू सूद किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। उनकी दरियादिली से हर शख्स वाकिफ है। जिस तरह उन्होंने कोरोना महामारी में लोगों की मदद की है उसकी जितनी तारीफ की जाए वह कम है। उन्हें उनके कार्यों के लिए सम्मानित भी किया गया है। एक बार फिर उन्होंने अपनी दरियादिली दिखाई है। इस बार उन्होंने यूपी के देवरिया जिले के एक लड़के का नामांकन इंजीनियरिंग कॉलेज में करवाया है। वह कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते थे लेकिन उनकी आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वह तैयारी कर सकें। फिर उन्होंने सोनू सूद को ट्वीट कर अपने सपने के बारे में बताया। सोनू सूद ने ट्वीट कर रिप्लाई देकर उनके सपने को पूरा करने के लिए उनका दाखिला इंजीनियरिंग कॉलेज में करवाया।

सूर्यप्रकाश यादव

सूर्य प्रकाश यादव (Surya Prakash Yadav) देवरिया (Deoria) जिले के रक्सा गांव के निवासी हैं। उनके पिता दिवंगत परमेश्वर यादव (Parmeshwar Yadav) और मां आशा (Aasha) कार्यकर्ता हैं। सूर्य प्रकाश कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते थे। लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी मजबूत नहीं है कि वह उन्हें इंजीनियरिंग की पढ़ाई करा सकें। इस दौरान गरीबों के मसीहा कहे जाने वाले सोनू सूद (Sonu Sood) की मदद मिली और उनका दाखिला इंजीनियरिंग कॉलेज में हुआ।

Sonu sood helps poor students to get in engineering

इंजीनियरिंग कॉलेज में हुआ नामांकन

छात्र सूर्य प्रकाश यादव ने यह जानकारी दिया कि उन्होंने सोनू सूद को ट्वीट करके अपने सपने के बारे में बताया और इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला करवाने की मदद मांगी। इस बात का रिप्लाई सोनू सूद ने बहुत ही जल्दी दी और फिर “टि्वटर हैंडल” से छात्र सूर्य प्रकाश का संपर्क नंबर लेकर उनसे बातें की। फिर उन्होंने सूर्यप्रकाश को बुलाकर उनका एडमिशन पंजाब के इंजीनियरिंग कॉलेज में कराया। उन्होंने सिर्फ एडमिशन ही नहीं कराया बल्कि उनके हॉस्टल का फीस भी अपने जिम्मे लिया।

यह भी पढ़े :- गांव में ऑनलाइन क्लास के लिए नेटवर्क नही था, बच्चों के कहने पर सोनू सूद ने टावर लगवा दिया

ट्वीट में दिया रिप्लाई “मम्मी को बोलना तेरा बेटा बनेगा इंजीनियर”

छात्र ने यह जानकारी दिया कि सोनू सूद ने उन्हें मन लगाकर पढ़ने और मां के सपने को पूरा करने की बारे में कहा। उन्होंने 23 सितंबर को सोनू सूद से ट्विटर के माध्यम से मदद मांगी और 5 अक्टूबर को हीं सोनू सूद ने उन्हें रिप्लाई देते हुए कहा कि “मम्मी को बोल देना तेरा बेटा इंजीनियर बन रहा है”।

जिस तरह सोनू सूद सभी की मदद कर रहें हैं वह काबिल-ए-तारीफ है। The Logically सोनू सूद के कार्यों को सलाम करता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here