Saturday, July 31, 2021

अपनी निज़ी जिंदगी से समय निकालकर, समाज व पर्यावरण को खूबसूरत बनाने में जुटे हुए हैं ‘उन्नयन’ के दर्जनभर लोग

कभी साथ – साथ पढ़ने व प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिए ग्रुप डिस्कशन में शामिल होने वाले चार- पांच मित्र संयोगवश काफी दिनों बाद जब एक साथ मिले तो चल पड़ी अपने सामाजिक जिम्मेदारियों को निभाने की बात । सबने एक स्वर से स्वीकार किया कि नौकरी मिलने के बाद से वे अब उतने सामाजिक नहीं रहे जितने पहले हुआ करते थे। बात-बात में समाज के लिए कुछ करने के विषय पर चर्चा हो चली एवं वही तय हुआ कि सब लोग मिलकर अपने अपने सामाजिक दायित्वों को जरूर निभाएंगे । तय हुआ कि पर्यावरण संरक्षण संवर्धन के लिए पौधारोपण के साथ-साथ समाज की नई पौध को भी उचित मार्गदर्शन का कार्यक्रम शुरू किया जाए। यही नींव पड़ीउन्नयन की जहां से शिक्षा, समाज सेवा एवं पर्यावरण संरक्षण- संवर्धन के लिए शुरू में उठाए गए कदम आज भी उसी जोश- खरोश से चल रहे हैं और समाज को नई दिशा दे रहे हैं।

‘उन्नयन’ अहर्निश सेवाभाव का जज़्बा लिए दर्जन भर लोगों का एक ऐसा समूह है जो शिक्षा, पर्यावरण एवं समाजसेवा के क्षेत्र में निरंतर सेवा भाव से लगा हुआ है। इस समूह ने गांव – देहात के बच्चों को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी, ज़रूरतमंदों की मदद के साथ-साथ पिछले दो वर्षों में 15 हज़ार पौधों रोपण का कार्य भी किया है। स्कूली बच्चों के माध्यम से पौधा रोपण के साथ-साथ इस समूह ने सभी प्रकार के सामाजिक, धार्मिक आयोजनों को भी पौधा रोपण से जोड़ने के सार्थक पहल में सफलता पाई है।

मुजफ्फरपुर जिला के मुरौल प्रखंड के अन्तर्गत कार्यरत इस समूह ने जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जा-जा कर लोगों को पौधा रोपण से जोड़ने का काम किया है। इसका प्रतिफलन यह हुआ कि अब सभी लोग शादी-विवाह, श्राद्ध, पूजा आदि अवसरों पर पौधा रोपण या पौधा वितरण को आयोजन के अभिन्न अंग के रूप में शामिल करते जा रहें हैं।

यह भी पढ़े :-

खुद से 35 लाख रुपये खर्च कर बिहार के इन युवाओं ने लगा दिए 5 लाख से भी अधिक पौधे:मिशन हरियाली नूरसराय

नवंबर 2018 से कार्यरत ‘उन्नयन’ में समान विचारधारा वाले दर्जन भर लोग हैं जो अपने सरकारी सेवा के साथ-साथ पर्यावरण एवं समाजसेवा के लिए प्रयासरत है। इस समूह के सदस्य रेलवे गार्ड राजीव रंजन के शादी के रिसेप्शन एवं समूह के अधिकांश सदस्यों के गुरु स्व० सत्य नारयण साहनी के श्राद्ध कार्यक्रम में पौधा वितरण कर इस इलाक़े में नई परंपरा की शुरुआत की गई जिसे अब काफ़ी लोग अपना रहें हैं।

इस समूह के संयोजक ब्रजेश कुमार रेलवे में गार्ड हैं जो हमेशा अपने साथ कुछ पौधा रखते हैं एवं ड्यूटी से ज्योही समय एवं उचित स्थान मिलता है, पौधा रोपण कर देते हैं। राजेश, देवेन्द्र, आशुतोष, राकेश अध्यापक हैं। समूह के नर्सरी की देखभाल करने वाले सुरेश शिक्षा विभाग के मुलाजिम हैं। मिशन हरियाली नूरसराय के पैटर्न पर इसे क्रियान्वित करने के लिए प्रेरित करने वाले लालबाबू सिंह, बिहार सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में सहायक निदेशक हैं। इसी तरह रेलवे एवं अन्य जगहों पर कार्यरत कई और लोग भी हैं जो इस मुहिम में अनवरत लगे हुए हैं।